Report Times
latestOtherटॉप न्यूज़ताजा खबरेंदेशराजनीतिस्पेशल

क्या मोदी-जिनपिंग मुलाकात में उठा था बॉर्डर का मुद्दा? संसद में चिदंबरम के केंद्र से तीखे सवाल

REPORT TIMES

Advertisement

अरुणाचल प्रदेश में भारत चीन सीमा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई भिड़ंत के मामले में विपक्ष लगातार ही केंद्र सरकार को घेर रहा है. अब कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने मोदी सरकार से सवाल पूछे हैं. दरअसल राज्यसभा में विनियोग विधेयक पर चर्चा में हिस्सा ले रहे चिदंबरम ने सरकार से पूछा है कि क्या पिछले महीने इंडोनेशिया के बाली में जी20 समिट के दौरान जब पीएम नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मुलाकात हुई थी तो उस दौरान सीमा पर चल रहे गतिरोध का मुद्दा उठाया गया था.

Advertisement

उन्होंने पूछा कि क्या पूर्वी लद्दाख में हॉट स्प्रिंग को लेकर चीन ने कुछ भी स्वीकार किया है? क्या भारतीय सेना ने जिन इलाकों में प्रेट्रोलिंग जारी थी उनमें बफर जोन बनने के बाद पेट्रोलिंग बंद कर दी है? क्या चीन डोकलाम जंक्शन और डेपसांग प्लेन्स के फ्रिक्शन पॉइंट्स पर बातचीत करने के लिए तैयार हुआ था? चिदंबरम ने यह सवाल उस वक्त उठाए जब वह केंद्र सरकार ने चर्चा में 500 करोड़ रुपए के डिफेंस कैपिटल फंड की मांग की गई है जो कि नॉर्थ ईस्ट में स्ट्रेटिजिक सड़कों पर खर्च किए जाने हैं.

Advertisement

Advertisement

झड़प के बाद क्या बोले थे राजनाथ

Advertisement

अरुणाचल के तवांग जिले में 9 दिसंबर को यांग्त्से सेक्टर में भारतीय सैनिकों और चीनी सैनिकों के बीच बॉर्डर पर भिड़ंत हुई थी. इससे पहले 2020 जून में ऐसी घटना सामने आई थी. जिसमें दोनों देशों की सेनाओं के बीच झड़प हुई थी. इस पूरे मामले पर केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने पिछले हफ्ते संसद में कहा था कि चीनी सैनिकों ने अरुणाचल में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर को लांघने की कोशिश की थी लेकिन भारतीय जवानों ने उन्हें वापस ढकेल दिया था.

Advertisement

विपक्षी दल एलएसी पर स्थिति पर चर्चा की मांग कर रहे हैं लेकिन सरकार की ओर से इसे खारिज किया गया है. चिदंबरम ने सवाल उठाते हुए कहा, ‘यह सभी नोर्थ ईस्ट के स्ट्रेटेजिक और बॉर्डर रोड हैं. हमें पता है कि कौन उत्तरी और पूर्वी इलाके में बॉर्डर पर खतरा बन रहा है.’ चिदंबरम ने सरकार से यह जानकारी भी मांगी कि चीन ने बॉर्डर पर कितना इंफ्रास्ट्रक्चर बना लिया है? उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा है कि, ‘हमें पता है कि उन्होंने सड़कें, पुल, सेटलमेंट्स, हेलिपैड्स और अन्य कम्यूनिकेशन के साथ बना लिए हैं.चीन कितना बड़ा इंफ्रास्ट्रक्चर बना रहा है?

Advertisement

 

Advertisement

 

Advertisement
Advertisement

Related posts

जगदीप धनखड़ बने देश के 14वें उपराष्ट्रपति, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने दिलायी शपथ

Report Times

चिड़ावा : यहां मार्केट में एक साथ विराजे हैं तीन शिवलिंग

Report Times

जयपुर : एक ही परिवार के 4 जनों ने की आत्महत्या

Report Times

Leave a Comment