Report Times
latestOtherकरियरजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजस्थानस्पेशल

‘सिर्फ 1 मिनट ही लेट हूं..प्लीज अंदर जाने दो’ गेट पर ही रोने लगी परीक्षार्थी, कलेक्टर-एसपी ने भी बोला ‘नहीं ‘

REPORT TIMES 

Advertisement

राजस्थान लोक सेवा आयोग (RPSC) द्वारा रविवार को प्रदेश के विभिन्न केंद्रों पर असिस्टेंट प्रोफेसर, लाइब्रेरियन और शारीरिक प्रशिक्षण अनुदेशक (PTI) परीक्षा का आयोजन किया. ये परीक्षा आज दोपहर 12 बजे शुरू हुई जो 2 बजे तक खत्म हो गई. इस परीक्षा को लेकर राजस्थान की भजनलाल सरकार ने खास इंतजाम किए थे. DGP स्तर के अधिकारी खुद इस एग्जाम की निगरानी कर रहे थे. इस दौरान इंटरनेट सेवा भी बंद रखी गई थी ताकि पेपर लीक न हो सके. इस दौरान अभ्यार्थियों को भी समय से 1 घंटा पहले केंद्र पर पहुंचने के लिए कहा था. लेकिन कुछ अभ्यार्थी समय पर परीक्षा केंद्र नहीं पहुंच पाए जिस कारण उन्हें अंदर एंट्री नहीं दी गई.

Advertisement

Advertisement

कलेक्टर-एसपी ने एंट्री देने से किया इनकार

Advertisement

अजमेर से एक ऐसी ही अभ्यार्थी का वीडियो सामने आया है, जिसमें वो रोते हुए हाथ जोड़कर गेट पर खड़े पुलिसकर्मियों से अंदर एंट्री देने के लिए विनती कर रही है. लेकिन पुलिसकर्मी उसे आरपीएससी की गाइडलाइन का वाला देते हुए एंट्री देने से मना कर रहे हैं. परीक्षा केंद्र पर भीलवाड़ा से आई ज्योति मात्र 1 मिनट लेट पहुंची थी. इसी बीच वहां अजमेर जिला कलेक्टर और कार्यवाहक संभागीय आयुक्त डॉ भारती दीक्षित और एसपी चुनाराम जाट निरीक्षण करने भी पहुंच गए थे. उसी समय रोते हुए महिला अभ्यर्थी ने प्रवेश देने की गुहार लगाई, लेकिन आरपीएससी के नियमों का हवाला देते हुए कलेक्टर-एसपी ने भी अनुमति देने से इनकार कर दिया. राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा पहले ही समय को लेकर अभ्यर्थियों को पहले ही चेतावनी और अपील भी की गई थी.

Advertisement

अजमेर के 78 केंद्रों पर आयोजित हुई परीक्षा

Advertisement

मामले की जानकारी देते हुए अजमेर जिला कलेक्टर भारती दीक्षित ने बताया कि आरपीएससी द्वारा कराई जा रही भर्ती को लेकर अजमेर शहर के सभी सेंट्रो का निरीक्षण किया जा रहा है. अजमेर में लगभग 78 सेंटर पर परीक्षा आयोजित कराई जा रही है. सभी व्यवस्था संपूर्ण रूप से ठीक है और आरपीएससी के नियमों के अनुसार 11:00 बाद केंद्र में प्रवेश नहीं दिया जा रहा. आपको बता दें कि इस बार सर्दी को देखते हुए आरपीएससी द्वारा अभ्यर्थियों को गर्म कपड़े पहनकर आने और एग्जाम देने की अनुमति दी गई थी. वहीं दूसरी तरफ अभ्यर्थियों की सिंपल घड़ियां और गहने नियम के अनुसार उतरवा लिए गए थे. नकल रोकने के लिए उड़नदस्तों ने भी लगातार पैनी नजर बना रखी थी.

Advertisement
Advertisement

Related posts

पहली पत्नी रेशमा और दूसरी मोनिका, राजस्थान में कांग्रेस के प्रत्याशी अमीन कागजी की कहानी

Report Times

शिक्षक संघ ने 17 सूत्री मांगों को उठाया, कहा- सरकार नहीं दे रही ध्यान

Report Times

चांद पर चंद्रयान, धरती पर जश्न… लोगों ने बांटी मिठाई, कहा- बधाई हो बधाई

Report Times

Leave a Comment