Report Times
latestOtherउत्तर प्रदेशकरियरकार्रवाईक्राइमगिरफ्तारटॉप न्यूज़ताजा खबरेंस्पेशल

उमेशपाल हत्याकांड में शामिल थे अतीक अहमद के दोनों नाबालिक बेटे, पुलिस ने केस डायरी में दर्ज किया नाम

REPORT TIMES

Advertisement

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश के बहुचर्चित उमेश पाल हत्याकांड में कुख्यात माफिया डॉन अतीक अहमद के दोनों नाबालिग बेटे भी शामिल थे. एक बेटा तो घटना स्थल पर भी मौजूद था और उमेश पाल की मौत की पुष्टि होने पर उसने जश्न मनाया था. वहीं दूसरे नाबालिग बेटे ने आईफोन में Thankur008@icloud.com से आईडी बनाया था. इसी आईडी के जरिए सभी आरोपी आपस में कनेक्ट थे. यही नहीं, इस हत्याकांड की जानकारी जेल में बंद अतीक के दो बेटों अली और उमर को भी थी. यह खुलासा खुद प्रयागराज पुलिस ने अपनी केस डायरी में किया है. इसमें पुलिस ने सभी आरोपियों की अलग अलग भूमिका लिखी है.बता दें कि प्रयागराज पुलिस ने अब तक इस मामले में कुल नौ आरोपियों के खिलाफ अदालत में चार्जशीट दाखिल किया है. इनमें अतीक के बहन आयशा नूरी के पति अखलाक, वकील सौलत हनीफ व अतीक के करीबी नौकर भी शामिल हैं. प्रयागराज में बीते 24 फरवरी को हुए उमेश पाल व उसके दो सरकारी गनर की हत्या के मामले में पुलिस की विवेचना जारी है. इस विवेचना के क्रम में पुलिस ने अपनी केस डायरी में सभी आरोपियों की भूमिका का वर्णन किया है. इसमें माफिया डॉन अतीक अहमद के दोनों नाबालिग बेटों समेत परिवार के सभी लोगों के नाम शामिल हैं.केस डायरी में उनकी भूमिका का विस्तार से वर्णन है,

Advertisement

Advertisement

जैसे कि कौन आरोपी वारदात के वक्त कहां था और इस वारदात में उसकी भूमिका प्रत्यक्ष थी या अप्रत्यक्ष. पुलिस ने केस डायरी में से ही लिखा है कि आरोपियों की भूमिका का राज सौलत हनीफ की गिरफ्तारी से खुला. खुद सौलत हनीफ ने काफी जानकारियां दी, वहीं कई जानकारियां उसके मोबाइल फोन की जांच में भी सामने आई हैं. इसी में पता चला है कि वारदात में अतीक के दोनों नाबालिग बेटे भी शामिल थे. केस डायरी के मुताबिक उमेश पाल शूटआउट की साजिश संबंधी बातचीत के लिए इन्हीं नाबालिग बेटों ने फेसटाइम ऐप का इस्तेमाल किया था.सबसे अहम बात यह है कि इनमें से एक बेटे ने आईफोन मोबाइल पर Thankur008@icloud.com से आईडी बनाया था. जो घटना के वक्त इस आईडी का प्रयोग करते हुए कनेक्ट थे. इसी प्रकार घटनास्थल पर ही दूसरा नाबालिक बेटा मौजूद था. धूमनगंज थाना पुलिस ने इन सभी तथ्यों को ध्यान में रखते हुए केस डायरी तैयार की है. पुलिस ने इसमें यह भी बताया है कि उमेश पाल हत्याकांड की पूरी जानकारी लखनऊ जेल में बंद अतीक अहमद के बड़े बेटे अली अहमद और प्रयागराज के नैनी जेल में बंद अली अहमद को भी थी. इसलिए पुलिस ने इन दोनों बेटों के नाम भी केस डायरी में लिखे हैं.

Advertisement
Advertisement

Related posts

अवैध अतिक्रमण पर कार्रवाई : पालिका दस्ते को देखकर निर्माण कार्य में लगे श्रमिक मौके से भागे

Report Times

भारतीय फुटबॉल टीम को मिली छूट, अब एशियन गेम्स में लेगी हिस्सा

Report Times

निकाय चुनाव के दौरान पुलिस अधिकारी दे रहा था भद्दी गालियां, प्रत्याशी ने भी दिया मुंह तोड़ जवाब

Report Times

Leave a Comment