Report Times
latestOtherकरियरछत्तीसगढ़टॉप न्यूज़ताजा खबरेंधर्म-कर्मस्पेशल

राम की भक्ती में सराबोर होंगे छत्तीसगढ़ के लोग, आयोजित हो रहा राष्ट्रीय रामायण मोहत्सव

REPORT TIMES

Advertisement

रायपुर: छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में राष्ट्रीय रामायण महोत्सव का ओयजन होगा. राष्ट्रीय रामायण महोत्सव 1 से 3 जून तक रायगढ़ के रामलीला मैदान में आयोजित होगा. यह एक प्रकार का प्रतियोगिता वाला कार्यक्रम होगा. इसलिए राज्यों से रामायण झांकी प्रदर्शन समूह के प्रतिनिधि मंडल को आमंत्रित किया गया है. नृत्यनाटिका का विषय महाकाव्य रामायण के अरण्यकाण्ड पर आधारित होगा. छत्तीसगढ़ राज्य धार्मिक व सांस्कृतिक विरासतों से समृद्ध एक ऐसा प्रदेश है. जिसका श्रीराम, माता कौशल्या व उनके जीवन चरित्र पर आधारित महाकाव्य रामायण से बहुत गहरा संबंध है. छत्तीसगढ़ राज्य को श्रीराम की माता कौशल्या की जन्मभूमि होने का विशेष गौरव प्राप्त है.

Advertisement

छत्तीसगढ़ में कौशल्या माता का मंदिर

Advertisement

माता कौशल्या का जन्म तत्कालीन दक्षिण कोसल में हुआ था. जो वर्तमान छत्तीसगढ़ में है. माता कौशल्या को उनके उदार भाव, उनके ज्ञान व श्रीराम के प्रति उनके वात्सल्य भाव के लिये जाना जाता है. यही कारण है कि उन्हें मातृत्व भाव के प्रतीक के रूप में कई स्थानों पर पूजा जाता है, परंतु छत्तीसगढ़ राज्य एक मात्र ऐसा प्रदेश है. जहां चन्द्रखुरी नामक स्थान पर माता कौशल्या को समर्पित मंदिर स्थापित है.\

Advertisement

Advertisement

वनवास का सबसे ज्यादा समय छत्तीसगढ़ में बिताया

Advertisement

भगवान राम ने अपने 14 साल के वनवास के लगभग 10 साल अधिकांशतः दण्डकारण्य में व्यतीत किये हैं एवं उक्त सभी स्थानों पर श्रीराम की उपस्थिति से संबंधित बहुत सी कथाएं प्रचलित हैं. मध्य भारत में स्थित छत्तीसगढ़ प्रदेश के वनक्षेत्र के संदर्भ में ऐसी धारणा है कि श्रीराम ने अपने वनवास अवधि का एक महत्वपूर्ण भाग यहां व्यतीत किया था. इसलिए इस क्षेत्र में श्रीराम को समर्पित बहुत से मंदिर एवं पवित्र स्थल स्थित हैं.

Advertisement

आदिवासी समुदाय का माना जाता है यह क्षेत्र

Advertisement

यह क्षेत्र कई आदिवासी समुदायों का भी निवास स्थान माना जाता है. जिन्होंने सदियों से अपने पूर्वजों की परंपराओं व संस्कृति को सहेज कर रखा है. श्रीराम ने छत्तीसगढ़ की दो सर्वाधिक महत्वपूर्ण नदियां शिवनाथ व महानदी के तट के निकट अपने वनवास का अधिकांश समय बिताया था.

Advertisement

कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की शामिल होंगी झाकियां

Advertisement

छत्तीसगढ़ में पहली बार आयोजित हो रहे राष्ट्रीय रामायण महोत्सव में सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के रामायण ‘झांकी प्रदर्शन समूह’ को आमंत्रित किया गया है. राष्ट्रीय रामायण महोत्सव के अंतर्गत प्रतियोगी कार्यक्रम होंगे. जिसमें प्रस्तुत की जाने वाली नृत्य नाटिका का विषय महाकाव्य रामायण के अरण्य-कांड पर आधारित होगा. छत्तीसगढ़ की कला और संस्कृति की नगरी रायगढ़ के ऐतिहासिक रामलीला मैदान में राष्ट्रीय रामायण महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है.

Advertisement
Advertisement

Related posts

राजस्थान में BJP विधायक दल की बैठक से पहले हलचल, वसुंधरा से मिलने पहुंचे 4 MLA

Report Times

राजस्थान में जीती बीजेपी लेकिन फेल रहे बागी विधायक, जानिए बागी सीटों पर किसने मारी बाजी

Report Times

IPL 2024: PBKS vs SRH मैच से पहले जानें, दोनों टीमों के हेड टू हेड आंकड़े और संभावित प्लेइंग 11

Report Times

Leave a Comment