Report Times
latestOtherकार्रवाईक्राइमटॉप न्यूज़ताजा खबरेंदिल्लीधर्म-कर्म

दिल्ली में भी दुमका जैसा कांड, दोस्ती से इनकार पर अमानत अली ने 16 साल की लड़की को मारी गोली

REPORT TIMES

Advertisement

झारखंड के दुमका में अंकिता की हत्या को लेकर उपजे आक्रोश के बीच दिल्ली में भी इसी तरह की वारदात सामने आई है। यहां संगम विहार इलाके में एकतरफा प्यार में अमानत अली नाम के एक शख्स ने 11वीं क्लास में पढ़ने वाली छात्रा को गोली मार दी। गनीमत है कि उसकी जान बच गई है। मामला 25 अगस्त का है। पुलिस ने अब अरमान अली को गिरफ्तार कर लिया है। घटना में दौरान उसके साथ रहे पवन और बॉबी को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है।

Advertisement

पुलिस ने बताया है कि हत्या की कोशिश में 16 साल की लड़की को गोली मारकर भागे अरमान अली को गिरफ्तार कर लिया गया है। 19 साल का अरमान मूल रूप से मेरठ के मवाना का रहने वाला है। गिरफ्तारी के बाद उसने पुलिस को बताया कि सोशल मीडिया के जरिए उसकी लड़की से दोस्ती हुई थी। लेकिन कुछ समय पहले उसने बातचीत बंद कर दी, जिससे वह गुस्से में था और उसकी हत्या कर देना चाहता था। उसने घटना को अंजाम देने के लिए अपने साथ बॉबी और पवन को साथ लिया था।

Advertisement

Advertisement

स्कूल से लौटते समय मारी गोली
संगम विहार इलाके में एकतरफा प्यार में अमानत अली ने अपने ही मोहल्ले में रहने वाली एक 11वीं कक्षा की छात्रा को गोली मार दी। वारदात के समय पीड़ित छात्रा अपने स्कूल से घर लौट रही थी। आरोपी ने छात्रा को पीछे से गोली मारी और फरार हो गया। छात्रा के कंधे से नीचे और पीठ से ऊपर लगी है। छात्रा को बत्रा अस्पताल में भर्ती कराया गया है। परिजनों का यह भी आरोप है कि अली छात्रा को पिछले एक साल से परेशान कर रहा था। वह स्कूल आते-जाते पीछा करता था।

Advertisement

गली में गोली मारकर हुए फरार
छात्रा अपने परिवार के साथ संगम विहार ई-ब्लॉक में रहती है। वह अपने भाई के साथ कैम्बरीज इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ती है और 11वीं कक्षा की छात्रा है। 25 अगस्त को दोपहर में वह मां और छोटे भाई के साथ स्कूल से लौट रही थी। मां छात्रा को स्कूल लेने गई थी। छात्रा जब बी-ब्लॉक में मकान नंबर 15 के सामने पहुंची तो तभी अली अपने दोस्त के साथ पैदल आया और लड़की को पीछे से गोली मार दी। छात्रा वहीं बेहोश होकर गिर गई। आरोपी युवक कुछ दूरी पर खड़ी मोटरसाइकिल से फरार हो गए।

Advertisement

आरोपी एक साल से कर रहा था परेशान
छात्रा के पिता ने बताया कि उसकी बेटी को मोहल्ले में रहने वाला अमानत अली नाम का युवक एक साल से परेशान कर रहा था। उसकी बेटी ने फेसबुक पर उसकी दोस्त के अनुरोध को स्वीकार कर लिया था। वह तभी से परेशान कर रहा था। उन्होंने बताया कि उन्हें दो महीने पहले ही पता लगा था। इसकी जानकारी बीट अफसर को दी थी। इसके  बाद आरोपी युवक अली गायब हो गया था। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

Advertisement

शिकायत पर भी पुलिस ने नहीं की थी कार्रवाई
छात्रा ने बताया कि फायरिंग करने वाले आरोपियों में से अरमान अली को वह पहले से जानती थी। वह इंटरनेट मीडिया के माध्यम से पिछले दो सालों से अरमान अली के संपर्क में थी। पिछले चार-पांच महीनों से छात्रा ने उससे बात करना बंद कर दिया था। इस बात से खफा आरोपी अरमान अली ने उनका पीछा करना शुरू कर दिया था और अक्सर उनका रास्ता रोकने लगा था। छात्रा के चाचा ने बताया कि जून के अंतिम सप्ताह में इस बाबत पुलिस से आरोपी की शिकायत भी की गई थी, लेकिन पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। इसके चलते आरोपी अरमान अली का हौसला बढ़ता चला गया और उसने छात्रा को गोली मार दी। अगर पुलिस समय पर कार्रवाई करती तो आरोपी पीड़िता को गोली मारने के बारे में कभी सोच भी नहीं पाता।

Advertisement
Advertisement

Related posts

चिड़ावा : जोशियों के मंदिर में विराजे हैं द्वारिकाधीश व शिव

Report Times

बिना इजाज़त मेला लगाने पर दर्ज होगी एफआईआर, पंजाब सरकार का फरमान

Report Times

जायरा वसीम भी हिजाब विवाद में कूदीं, पोस्ट में लिखा…

Report Times

Leave a Comment