Report Times
GENERAL NEWSटॉप न्यूज़ताजा खबरेंस्वास्थ्य-और-फिटनेस

आयोध्या में सूर्य की किरणें श्रीराम लला का 4 मिनट तक करेंगी राजतिलक, सारी तैयारियां हुईं पूरी

Reporttimes.in

Advertisement

श्रीराम लला (Ram lala) का सूर्य किरणों से मस्तकाभिषेक की सारी तैयारी पूरी कर ली गई है. कई बार के ट्रायल के बाद जो समय निश्चित किया गया है वह दोपहर 12 : 15 मिनट का है. मंदिर व्यवस्था से जुड़े लोग इसे विज्ञान और अध्यात्म का समन्वय मानते हैं. दरअसल, वैज्ञानिकों ने बीते करीब बीस वर्षों की पृथ्वी की गति के हिसाब से अयोध्या के आकाश में सूर्य की सटीक दिशा आदि का निर्धारण करके ऊपरी तल पर मिरर स्थापित करने की जगह और कोण तय किया.

Advertisement

कुछ अलग करने की सोच का ही परिणाम है कि लंबे विमर्श के बाद रुड़की की सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च संस्थान (Rudki Central Building Research Institute) के वैज्ञानिकों ने सूर्य तिलक की व्यवस्था करने का बीड़ा उठाया. सूर्य रश्मियों को घुमा फिराकर राम लला के ललाट तक पहुंचाने में कहीं भी बिजली का प्रयोग नहीं किया गया है.आप्टोमैकेनिकल सिस्टम के तहत उच्च गुणवत्ता वाले दर्पण और लेंस के साथ पीतल की वर्टिकल पाइपिंग की व्यवस्था की गई.

Advertisement

सूर्य की किरणें ऊपरी तल के मिरर पर पड़ेंगी, उसके बाद तीन लेंस से होती हुई दूसरे तल के मिरर पर आपतित होंगी. अंत में सूर्य की किरणें राम लला के ललाट पर 75 मिलीमीटर के टीके के रूप में दीप्तिमान होंगी और लगभग 4 मिनट तक टिकी रहेंगी. यह समय भी पृथ्वी की गति के दृष्टिगत सूर्य की दिशा पर निर्भर है. मंदिर की व्यवस्था से जुड़े लोग सूर्य तिलक के ट्रायल की सफलता से आह्लादित हैं और इसे विज्ञान एवं अध्यात्म का समन्वय मानते हैं.

Advertisement
Advertisement

Related posts

नगरपालिका कार्यालय एवं नेहरू पार्क में लगाए परिंडे, पानी भरने का लिया संकल्प

Report Times

‘The Kerala Story’ पर पश्चिम बंगाल में रोक, बैन के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे मेकर्स

Report Times

यूक्रेन में बिगड़ती मानवाधिकार की स्थिति पर भारत ने जताई चिंता

Report Times

Leave a Comment