Report Times
latestOtherकरियरकेरलटॉप न्यूज़ताजा खबरेंधर्म-कर्मराजनीतिस्पेशल

केरल के सरकारा मंदिर में नहीं लगेगी RSS की शाखा, हाईकोर्ट ने लगाई रोक

REPORT TIMES 

Advertisement

केरल हाईकोर्ट ने कहा है कि तिरुवनंतपुरम के सरकारा देवी मंदिर परिसर में RSS की शाखा नहीं लगेगी. उच्च न्यायालय ने सरकारा देवी मंदिर में RSS के प्रशिक्षण को चुनौती देने वाली एक याचिका पर सुनवाई के दौरान यह आदेश दिया. हाईकोर्ट ने कहा कि सरकारा देवी मंदिर का प्रबंधन त्रावणकोर देवस्वओम बोर्ड (TDB) के हाथों में है. कोर्ट ने कहा कि मंदिर के परिसर में किसी सामूहिक अभ्यास या हथियार प्रशिक्षण की अनुमति नहीं दी जाएगी. बता दें कि मंदिर परिसर में हथियार प्रशिक्षण पर पहले ही रोक लगाई जा चुकी है, अब शाखा लगाए जाने पर भी रोक रहेगी. कोर्ट ने कहा कि मंदिर परिसर का इस्तेमाल सामूहिक ड्रिल या हथियार प्रशिक्षण के लिए नहीं किया जा सकता है. पूजा-त्योहार के अलावा किसी अन्य आयोजन की अनुमति नहीं मिलेगी.

Advertisement

Advertisement

मंदिर परिसर में मास ड्रिल- वेपन ट्रेनिंग की अनुमति नहीं- कोर्ट

Advertisement

त्रावणकोर देवस्वओम बोर्ड (TDB) ने पहले ही कहा था कि मंदिर परिसर में पूजा और त्योहार के अलावा किसी अन्य आयोजन की अनुमति नहीं मिलेगी. बता दें कि हाल ही में जस्टिस अनिल के नरेंद्रन और जस्टिस पी जी अजीत कुमार की बेंच ने इसको लेकर एक आदेश सुनाया था. इस दौरान भी बेंच ने मंदिर परिसर में किसी सामूहिक अभ्यास या हथियार चलाने के अभ्यास और शाखा पर रोक लगाने की बात कही थी.

Advertisement

आदेश का कड़ाई से पालन करें अधिकारी- TDB

Advertisement

कोर्ट ने पुलिस को टीडीबी को उसके पहले के आदेश के अनुपालन में जरूरी सहायता मुहैया कराने का निर्देश दिया. TDB ने 18 मई को नया सर्कुलर जारी किया था. इसमें उसने अपने अधिकारियों से कहा था कि वो पहले के आदेश का कड़ाई से पालन करें. पिछले आदेश में बोर्ड के अंतर्गत आने वाले मंदिरों में आरएसएस के शाखा लगाने या सामूहिक अभ्यास पर रोक लगाई गई थी.

Advertisement

TDB ने 2016 में पहली बार जारी किया था सर्कुलर

Advertisement

बता दें कि टीडीबी ने 2016 में ही RSS के सामूहिक अभ्यास और हथियार प्रशिक्षण को बैन करने का सर्कुलर जारी किया था.तत्कालीन देवस्वओम मंत्री कडकमपल्ली सुरेंद्रन ने दावा किया था कि आरएसएस केरल में मंदिरों को हथियारों के भंडार में बदलने की कोशिश कर रहा है. इसके बाद बोर्ड ने 30 मार्च 2021 को फिर से एक सर्कुलर जारी किया था. इसमें उसने अधिकारियों से RSS के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा था.

Advertisement
Advertisement

Related posts

बिहार के सहरसा में बलात्कार की घटना के पश्चात् पंचायत का असंवेदनशील फरमान

Report Times

चिड़ावा: श्रीधर यूनिवर्सिटी में छात्रवृत्ति के लिए होगा एग्जाम

Report Times

अतिरिक्त जिला कलक्टर जेपी गौड़ ने सेवा दिवस के रूप में मनाया जन्मदिन

Report Times

Leave a Comment