Report Times
Otherझुंझुनूंटॉप न्यूज़ताजा खबरेंदेशप्रदेश

कस्टमर को फोन करके एप डाउनलोड करवाते, रुपए किए ट्रांसफर

reporttimes

शहर को अनंतपुरा थाना पुलिस ने ऑनलाइन ठगी के अंतरराज्यीय गिरोह का खुलासा किया। एडिशनल एसपी प्रवीण जैन ने बताया कि झुंझुनूं सीकर से तीन शातिर ठगों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से 19 क्रेडिट कार्ड व 4 मोबाइल बरामद किए। साथ ही ठगी के 1 लाख 10 हजार की रिकवरी की। मामले में मास्टर माइंड हिस्ट्रीशीटर रविंद्र कटेवा (24) निवासी कैमरी की ढाणी,खिरोड़, थाना नवलगढ़ जिला झुंझुनू है।जो फिलहाल सीकर जेल में बंद है। जिसे भी पुलिस द्वारा जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

Advertisement

3 महीने में डेढ़ करोड़ की ठगी
मनीष चौधरी (IPS) अनंतपुरा थानाधिकारी ने बताया कि गिरोह के सदस्य फर्जी एप के जरिए लोगों के क्रेडिट कार्ड से पैसा उड़ाते थे। पूछताछ में आरोपियों ने 100 से ज्यादा ठगी की वारदात करना कबूला है। ठगी का गिरोह बिहार झारखंड उड़ीसा पश्चिम बंगाल में सक्रिय है। जो 3 महीने में डेढ़ करोड़ रुपए की ठगी कर चुके है। जिसका हिसाब किताब पुलिस के हाथ लगा है। पूछताछ में सामने आया कि गिरोह के सदस्य ठगी के लिए रिश्तेदारों के क्रेडिट कार्ड को यूज लेते थे। इसके बदले उन्हें कमीशन देते थे। एक जने के पास 10,12 क्रेडिट कार्ड रहते थे।

Advertisement

ऐसे करते थे ठगी
गिरोह के सदस्यों ने ठगी के लिए M सस्वाइप कस्टमर केयर से मिलती जुलती एप बना रखी थी। जैसे ही क्रेडिट कार्ड धारी कस्टमर शिकायत के लिए एप पर जाता तो गिरोह के सदस्य कस्टमर के फोन पर एप को डाउनलोड करवाते। फिर उसे रिमोट पर लेकर उसके अकाउंट (क्रेडिट कार्ड) से अपने क्रेडिट कार्ड में रुपए ट्रांसफर कर लेते। गिरोह के सदस्य शातिर तरीके से वारदात को अंजाम देते। लोगों के क्रेडिट कार्ड अपने क्रेडिट कार्ड में रुपए ट्रांसफर कराने के बाद पेट्रोल पंप व फोन पे के जरिए उन रुपयों को निकालकर अपने अकाउंट में जमा करवा देते थे।

Advertisement

ऐसे आए पकड़ में
18 अप्रैल को कोटा निवासी व्यापारी पवन गुप्ता के क्रेडिट कार्ड से 3 बार में 2 लाख 18 हजार 988 रुपए की ठगी हुई। व्यापारी के कहीं से पैसा आना था। क्रेडिट कार्ड में पैसा नही आया तो उन्होंने कस्टमर केयर पर सम्पर्क किया। ऑनलाइन सम्पर्क करने पर वो फर्जी एप के सम्पर्क में आ गए। गिरोह के सदस्यों ने उनको एप डाउनलोड करवाकर उनका अकाउंट रिमोट पर ले लिया। और पैसे निकाल लिए। पीड़ित ने इसकी शिकायत पुलिस को दी। जिसके बाद कोटा की साईबर टीम ने अकाउंट को ट्रेस किया। पुलिस ने बताया कि व्यापारी का पैसा सीकर के किसी व्यक्ति के क्रेडिट कार्ड में ट्रांसफर हुआ था। टीम सीकर पहुंची। तो सारे खेल की परतें खुल गई।

Advertisement

इनको किया गिरफ्तार
टीम ने चंद्र प्रकाश पूनिया (21) निवासी पुनियो का बास, ग्राम बीदसर, थाना बलारा जिला सीकर, सुनील झांझडिया (23) निवासी सोटवारा थाना मुकुंदगढ़, जिला झुंझुनू, रविंद्र उर्फ रवि सिंगड (28) निवासी बड़वासी थाना नवलगढ़ जिला झुंझुनू को गिरफ्तार किया है।

Advertisement
Advertisement

Related posts

सीकर के घनश्याम तिवाड़ी को राज्यसभा का टिकट:परिवार में खुशी का माहौल, जगह-जगह हुई आतिशबाजी

Report Times

चिड़ावा : 30 साल पहले सोलंकी समाज ने ये बनवाया शिवालय

Report Times

राजस्थान का ‘जलियांवाला बाग’, जहां जुटेंगे गहलोत-PM मोदी; कैसे होगी आदिवासियों की चांदी?

Report Times

Leave a Comment