Report Times
latestOtherकरियरकार्रवाईकोटाक्राइमगिरफ्तारटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजस्थानस्पेशल

कोटा पुलिस की बड़ी कार्रवाई : इंडियन कोस्ट गार्ड पेपर में नकल कराने वाले गिरोह के छह आरोपी गिरफ्तार, 10 से 15 लाख रुपए में करते थे सौदा, रिमोट एक्सेस के माध्यम से करवाते थे पेपर सॉल्व

REPORT TIMES

Advertisement

जयपुर/कोटा। कोटा जिले की विज्ञान नगर थाना पुलिस एवं एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स ने बड़ी कार्रवाई करते हुए इंडियन कोस्ट गार्ड के पेपर CGEPT- 2/2024 में नकल करवाने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर छह आरोपियों को गिरफ्तार कर मोबाइल व एक क्रेटा कार जब्त की है। मोबाइल में परीक्षा के एडमिट कार्ड व प्रश्न पत्र की सामग्री पाई गई है। एसपी डॉ अमृता दुहन ने बताया कि आरोपी अशोक जाट पुत्र रामसिंह (38) निवासी बांगड़वा थाना हम्मीरवास चुरु, संदीप बुडालिया पुत्र रामचन्द्र जाट (29) निवासी बरालू थाना लोहारु जिला भिवानी हरियाणा, प्रतीक गजराज पुत्र कर्मवीर जाट (24) निवासी पालोता थाना सिंघाना जिला झुन्झुनु, रणवीर सिंह पुत्र सुमेर सिंह राजपूत (32) निवासी काटधनोरी जिला झुन्झुनु, अशोक यादव पुत्र श्याम लाल (29) निवासी गोपाल की ढाणी थाना पचेरी जिला झुन्झुनु व राहुल जाखड़ पुत्र रामावतार (21) निवासी धमोरा थाना गुढागोड़जी झुन्झुनु है।

Advertisement

Advertisement

आईटी पार्क के पास कार में बैठे थे आरोपी

Advertisement

एसपी दुहन ने बताया कि 23 अप्रैल को मुखबिर से सूचना मिली थी कि राजरानी टावर आईटी पार्क के पास कुछ व्यक्ति सन्दिग्ध अवस्था में घूम रहे हैं, जो पेपर लीक गिरोह के सदस्य हो सकते हैं। सूचना पर पुलिस टीम तुरंत मौके पर पहुंची और एक क्रेटा कार में सवार इन छह आरोपियों को पकड़ पूछताछ की तो सामने आया कि ये इंडियन कोस्ट गार्ड के पेपर लीक करने कोटा आए थे। तलाशी में इनके पास मिले मोबाइल में एडमिट कार्ड व परीक्षा के प्रश्न पत्र इत्यादि सामग्री पाई गई।

Advertisement

एसआइटी का किया गठन

Advertisement

इस पर थाना विज्ञान नगर में मुकदमा दर्ज कर जांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महिला अनुसंधान सेल नियति शर्मा को सौंपी गई व एक एसआईटी का भी गठन किया गया।

Advertisement

रिमोट एक्सेस ऐप के द्वारा करवाते थे नकल

Advertisement

आरोपियों के पास से जब्त किए गए मोबाइल में मिले एडमिट कार्ड व परीक्षा के प्रश्न पत्र की सामग्री के संबंध में पूछताछ की गई तो इन्होंने बताया कि ये परीक्षा केन्द्र पर बैठे अभ्यर्थी के कम्प्यूटर को हैक कर उसके प्रश्न पत्र को हल करते है, अभ्यर्थी के कम्प्यूटर को हैक करने के लिये रिमोट एक्सेस एप RealVNC Viewer तथा Anydesk एप का उपयोग किया जाता है।

Advertisement

साईबर सिक्योरिटी एनालाईसिस्ट ने की लैब की जांच

Advertisement

मामला संदिग्ध पाया जाने पर राजीव गांधी कम्प्यूटर साक्षरता मिशन के साईबर सिक्योरिटी एनालाईसिस्ट द्वारा राज रानी टावर आईटी पार्क स्थित किराये पर लिए गये एक कंप्यूटर लैब में रखे सभी कम्प्यूटर के सिस्टम्स को चैक करवा कर दोनों रिमोट एक्सेज एप के लोग्स लिये गये। जिसमे सामने आया कि इन रिमोट एक्सेज एप द्वारा अन्य परीक्षा केन्द्रों पर उपस्थित अभ्यर्थियों के कम्प्यूटर सिस्टम को हैक कर उनका उपयोग पेपर सॉल्व करने के लिये किया जाता है।

Advertisement

लैब तथा सर्वर रुम सील

Advertisement

कॉल लॉग पेनड्राईव में प्राप्त कर राजीव गांधी कम्प्यूटर साक्षरता मिशन द्वारा राज रानी टावर आईटी पार्क की लैब तथा सर्वर रुम को सील किया गया। जिसका अलग से निरीक्षण करवाया जावेगा।

Advertisement

नकल कराने 10 से 15 लाख देते थे आरोपी

Advertisement

आरोपियों से पूछताछ पर यह सामने आया कि उक्त गिरोह प्रत्येक अभ्यर्थी से पेपर सॉल्व/लीक करने की एवज में 10 से 15 लाख रुपये लेकर रिमोट एक्सेस के माध्यम से पेपर सॉल्व करवाते थे।

Advertisement
Advertisement

Related posts

संसद के बाहर पकड़ी गई नीलम के बचाव में आया संयुक्त किसान मोर्चा, बुलाई गई खाप पंचायत

Report Times

चिड़ावा : श्री श्याम के संग कीजिए यहां भोले बाबा के दर्शन

Report Times

सारी बातें मानी… आपके हिसाब से टिकट बांटे, फिर क्यों हारी कांग्रेस? गहलोत से कड़े सवाल

Report Times

Leave a Comment