Report Times
latestOtherटॉप न्यूज़ताजा खबरेंदेशराजनीति

अध्यक्ष के चुनाव से कितना खत्म होगा कांग्रेस का तनाव? कुछ देर में नतीजा; कैसे मिल सकता है फायदा

REPORT TIMES 

Advertisement

कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव का नतीजा कुछ ही घंटे में आना वाला है। दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में आज सुबह 10 बजे से ही वोटों की गिनती चल रही है। इस बीच शुरुआती रुझान आने लगे हैं, जिससे साफ है कि मल्लिकार्जुन खड़गे ही कांग्रेस के बिग बॉस बनने वाले हैं। पोलिंग एजेंट प्रमोद तिवारी ने इसके संकेत देते हुए कहा है कि 90 फीसदी वोट मल्लिकार्जुन खड़गे को ही पड़े हैं। हालांकि इस शशि थरूर की ओर से चुनाव समिति के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री को चिट्ठी लिखकर आपत्ति जताई थी कि वोटिंग सही से नहीं हुई है। सूत्रों का कहना है कि उनकी शिकायत का निपटारा कर दिया गया है और वोटों की गिनती फिर से शुरू हो गई है।

Advertisement

दरअसल यह चुनाव कांग्रेस के लिए ऐतिहासिक है। 137 साल पुरानी पार्टी में छठी बार अध्यक्ष पद के लिए चुनाव हो रहा है और 24 सालों के बाद कोई गैर-गांधी नेता अध्यक्ष बनने जा रहा है। मल्लिकार्जुन खड़गे यदि अध्यक्ष बनते हैं तो कांग्रेस को एक साथ कई फायदे मिल सकते हैं। हालांकि इसमें कांग्रेस की ओर से कैसे प्रचार किया जाता सकता है और आम लोगों में उसे लेकर क्या धारणा बनती है, यह अहम है। मल्लिकार्जुन खड़गे गरीब दलित परिवार से आते हैं। छात्र जीवन से राजनीति की है। ऐसे में कांग्रेस के पास यह मौका होगा कि वह परिवारवाद के टैग से बाहर निकलते हुए दलित समाज के एक शख्स को अध्यक्ष बनाने की बात को भुनाए।

Advertisement

Advertisement

क्या ‘BDM’ वोटबैंक को फिर मजबूत कर पाएगी कांग्रेस

Advertisement

कांग्रेस पर भाजपा और खासतौर पर पीएम नरेंद्र मोदी की ओर से वंशवाद को लेकर हमला बोला जाता रहा है। अब गांधी परिवार बैक सीट पर चला गया है तो कांग्रेस जरूर इसे प्रचारित करना चाहेगी। इसके अलावा कांग्रेस के लिए बड़ा फायदा यह भी हो सकता है कि वह देश भर में दलितों को लुभाने की कोशिश करे। एक दौर में कांग्रेस को दलित, ब्राह्मण और मुस्लिमों के बीच पैठ रखने वाला दल माना जाता था। लेकिन आज के दौर में ऐसी स्थिति नहीं है। वह किसी भी समुदाय में पहले जैसी पैठ नहीं रखती है। ऐसे में मल्लिकार्जुन खड़गे के जरिए वह दलित वोटों पर भी दावेदारी कर सकती है।

Advertisement

दलित वोटों में क्यों स्पेस देख रही है कांग्रेस

Advertisement

ऐसे में दौर जब मायावती कमजोर पड़ रही हैं, तब दलित वोटों में कांग्रेस एक स्पेस देख सकती है। इस तरह मल्लिकार्जुन खड़गे के अध्यक्ष बनने से कांग्रेस को फायदा मिल सकता है। कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव के बहाने आंतरिक लोकतंत्र की मिसाल पेश करने की कोशिश कर रही है। इससे भाजपा समेत अन्य दलों पर भी वह दबाव बनाने की कोशिश करेगी।

Advertisement
Advertisement

Related posts

जाट महाकुंभ से पहले गहलोत सरकार की बड़ी सौगात, वीर तेजाजी कल्याण बोर्ड का किया गठन

Report Times

तहसीलदार को घूस देने के लिए नहीं थे 2 लाख रुपए, बेबस किसान ने गिरवी रख दिए बच्चे

Report Times

बेंगलुरु अपराध: पुलिस ने ₹90 लाख मूल्य के प्रतिबंधित मादक पदार्थ जब्त किए

Report Times

Leave a Comment