Report Times
Other

8000 कमजोर बूथों की पहचान, 30 नए सदस्यों को जोड़ने का लक्ष्य: BJP का मिशन-2024

REPORT TIMES

Advertisement

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुट चुकी है। गुरुवार को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने महासचिवों के साथ पार्टी मुख्यालय में बैठक की। इस बैठक में बूथों को मजबूत करने पर ध्यान केंद्रिय किया गया। आपको बता दें कि इसी साल मई महीने में भाजपा ने पार्टी के लिए 78,000 कमजोर बूथों की पहचान की थी। साथ ही फैसला किया था कि इनमें से प्रत्येक बूथ पर कम से कम 30 नए सदस्यों को पार्टी से जोड़ा जाएगा। केंद्रीय मंत्रियों के एक दल के साथ-साथ लोकसभा और राज्यसभा सांसदों को भी इस काम पर लगाया गया है। सांसदों को 100-100 बूथ दिए गए हैं। केंद्रीय मंत्रियों के हिस्से में राज्यों की जिम्मेदारी दी गई है। आपको बता दें कि भाजपा के इस कार्यक्रम का पहला चरण 31 अगस्त को समाप्त हुआ। इस दौरान पार्टी ने इनमें से प्रत्येक बूथ से पिछले तीन चुनावों के वोटिंग पैटर्न और वहां भाजपा के वोट शेयर को इकट्ठा किया है। साथ ही इसकी एक रिपोर्ट तैयार की गई है। इससे भाजपा को इस बात का स्पष्ट अंदाजा हो गया है कि किस बूथ पर कौन उसके मतदाता थे और किन लोगों को पार्टी की विचारधारा से जोड़ना है।

Advertisement

Advertisement

सांसदों द्वारा तैनात किए गए स्वयंसेवकों के एक समूह ने सभी बूथों का दौरा किया और मतदाताओं से बातचीत की। उसके बाद उन्होंने अपनी रिपोर्ट ‘सरल’ नामक एक विशेष सॉफ्टवेयर पर अपलोड की। दस्तावेजों को अपलोड करने से पहले उन्हें क्षेत्र के प्रभारी सांसद के मोबाइल फोन पर भेजे गए वन-टाइम पासवर्ड भी डलना पड़ता है। इसके बाद यह डेटा राज्य से केंद्र स्तर तक डिजिटल तरीके से अपडेट हो जाता है।

Advertisement

बीजेपी नेताओं ने गुरुवार को हुई इस बैठक के दौरान कई राज्यों में डाटा अपलोडिंग का काम पूरा होने पर संतोष जताया। राजस्थान जैसे कुछ राज्यों में कुछ काम बाकी है, जो सितंबर में पूरा हो जाएगा। यूपी और बिहार जैसे राज्य पहले ही अगले चरण की ओर बढ़ चुके हैं। यहां वरिष्ठ नेता अब इन बूथों पर जाकर मतदाताओं से सीधे संवाद कर रहे हैं।

Advertisement

इसके अलावा गुरुवार की इस बैठक में 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के लिए तय किए जाने वाले कार्यक्रमों पर भी चर्चा हुई। भाजपा महासचिव (संगठन) बीएल संतोष ने शुक्रवार को सभी भाजपा शासित राज्यों के प्रभारी के साथ बैठक की। इससे पहले पीएम मोदी की बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों और डिप्टी सीएम के साथ दो बैठकें पिछले साल दिसंबर (वाराणसी में) और जुलाई (दिल्ली) में हुई थीं।

Advertisement
Advertisement

Related posts

चिड़ावा : यहां शिल्पदेव के समीप है महादेव का वास

Report Times

पटना में बैंगनी रंग के नीलकंठ आलू की पैदावार शुरू:कैंसर सेल को पनपने से रोकेगा

Report Times

खुश खबर: चिड़ावा में 170 की रिपोर्ट नेगेटिव!

Report Times

Leave a Comment