Report Times
latestOtherआक्रोशकरियरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंमणिपुरसोशल-वायरलस्पेशल

पहले निर्वस्त्र महिलाओं का वीडियो, अब 2 बच्चों की लाश का फोटो, मणिपुर में फिर उबाल

REPORT TIMES 

Advertisement

पूर्वोत्तर राज्य मणिपुर में जातीय हिंसा का सिलसिला पिछले चार महीनों से जारी है. कुछ दिन की शांति के बाद मणिपुर फिर से उबल रहा है. इसका कारण है दो बच्चों के शवों की तस्वीरें, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. जुलाई में लापता हुए दोनों बच्चे मैतेई समुदाय से ताल्लुक रखते थे. 143 दिनों के बाद शनिवार को राज्य में इंटरनेट सेवाएं पूरी तरह से बहाल होने के बाद यह भयावह दृश्य सामने आया है. राज्य सरकार ने इस दिल दहला देने वाले मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी है. दोनों शवों के पहचान 20 साल के फिजाम हेमजीत और 17 साल की नाबालिग लड़की हिजाम लिनथोइंगंबी के रूप में हुई है. इनकी मौत से पहले की भी एक तस्वीर सामने आई है, जिसमें दोनों घास के मैदान में हथियारबंद लोगों के साथ बैठे हुए नज़र आ रहे हैं. हेमजीत काली हुडी के ऊपर भूरे रंग की चेकदार शर्ट पहने हुए दिखाई दे रहा है, जबकि हिजाम ने सफेद टी-शर्ट पहन रखी है. बड़ी बात यह है कि दोनों के शव इसी जगह पर दिख रहे हैं.

Advertisement

Advertisement

अभी तक बरामद नहीं किए गए दोनों के शव

Advertisement

इंटरनेट बहाल होते ही दोनों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं. जिसके बाद राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति और इस तथ्य पर व्यापक आक्रोश फैल गया. लोगों ने आरोप लगाया है कि कानून के रखवाले लापता दोनों छात्रों को ढूंढ नहीं पाए. कहा जा रहा है कि अभी तक दोनों के शव बरामद नहीं किए गए हैं.

Advertisement

क्रूरता की कई भयावह घटनाओं में से एक है ये मामला

Advertisement

यह मामला क्रूरता की कई भयावह घटनाओं में से एक है, जो मणिपुर में मैतेई और आदिवासी कुकी समुदायों के बीच संघर्ष में देखी जा रही है. तस्वीरें सामने आने के बाद मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह के ऑफिस से बयान जारी किया गया और इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी गई. सीएम बीरेन ने कहा है कि सीबीआई ने छात्रों के लापता होने की परिस्थितियों का पता लगाने और हत्या करने वाले अपराधियों की पहचान करने के लिए जांच शुरू कर दी है. साथ ही सुरक्षा बलों ने अपराधियों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान भी शुरू कर दिया है.

Advertisement

पहले वायरल हुआ था निर्वस्त्र महिलाओं का वीडियो

Advertisement

बता दें कि इससे पहले राज्य में जुलाई के महीने में दो निर्वस्त्र आदिवासी महिलाओं का वीडियो वायरल हुआ था. वीडियो के मुताबिक, दोनों महिलाओं को पुरुषों की भीड़ ने नग्न घुमाया था. बाद में महिलाओं को एक खेत में ले जाया गया, जहां उनके साथ कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किया गया. इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद देश भर में आक्रोश फैल गया था.

Advertisement
Advertisement

Related posts

राजस्थान में आगामी 48 घंटे में तेजी से बदलेगा मौसम, जानें 7-8 और 9 मई को कैसा रहेगा मौसम, एडवायजरी जारी

Report Times

RBI का डिजिटल करेंसी पर बड़ा ऐलान: जल्द आएगा ई-रुपया, शुरू होगा पायलट प्रोजेक्ट

Report Times

16 जनवरी को नहीं होंगे खाटू में श्याम प्रभु के दर्शन, श्याम मन्दिर प्रबन्ध समिति ने जारी की सूचना

Report Times

Leave a Comment