Report Times
latestOtherआरोपकरियरकार्रवाईक्राइमटॉप न्यूज़ताजा खबरेंदिल्लीमेडीकल - हैल्थराजनीतिसोशल-वायरलस्पेशलहरियाणा

धमकाकर बदलवाया नाबालिग का बयान, लोग जानते हैं बृजभूषण की हरकतें- साक्षी मलिक

REPORT TIMES 

Advertisement

ओलंपिक मेडल विजेता साक्षी मलिक ने भारतीय कुश्ती संघ के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह को लेकर एक वीडियो जारी किया है. इसमें उन्होंने नाबालिग महिला पहलवान के परिवार को डराने और धमकाने का आरोप लगाया है.SAKSHI MAILIK  का कहना है कि बृजभूषण की धमकियों के बाद ही बयान बदला गया. साक्षी का कहना है कि नाबालिग पहलवान ने पहले पुलिस और मजिस्ट्रेट के सामने बयान दिया. लेकिन जैसे ही परिवार को धमकी मिली, वैसे ही बयान भी बदल गए.साक्षी मलिक के साथ वीडियो में उनके पति सत्यव्रत कादियान भी नजर आ रहे हैं. उनका कहना है कि बृजभूषण के खिलाफ आंदोलन राजनीति से प्रेरित नहीं है. इतने सालों तक आरोप नहीं लगाने को लेकर उठ रहे सवाल पर साक्षी ने उन्होंने कहा कि हमें लगातार उत्पीड़न का सामना करना पड़ रहा था, मगर कुश्ती समुदाय एकजुट नहीं था. इस वजह से बृजभूषण के खिलाफ आवाज नहीं उठाई गई. कादियान ने बताया कि प्रदर्शन को लेकर झूठी बातें कही जा रही हैं.

Advertisement

Advertisement

छेड़छाड़ के बारे में 90 फीसदी लोगों को थी जानकारी

Advertisement

सत्यव्रत कादियान का कहना है कि कुश्ती समुदाय से जुड़े 90 फीसदी लोगों को बखूबी ये बात मालूम है कि पिछले 10-12 सालों से छेड़छाड़ और डराने-धमकाने का काम चल रहा है. कुछ लोगों ने आवाज उठाना भी चाहा, मगर कुश्ती समुदाय एकजुट नहीं था. कादियान ने ये भी साफ किया कि लड़ाई डब्ल्यूएफआई चीफ के खिलाफ है, न कि सरकार के.बृजभूषण के खिलाफ चुप्पी साधे रहने पर साक्षी ने भी कादियान की बात को दोहराया. उन्होंने कहा कि हम लोग सिर्फ इसलिए चुप थे, क्योंकि कोई एकजुट नहीं था. साक्षी का कहना है कि आप देख सकते हैं कि किस तरह से नाबालिग महिला पहलवान ने भी अपना बयान बदल दिया है. उसके परिवार को डराया-धमकाया गया.ओलंपिक विजेता ने कहा कि ये पहलवान गरीब परिवारों से आते हैं. किसी ताकतवर व्यक्ति से लड़ने के लिए हिम्मत जुटाना आसान नहीं होता है.

Advertisement

राजनीति से प्रेरित नहीं है प्रदर्शन

Advertisement

पहलवानों के प्रदर्शन को राजनीति से प्रेरित बताया जा रहा है. ऐसा इसलिए क्योंकि कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक धरने वाली जगह पर पहुंचे थे. उन्होंने पहलवानों का समर्थन भी किया था. इसके बाद कहा जाने लगा कि धरना राजनीति से प्रेरित है. हालांकि, पहलवानों ने साफ कर दिया है कि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है. सत्यव्रत कादियान का कहना है कि इस प्रदर्शन को कांग्रेस की तरफ से समर्थन नहीं दिया जा रहा है.

Advertisement
Advertisement

Related posts

ग्रामीण क्षेत्रों में दहिया को मिला अपार समर्थन

Report Times

अमृतकाल को कर्तव्य काल बनाएं और स्वतंत्र सोच के साथ आगे बढ़ें… युवाओं को PM मोदी का संदेश

Report Times

देवेन्द्र शर्मा बने चिड़ावा के नगर मंत्री 

Report Times

Leave a Comment