Report Times
latestOtherचिड़ावाझुंझुनूंटॉप न्यूज़ताजा खबरेंधर्म-कर्मस्पेशल

गाजे-बाजे के साथ रवाना हुई परमहंस बावलिया बाबा दिव्य संदेश यात्रा, भक्तों ने किया रथ में सवार बाबा के स्वरूप का पूजन

REPOR TIMES 
चिड़ावा। बिड़ला के वरदाता परमहंस पण्डित गणेश नारायण बावलिया बाबा के निर्वाण दिवस से पहले बाबा का संदेश जन-जन तक पहुंचाने के लिए बावलिया बाबा भक्त मण्डल व भगवत जन कल्याण मिशन के संयोजन में निकाली जाने वाली परमहंस बावलिया बाबा दिव्य संदेश यात्रा शुक्रवार को सनातन आश्रम पोद्दार पार्क स्थित परमहंस पीठ से गाजे-बाजे के साथ रवाना हुई। इससे पूर्व बाबा के कृपा शिष्य प्रभुशरण तिवाड़ी के सानिध्य में यात्रा आयोजन समिति के सदस्यों ने सपत्निक रथ में सवार बाबा के दिव्य स्वरूप का पूजन किया व महाआरती हुई। आरती के पश्चात बाबा के भक्तों को उनके प्रिय दाल के बड़ो व सेळ का प्रसाद वितरित किया गया। इसके बाद यात्रा अडूका के लिए रवाना हुई। यात्रा आठ दिनों तक झुंझुनूं और नीम का थाना जिले में घूम कर बाबा का जीवन वृतांत व बाबा के चमत्कारों से लोगों को अवगत कराएगी।
यात्रा स्थलों पर बाबा के साहित्य व चित्रों का वितरण, बाबा का मंगलपाठ व प्रसाद वितरण के कार्यक्रम होंगे। कार्यक्रम में पालिका उपाध्यक्ष अभय सिंह बड़सरा, शिक्षाविद धर्मपाल सिंह मिठारवाल, समाजसेवी सुरेन्द्र सैनी, मुकेश जलिन्द्रा, पीसीपी निदेशक विक्रम जांगिड़, विजेन्द्र जांगिड़, शिवलाल सैनी, कैप्टन शंकरलाल महरानियां, रामकिशन केडिया, गिरधर गोपाल महमिया, तेजप्रकाश सोनी, अशोक हलवाई, संजय दाधीच, रजनीकांत मिश्रा, राजकुमारी तिवाड़ी, अमिता, आशा देवी, किरण देवी, सरोज देवी,टीना शर्मा सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु महिला-पुरुषों ने हिस्सा लिया। बारहवीं दिव्य संदेश यात्रा 5 जनवरी को सनातन आश्रम परमहंस पीठ से रवाना होकर अडूका, बामनवास, हीरवा, कलगांव होकर पिचानवा पहुंचेगी जहां पर रात्रि विश्राम होगा।
ये रहेगा यात्रा कार्यक्रम:
आज पिचानवा में रात्रि विश्राम, 6 जनवरी को यात्रा पिचानवा से किढवाना, बडसरी का बास, बांझडोली होते हुए बड़बर पहुंचेगी । 7 जनवरी को बड़बर से बुहाना पचेरी होते हुए शिमला पहुंचेगी। 8 जनवरी को यात्रा शिमला से गोरीर होते हुए कॉपर, खेतड़ी पहुंचेगी जहां रात्रि विश्राम होगा। 9 जनवरी को यात्रा खेतड़ी से जसरापुर नंगली सलेदीसिंह, चनाना होते हुए इंडाली पहुंचेगी। 10 जनवरी को यात्रा खाजपुर , झुंझुनू के बाद सलामपुर पहुंचेगी। 11 जनवरी को माखर, बगड़ व मंड्रेला पहुंचेगी। 12जनवरी को बुडानिया, आलमपुरा बदनगढ़, इस्माइलपुर होते हुए वापस चिड़ावा पहुंचेगी जहां बाबा की आरती के साथ यात्रा का समापन होगा।
Advertisement

Related posts

मौसम के तीन रंग:सुबह तेज धूप, दोपहर में बादल छाये फिर शाम को हवा के साथ हुई बरसात, बगड़ में गिरे ओले

Report Times

राजस्थान में अच्युतानंद महाराज पर जानलेवा हमला, गुस्साए समर्थकों ने बाजार किया बंद

Report Times

कांग्रेस अध्यक्ष की रेस से हटे दिग्विजय सिंह, मल्लिकार्जुन खड़गे के बनेंगे प्रस्तावक; बोले- गांधी परिवार का वफादार हूं

Report Times

Leave a Comment