Report Times
Otherझुंझुनूंटॉप न्यूज़ताजा खबरेंदेशप्रदेश

मेडिकल काॅलेज भवन निर्माण; पहले टेंडर रद्द होने व कार्य एजेंसी बदलने से 1 साल देरी, नए टेंडर 11 काे

reporttimes

मेडिकल काॅलेज के शिलान्यास काे लेकर संशय खत्म हाेने का नाम नहीं ले रहा है। कार्यकारी एजेंसी बदलने के बाद अब टेंडर प्रक्रिया काे लेकर भी उलझन बढ़ रही है। पहले नए सिरे से हुए टेंडराें काे 2 मई से 10 मई तक बढ़ाया था। अब 11 मई काे इन टेंडराें काे खाेले जाने की संभावना है। इसके बाद ही काॅलेज के शिलान्यास काे लेकर काेई फैसला हाे सकता है। दूसरी ओर इस मामले काे लेकर युवाओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने चिकित्सा मंत्री परसादीलाल मीणा से बात कर जल्द शिलान्यास कराने की मांग की।

Advertisement

प्रदेश के चार नए खुलने वाले मेडिकल काॅलेजाें के भवन निर्माण में हाे रही देरी काे लेकर सरकार ने कार्यकारी एजेंसी एचएससीसी के प्राेजेक्ट से हटने के बाद आरएसआरडीसी काे कार्यकारी एजेंसी नियुक्त करते हुए नए सिरे से टेंडर प्रक्रिया कराने के निर्देश दिए। जिसके बाद आरएसआरडीसी ने इसके लिए टेंडर मांगे। टेंडर आने के बाद 2 मई काे टेक्निकल और फाइनेंशियल बिड़ खाेली जानी थी। लेकिन इसे बढा दिया गया। पीएमओ डाॅ. वीडी बाजिया ने बताया कि मेडिकल काॅलेज के लिए अब 11 मई काे टेंडर खाेले जाएगे।

Advertisement

टेंडर काे लेकर 14 बैठक हुई, नाै बार निगाेशियेशन, नतीजा शून्य

Advertisement

झुंझुनूं जिला मुख्यालय पर बनने वाले मेडिकल काॅलेज में लगातार देरी हाेती जा रही है। पहले स्थानीय जनप्रतिनिधियाें की आपसी खींचतान के कारण से देरी हुई और उसके बाद टेंडर प्रक्रिया काे लेकर मामला फंस गया था। अब तक 14 बार टेंडर प्रक्रिया पूरी करने की कवायद हाे चुकी है। लेकिन हर बार सहमति नहीं बनने से बात नहीं बन सकी। एचएससीसी द्वारा कराई गई टेंडर प्रक्रिया में रेट टेंडर की तय वैल्यू से 9 फीसदी ज्यादा रेट आने के कारण इसका समाधान नहीं हाे पाया।

Advertisement

इसके बाद निगाेशियेशन के लिए कई बार बैठक हुई। लेकिन नियमाें में नहीं आने के कारण से पूरी टेंडर प्रक्रिया काे ही निरस्त कर दिया गया। इसके बाद सरकार ने आरएसआरडीसी काे कार्यकारी एजेंसी बनाते हुए नए सिरे से टेंडर प्रक्रिया कराने के निर्देश दिए थे। जिसके बाद आरएसआरडीसी ने टेंडर प्रक्रिया प्रारंभ कर दी। इसमें टेंडर की ऑनलाइन आवेदन 10 मई तक हाे रहे है। इसके बाद 11 मई से ऑनलाइन टेंडर खोले जाएंगे।

Advertisement

एचएससीसी से प्राेजेक्ट रिपाेर्ट और नक्शे नहीं मिले, छह महीने की हाेगी देरी
जिले के मेडिकल काॅलेज के बनाई गई प्राेजेक्ट रिपाेर्ट और नक्शाें काे लेकर भी संशय पैदा हाे गया है। इसमें एचएससीसी कंपनी द्वारा 2020 से प्राेजेक्ट रिपाेर्ट, डीपीआर और बिल्डिंग के नक्शे व अटैच हाेने वाले अस्पताल काे लेकर पूरा प्राेजेक्ट तैयार किया जा चुका था। अब कार्यकारी एजेंसी बदलने के बाद आरएसआरडीसी के लिए इन्हे हासिल करना बड़ी चुनाैती हाेगा।

Advertisement

आरएसआरडीसी काे नए सिरे से प्राेजेक्ट रिपाेर्ट बनानी पड़ी ताे मेडिकल काॅलेज के शिलान्यास में छह महीने तक की देरी हाे सकती है। सूत्राें ने बताया कि प्राेजेक्ट रिपाेर्ट और डीपीआर काे लेकर दाेनाे कंपनियाें की बात चल रही है। जल्द ही इसका समाधान हाे सकता है।

Advertisement

चिकित्सा मंत्री से टेंडर व शिलान्यास कराने की मांग
मेडिकल कॉलेज के शिलान्यास को लेकर ऑल इंडिया मेडिकल स्टूडेंट्स एसोसिएशन यूनाइटेड के अध्यक्ष भरत बेनीवाल के नेतृत्व में युवाओं के प्रतिनिधिमंडल ने चिकित्सा मंत्री परसादीलाल मीणा से मिले। जिन्होंने टेंडर प्रक्रिया जल्द कराने काे लेकर आश्वासन दिया है। इसमें एक महीने में टेंडर प्रक्रिया पूरी करने के बाद सभी सात कॉलेजों का शिलान्यास कराने की बात कही।

Advertisement
Advertisement

Related posts

आत्मविश्वास का आम बजटः क्या अति विश्वास में है मोदी सरकार? क्या हैं राजनीतिक संकेत

Report Times

उत्तराखंड की महिलाओं को 30 फीसदी आरक्षण पर लगी रोक, यूपी-हरियाणा की महिला अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट में दायर की थी याचिका

Report Times

इस डेट तक घोषित हो सकता है 10वीं, 12वीं का रिजल्ट, टाॅपर्स लिस्ट भी होगी जारी

Report Times

Leave a Comment