Report Times
latestOtherउत्तर प्रदेशकरियरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंधर्म-कर्मस्पेशल

अयोध्या : रामलला की प्राणप्रतिष्ठा में शामिल होंगे 127 संप्रदायों के 4000 संत, देश भर में होगा दीपोत्सव

REPORT TIMES 

Advertisement

अयोध्या में निर्माणाधीन राम मंदिर में भगवान राम की प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियां जोर शोर से चल रही हैं. इस अवसर पर अयोध्या में जश्न मनेगा, देश भर में सभी 127 संप्रदायों के संत महात्मा पहुंचेंगे. यही नहीं, उस दिन देश भर में और हरेक घर में दिवाली मनेगी. इस संबंध में श्रीराम जनमभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की बैठक में फैसला लिया गया है. ट्रस्ट की ओर से सभी 127 संप्रदायों से जुड़े संत महात्माओं को आमंत्रण भेजने की कवायद शुरू कर दी है.ट्रस्ट कार्यालय में हुई दो दिवसीय बैठक में प्रमुख संत, अखिल भारतीय धर्माचार्य मौजूद रहे. ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि बैठक में प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव को भव्य और दिव्य तरीके से मनाने का निर्णय लिया गया है. इसके तहत लोगों से आग्रह किया जाएगा कि उस दिन देश भर में और हर घर में दीप जलाने का आग्रह किया जाएगा. इसके लिए व्यापक स्तर पर जनसंपर्क किया जाएगा. इसके लिए देश भर से आए विभिन्न राज्यों के धर्माचार्य व संपर्क प्रमुखों को जिम्मेदारी दी गई है.

Advertisement

Advertisement

उन्होंने बताया कि देश भर में राम भक्तों को जोड़ने और सनातन धर्म के प्रति एकत्रित करने के उद्देश्य से बजरंगदल कार्य कर रहा है. बजरंग दल की शौर्य यात्रा से पूरे देश में राम भक्तों को एकत्र किया जा रहा है. वहीं अब श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से देश विदेश में मौजूद 127 संप्रदायों के प्रमुख साधु संतों को प्रतिष्ठा महोत्सव में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया जा रहा है. अखिल भारतीय संत समिति के महामंत्री महामंडलेश्वर जितेन्द्रानंद सरस्वती ने बताया कि वह खुद भी संतों से संपर्क कर रहे हैं.उन्होंने बताया कि यह उनकी पहली बैठक थी. 492 वर्षों का संघर्ष के बाद बीते तीन साल से राम मंदिर के निर्माण का काम शुरू हो सका है. यह काम अब पूर्ण होने को है. इसलिए सबकी यही इच्छा है कि सनातन हिंदू धर्म का कोई भी संप्रदाय हो, सभी से जुड़े लोग अयोध्या पधारें. उन्होंने बताया कि इस प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव में देश भर से 4000 संतों के अयोध्या आने की उम्मीद है. इन सभी संतों को आमंत्रण पत्र भेजा जा रहा है. ट्रस्ट की कोशिश होगी कि सनातन परंपरा से जुड़ा कोई भी संत इस पुण्य काल में यहां आने से बाकी ना रहे.

Advertisement
Advertisement

Related posts

चिड़ावा : पालिकाध्यक्ष ने गौशाला में खिलाया दलिया

Report Times

शहर में निकली भगवान श्रीराम की शोभायात्रा: सिर पर कलश लिए एक ही रंग की साड़ी में निकली महिलाएं, युवा साफा बांधे चले

Report Times

Chaitra Navratri 2024: 9 अप्रैल से शुरू होगी चैत्र नवरात्रि, जानें मां शैलपुत्री की पूजा विधि-शुभ मुहूर्त और पूजन मंत्र

Report Times

Leave a Comment