Report Times
latestOtherआरोपजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजनीतिराजस्थानसोशल-वायरलस्पेशल

राजस्थान में कांग्रेस-बीजेपी के बीच छिड़ा ‘डिजिटल वॉर’, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘एक्स’ पर आमने-सामने आए डोटासरा-राठौड़

REPORT TIMES 

Advertisement

राजस्थान में दो नेताओं की सियासी लड़ाई ने अब डिजिटल रूप ले लिया है. इस वक्त राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा और भाजपा नेता राजेंद्र राठौड़ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘एक्स’ पर आमने सामने हैं. दोनों की लड़ाई तू-तू मैं-मैं पर आ गई है, और अब वे एक दूसरे पर गंभीर आरोप लगाते हुए जमकर निशाना साध रहे हैं. गुरुवार को डोटासरा का नाम लिए बिना राजेंद्र राठौड़ ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर लिखा, ‘युवा आज भी पूछ रहे हैं – एक ही परिवार से 4-4 आरएएस बनना संयोग था या प्रयोग?’. इस पर डोटासरा ने पलटवार करते हुए लिखा, ‘हमारे यहां बच्चों को मेहनत करने और पढ़ने की शिक्षा दी जाती है, टोल, बजरी और शराब के धंधे की नहीं ‘.

Advertisement

Advertisement

गौरतलब है कि, गोविन्द सिंह डोटासरा के परिवार में एक साथ 4 लोगों का राजस्थान प्रशासनिक सेवा (RAS) में चयन हुआ था. इस पर कई सवाल भी उठे थे. इन चार लोगों में डोटासरा के बेटे का भी नाम था जो RAS में चयनित हुए थे. राठौड़ और डोटासरा की ज़ुबानी जंग राजस्थान विधानसभा चुनाव से शुरु हुई थी. तब डोटासरा ने राठौड़ पर काफी ज़ुबानी हमले किये थे. अपनी सीट चूरू को छोड़कर तारानगर जाने पर भी डोटासरा ने राठौड़ पर जमकर निशाना साधा था. गुरुवार को राठौड़ ने ट्वीट करते लिखा, इतना भी गुमान ना कर अपनी जीत पर ऐ बेखबर, शहर में तेरी जीत से ज्यादा चर्चे तो मेरी हार के हैं. सीकर वाले नेताजी, इतना भी अहंकार ठीक नहीं है. हार और जीत एक सिक्के के दो पहलू है. अभी एक परीक्षा और बाकी है. युवा आज भी पूछ रहे हैं – एक ही परिवार से 4-4 आरएएस बनना संयोग था या प्रयोग ? युवाओं के सपनों के सौदागरों को माफ नहीं किया जाएगा. जवाब तो देना ही पड़ेगा’ इसके जवाब में राठौड़ की पोस्ट को शेयर करते गोविन्द सिंह डोटसारा ने लिखा, गलतफहमी ना पाल, ये जनता का पर्चा है तेरे सिर्फ़ टोल, बजरी, भूमाफिया होने की चर्चा है काश. अवैध अड्डों से इतर तारानगर वाले नेताजी की जनता में भी चर्चा रहती तो जवाब सदन में मिलता. और हां. अहंकार नहीं, स्वाभिमान है! हमारे यहां बच्चों को मेहनत करने और पढ़ने की शिक्षा दी जाती है, टोल, बजरी और शराब के धंधे की नहीं. अगली परीक्षा के लिए शुभकामनाएं.

Advertisement
Advertisement

Related posts

Sridevi Death Anniversary: जाने कैसे थे श्रीदेवी की मौत के वो आखिरी पल, इनको किया था याद

Report Times

सचिन पायलट ने करणपुर जीत पर कहा- ‘जनता जवान और किसान कांग्रेस के साथ’

Report Times

गैस गीजर से बाथरूम बना ‘मौत का चैंबर’! नहाते समय पति-पत्नी की मौत; 9 साल के मासूम का घुटा दम

Report Times

Leave a Comment