Report Times
latestOtherकार्रवाईक्राइमगिरफ्तारटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजस्थानस्पेशल

महंत को लॉरेंस बिश्नोई के नाम से पीएस ने दिलवाई धमकी, बालकानंद गिरी का सचिव ही निकला मास्टरमाइंड, 20 करोड़ की मांगी थी फिरौती

REPORT TIMES 

Advertisement

गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई का झूठा गुर्गा बनकर 20 करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने तथा पैसे नहीं देने पर महंत बालकानंद गिरी को जान से मारने की धमकी देने के सनसनीखेज मामले का बुधवार को सवाई माधोपुर पुलिस अधीक्षक हर्षवर्धन ने बड़ा खुलासा कर दिया है. एसपी हर्षवर्धन के अनुसार, महाकाल मंदिर उज्जैन के थानापति महंत बालकानंद गिरी महाराज जो कि वर्तमान में खंडार के पादड़ी तोपखाना आश्रम पर निवास कर रहे हैं. उन्हें विगत दिनों कुछ बदमाशों द्वारा लॉरेंस बिश्नोई के गुर्गे बनकर धमकियां दी गई और 20 करोड़ रुपये की फिरौती मांगी गई थी. फिरौती नहीं देने पर महंत को जान से मारने की धमकी भी दी गई थी. इस पर मामले की शिकायत पीड़ित महंत बालकानंद गिरी महाराज द्वारा खंडार थाना पुलिस को दी गई थी. इस केस पर पुलिस ने अपनी विभिन्न टीमें गठित कीं और शीघ्र ही मामले का खुलासा कर दिया.

Advertisement

Advertisement

निजी सचिव ही घटना का सूत्रधार निकला

Advertisement

इस दौरान अस्थाई रूप से अतिरिक्त सुरक्षाकर्मी भी पुलिस द्वारा तैनात किए गए थे. पुलिस ने जब मामले का खुलासा किया तो आश्चर्य जनक पहलू सामने आए. महाराज का निजी सचिव ही घटना का सूत्रधार निकला. पुलिस ने निजी सचिव सहित सात आरोपियों को गिरफ्तार किया है. तकनीकी एवं मानवीय पुलिसिंग से तफ्तीश किया जाकर एक दर्जन से अधिक शहरों में दबिश देकर समूची कार्यवाही को अंजाम दिया गया. पुलिस ने इस दौरान कोटा, आगरा, मुरैना, श्योपुर, दिल्ली आदि की भी खाक छानी. पुलिस ने आरोपी सुनील कुमार राजपूत, महंत का सचिव राम लखन गुर्जर निवासी पादड़ी,नरेश लोहार निवासी श्योपुर, धरमू निवासी पादरी तोपखाना खंडार, प्रदीप सिकरवार निवासी मुरैना मध्य प्रदेश, विजेंद्र निवासी गोवर्धनपुरा नांता कोटा तथा उमेश पाठक निवासी खंडार को गिरफ़्तार किया है.

Advertisement

ट्रांसफर करवा लिए थे 80 हजार रुपये

Advertisement

पुलिस के मुताबिक महंत से फिरौती मांगने के मामले में राम लखन गुर्जर ही मुख्य षड्यंत्र कर्ता के रूप में शामिल रहा है. यह निजी सचिव के रूप में महाराज के पास कार्य करता था. पुलिस अधीक्षक हर्षवर्धन ने बताया कि आरोपियों द्वारा योजनाबद्ध तरीके से गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई का नाम लेकर महंत से फिरौती मांगी गई थी. पीड़ित महंत द्वारा आरोपियों को 80 हजार रुपये की राशि भी उनके अकाउंट में ट्रांसफर कर दी गई थी. पुलिस ने मामले से जुड़े सात आरोपियों को गिरफ़्तार किया गया है. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मामले में और भी आरोपियों के सामने आने की उम्मीद है. इसे देखते हुए गिरफ्तार किए गए आरोपियों से पुलिस द्वारा पूछताछ की जा रही है. पुलिस पूछताछ में अभी तक गिरफ्तार आरोपियों का लॉरेन्स विश्नोई गैंगे से कोई लिंक नही निकला है. फिर भी पुलिस आरोपियों से हर पहलू को लेकर पूछताछ कर रही है.

Advertisement
Advertisement

Related posts

हाईवे से BJP का चुनावी रास्ता, दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे से मीणा-गुर्जर समाज तक पहुंचने का बना प्लान

Report Times

इस राज्य में निकली एग्रीकल्चर सुपरवाइजर की बंपर वैकेंसी, 12वीं पास करें अप्लाई

Report Times

चिड़ावा में स्टेट GST टीम की बड़ी कार्रवाई, चार ट्रकों में पकड़ी 13.50 लाख के सामानों की टैक्स चोरी

Report Times

Leave a Comment