Report Times
latestOtherटॉप न्यूज़ताजा खबरेंमेडीकल - हैल्थराजस्थानस्पेशल

रास्ते में खत्म हुआ एंबुलेंस का डीजल, 3 घंटे तक ड्राइवर ने नहीं ली सुध; मरीज की मौत

REPORT TIMES 

Advertisement

राजस्थान के बांसवाड़ा जिले में 108 जीवन वाहिनी की लापरवाही से एक मरीज की तड़प-तड़पकर मौत हो गई. दरअसल, मरीज को लेकर जा रही एंबुलेंस का रास्ते में डीजल खत्म हो गया. ड्राइवर ने मरीज के परिजनों को 500 रुपए देकर डीजल लाने के लिए भेजा. परिजन बांसवाड़ा से डीजल लेकर वापस आए. डीजल डालने के बाद भी एंबुलेंस स्टार्ट नहीं हुई. इस पर ड्राइवर ने मरीज के परिनजों ने धक्का लगवाया. फिर भी एबुलेंस स्टार्ट नहीं हुई. बाद में पहुंची दूसरी एंबुलेंस ने मरीज को अस्तपाल पहुंचाया, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी.

Advertisement

दरअसल, मामला दानपुर थाना क्षेत्र के घोड़ी तेजपुर के भानपुर गांव का है. तेजपाल ने अपनी बेटी की शादी भानपुर गांव में की थी. वह अपनी बेटी से मिलने बीते शुक्रवार को भानपुर आए हुए थे, लेकिन अचानक तेजपाल की तबीयत बिगड़ गई. बेटी के ससुरालवालों ने 108 जीवन वाहिनी पर फोन किया, लेकिन एंबुलेंस करीब एक घंटे देरी से पहुंची. एंबुलेंस तेजपाल को लेकर बांसवाड़ा आ रही थी, लेकिन बीच रास्ते में ही एंबुलेंस का डीजल खत्म हो गया.

Advertisement

Advertisement

परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप

Advertisement

इस पर एंबुलेंस के ड्राइवर ने तेजपाल के परिजनों को 500 रुपए देकर डीजल लाने के लिए भेजा. परिजन बांसवाड़ा से डीजल लेकर वापस एंबुलेंस के पास पहुंचे, लेकिन डीजल डालने के बाद भी एंबुलेंस स्टार्ट नहीं हुई. इस पर ड्राइवर ने परिनजों से धक्का मरवाया, फिर भी एंबुलेंस स्टार्ट नहीं हुई. ड्राइवर ने दूसरी एंबुलेंस को फोन को मौके पर बुलाया. मौके पर पहुंची दूसरी एंबुलेंस ने तेजपाल को अस्पताल पहुंचाया, लेकिन तब तक उस मौत हो चुकी थी.

Advertisement

बेटी और दामाद से मिलने आया था बांसवाड़ा

Advertisement

मरीज की मौत से गुस्साए परिजनों ने 108 जीवन वाहिनी पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए नाराजगी जाहिर की. परिजनों ने कहा कि अगर ड्राइवर ने पहले ही दूसरी एंबुलेंस बुला ली होती तो शायद मरीज की जान बच जाती है, लेकिन ड्राइवर तीन घंटे तक इधर-उधर टहलाता रहा. मृतक तेजपाल प्रतापगढ़ जिले के सूरजपुर गांव का रहने वाला था. तेजपाल अपनी बेटी और दामाद से मिलने भानपुर गांव आया था. बेटी को यह बोलकर घर से बाहर निकला था को थोड़ा इधर-उधर घूमकर आता हूं, लेकिन घर से बाहर निकलते ही तेजपाल अचानक बेहोश हो गया.

Advertisement

 

Advertisement
Advertisement

Related posts

आखिरकार राजस्थान में भजनलाल सरकार ने ‘चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना’ का नाम बदलकर रखा ‘मुख्यमंत्री आयुष्मान आरोग्य योजना’

Report Times

Multibagger Stocks: ₹15 वाला स्टॉक दस साल में पहुंच गया ₹3900 के पार, जानें तुफानी तेजी पर एक्सपर्ट की राय

Report Times

ACB Big Action राजस्थान के बाड़मेर में ACB का बड़ा एक्शन, ग्राम विकास अधिकारी और ई मित्र संचालक को 12 हजार रुपए घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

Report Times

Leave a Comment