Report Times
latestOtherजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंमेडीकल - हैल्थराजनीतिराजस्थानस्पेशल

राजस्थान में बंद होगी चिरंजीव योजना! चिकित्सा मंत्री बोले- यमराज को धमकाकर रखूंगा

REPORT TIMES

Advertisement

राजस्थान में नवगठित सरकार अब एक्शन मूड में है. इसी के साथ राज्य में विभिन्न योजनाओं के नाम बदलने या उन्हें बंद कर नई योजना शुरू करने की दिशा में भी काम शुरू हो गया है. इसमें सबसे पहले बहुचर्चित चिरंजीव योजना पर गाज गिरने की संभावना है. इसके संकेत भी राज्य के चिकित्सा मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर ने दे दिए हैं. उन्होंने इस योजना को थोथा ढोल बताया है. इसी के साथ उन्होंने प्रधानमंत्री की आयुष्मान योजना के कसीदे गढ़े हैं. मंत्री बनने के बाद पहली बार जोधपुर पहुंचे गजेंद्र सिंह खींवसर ने यहां अपने सम्मान और स्वागत समारोह में बोल रहे थे. उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि वह पांच बार विधानसभा चुनाव में उतरे और जनता ने चार बाद उन्हें सेवा का मौका दिया. तीन बार तो वह मंत्री भी रहे हैं. चिकित्सा विभाग के रूप में इस बार उन्हें बेहद महत्वपूर्ण विभाग मिला है. अब यह उनकी जिम्मेदारी है कि वह विभाग को चमकाकर रखें. इसके लिए उन्हें यमराज को भी धमकाकर रखना होगा, ताकि वह किसी का जान ना ले सकें.

Advertisement

Advertisement

चिरंजीव योजना को बताया थोथा ढोल

Advertisement

उन्होंने कहा कि राज्य के अस्पतालों की हालत बहुत खराब है. प्रधानमंत्री मोदी का कहना है कि जान है तो जहान हैं. इसलिए राज्य के सभी अस्पतालों की सेहत सुधारने की दिशा में काम शुरू कर दिया गया है. इसी क्रम में 10 हजार नए कर्मचारियों की भर्ती की प्रक्रिया शुरू की गई है. कारण यह है कि जब कमर्चारी नहीं होंगे तो अच्छी सेवा नहीं हो सकती. उन्होंने कहा कि चिरंजीव योजना एक थोथा ढोल था. इसमें कहा तो गया था कि 25 लाख रुपये तक का इलाज फ्री होगा, लेकिन आज तक किसी को भी 8 लाख रुपये से अधिक का लाभ नहीं मिला.

Advertisement

आयुष्मान योजना के कसीदे गढ़े

Advertisement

उन्होंने कहा कि राज्य में आयुष्मान योजना की सुविधा दी जाएगी. इससे मरीजों का संपूर्ण इलाज हो सकेगा. इसका पूरा खर्च सरकार उठाएगी. मंत्री खींवसर के इस बयान के बाद आशंका जताई जाने लगी है कि बहुत जल्द चिरंजीव योजना को बंद किया जा सकता है. बता दें कि सरकार जाने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भजनलाल सरकार से इस योजना को जारी रखने का अनुरोध किया था. चूंकि यह उनकी महत्वाकांक्षी योजना थी, इसलिए उन्होंने आग्रह किया था कि यह जनता कल्याणकारी योजना है, इसे बंद ना किया जाए. उधर, भजनलाल सरकार ने भी भरोसा दिया था कि कोई भी कल्याणकारी योजना बंद नहीं होगी.

Advertisement
Advertisement

Related posts

राजस्थान में चरम पर पहुंची ठंड, 22 जिलों में शीतलहर; 19 जनवरी के बाद मिल सकती है राहत

Report Times

दिल्ली : मोदी सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला

Report Times

खरगोन एमपी। शीतलामाता मंदिर पर पथराव मामले में 13 लोगों को 2 लाख तक क्षतिपूर्ति के आदेश।

Report Times

Leave a Comment