Report Times
latestOtherकरियरकार्रवाईक्राइमजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजनीतिराजस्थानस्पेशल

मजनूं कंट्रोल में रहें! अब लड़कियों को छेड़ा तो राजस्थान में नहीं मिलेगी सरकारी नौकरी

REPORT TIMES

Advertisement

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बेटियों की सुरक्षा को लेकर सख्त हैं. उनका एक नया फरमान इस समय चर्चा का विषय बना हुआ है. मुख्यमंत्री का फरमान यह है कि अगर राज्य में किसी भी लड़के के खिलाफ लड़कियों को छेड़ने की शिकायत मिलती है तो उसे सरकारी नौकरी से वंचित कर दिया जाएगा, मतलब वह कभी सरकारी नौकरी के लिए फॉर्म तक नहीं भर पाएगा. बकायदा इन लड़कों का पुलिस थानों में हिस्ट्रीशीटरों की तरह रिकॉर्ड रखा जाएगा. राज्य सरकार और पुलिस द्वारा जारी किए जाने वाले इनके चरित्र प्रमाण पत्र पर यह अंकित भी किया जाएगा. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के इस फैसले से एक तरफ जहां लड़कियों में खुशी का माहौल है तो वहीं लड़के थोड़ा उदास हैं. उनका कहना है कि मुख्यमंत्री के इस फैसले का समाज और लड़कों के करियर पर गलत असर पड़ेगा. द्वेष भावना के चलते भी कभी-कभी गलत केसों में भी फंसा दिया जाता है. अब इस तरह का फरमान आएगा तो उनका करियर भी खराब हो जाएगा. वहीं अपने बयान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि मनचलों और छेड़छाड़ करने वालों के बारे में राज्य सरकार ने फैसला किया है कि बालिकाओं एवं महिलाओं से छेड़छाड़, दुष्कर्म के प्रयास एवं दुष्कर्म के आरोपियों एवं मनचलों को सरकारी नौकरियों से प्रतिबंधित किया जाएगा. इसके लिए मनचलों का भी पुलिस थानों में हिस्ट्रीशीटरों की तरह रिकॉर्ड रखा जाएगा. इस रिकॉर्ड को उनके चरित्र प्रमाण पत्र पर यह अंकित भी किया जाएगा.

Advertisement

Advertisement

सरकार का यह फैसला चुनावी ड्रामा- BJP

Advertisement

वहीं बीजेपी ने इसे राजस्थान सरकार का चुनावी ड्रामा करार दिया है. बीजेपी के पूर्वे प्रदेश अध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी ने कहा कि ये महज एक चुनावी ड्रामा है. साढ़े चार साल तक राज्य में अपराध चरम पर रहा. महिलाओं के साथ दुष्कर्म और अन्य अपराध होते रहे, लेकिन सरकार कभी नहीं चेती. आज जब चुनाव सिर पर है तो इन्हें सबकुछ याद आ रहा है. पहले जब महिलाओं की इज्जत लूटी जा रही थी तो अशोक गहलोत चुप्पी साधे रहते थे.

Advertisement

महिला अपराधों को रोकना उनकी प्राथमिकता- CM अशोक गहलोत

Advertisement

वहीं बीजेपी के हमलों पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जवाब देते हुए कहा कि महिला अपराधों को रोकना उनकी प्राथमिकता है. प्रदेश में बेटियों की सुरक्षा उनके जिम्मे है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि भीलवाड़ा और जोधपुर में हुई घटनाओं को लेकर बीजेपी घटिया राजनीति कर रही है. बीजेपी को भी पता है कि राजस्थान चुनाव में उनकी दाल नहीं गलने वाली है. इस वजह से वह बेवजह के मुद्दे उठा रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस मामले को बेवजह राजनीतिक स्वार्थों के चलते तूल देने की कोशिश कर रहे हैं.

Advertisement
Advertisement

Related posts

अतीक अहमद के दफ्तर में मिले खून के मामले में शाहरुख गिरफ्तार, अंदर क्यों घुसा था उगला राज?

Report Times

ग्रेटर नोएडा में धीरेंद्र शास्त्री के दरबार में अफरा-तफरी, बेहोश होकर गिरे श्रद्धालु

Report Times

IPL 2024: मैच में बौखला गए विराट कोहली, देखें

Report Times

Leave a Comment