Report Times
latestOtherजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंमेडीकल - हैल्थराजनीतिराजस्थानस्पेशल

Right To Health किसी हाल में नहीं मंजूर- बोले डॉक्टर्स, सरकार से बातचीत फेल

REPORT TIMES 

Advertisement

जयपुर: राजस्थान में गहलोत सरकार ने 21 मार्च को विधानसभा में राइट टू हेल्थ बिल पारित करवा दिया है लेकिन बिल को लेकर अभी भी बवाल मचा हुआ है जहां पिछले 7 दिन से डॉक्टर कानून को वापस लेने पर अड़े हैं. जानकारी के मुताबिक सीएम अशोक गहलोत, मंत्री और आला अधिकारियों की हड़ताल वापस लेने की अपील भी बेअसर दिखाई दे रही है और इधर डॉक्टर टस से मस होने का नाम नहीं ले रहे हैं. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा ने रविवार को कहा कि हमनें सारी मांगें मान ली उसके बावजूद वह वादाखिलाफी कर रहे हैं और सरकार किसी भी हाल में बिल वापस नहीं लेगी. वहीं इधर राइट टू हेल्थ बिल के विरोध में हड़ताल पर चल रहे डॉक्टर्स के साथ रविवार को हुई सरकार से वार्ता फिर विफल हो गई. बता दें कि रविवार को सचिवालय में अतिरिक्त मुख्य सचिव अखिल अरोड़ा, प्रमुख सचिव टी रविकांत और जयपुर कलेक्टर की मौजूदगी में डॉक्टर्स से वार्ता हुई जहां डॉक्टरों का कहना था कि उन्हें राइट टू हेल्थ बिल मंजूर नहीं है और कानून वापस लिया जाना चाहिए. इधर जयपुर में रविवार को विरोध कर रहे डॉक्टरों ने पहले एसएमएस अस्पताल में मीटिंग कर जवाहर सर्किल तक कार रैली निकाली. वहीं सीएम गहलोत ने भी रविवार को बिल को लेकर भ्रामकता से दूर रहने का कहते हुए हड़ताल खत्म करने की अपील की.

Advertisement

Advertisement

सरकार ले सकती है सख्त एक्शन

Advertisement

वहीं राइट टू हेल्थ बिल पर चल रहे विरोध को देखते हुए सरकार अब सख्त एक्शन लेने के मूड में दिखाई दे रही है. बताया जा रहा है कि सरकार ने प्रदेशभर के प्राइवेट हॉस्पिटल्स की पूरी जानकारी विभाग से मांगी है जिसमें नियमों का पालन नहीं करने वाले हॉस्पिटल्सों की जानकारी जुटाई जाएगी. वहीं कई इलाकों में हॉस्पिटल्स नक्शे के मुताबिक नहीं बने हैं और नियमों की धांधली हुई है जिन पर सरकार अब एक्शन लेते हुए इस आंदोलन पर लगाम लगा सकती है.

Advertisement

कल मेडिकल सेवाएं बंद की घोषणा

Advertisement

इधर बिल के विरोध की आग अब राज्य के बाहर देशभर में फैलने के आसार बनते दिख रहे हैं जहां इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने सभी डॉक्टरों से 27 मार्च को मेडिकल सेवाएं बंद करने का आह्वान किया है. आईएमए के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. शरद अग्रवाल ने लेटर जारी कर आंदोलन को समर्थन करते हुए कहा है कि 27 मार्च को संगठन के सभी डॉक्टर देशभर में मेडिकल सेवाएं बंद रखेंगे.इसके अलावा प्राइवेट हॉस्पिटल एवं नर्सिंग होम सोसाइटी के सचिव डॉ. विजय कपूर ने जानकारी दी कि 27 मार्च सोमवार को जयपुर में डॉक्टरों की एक महारैली निकाली जाएगी जिसमें प्रदेशभर के डॉक्टर्स जयपुर पहुंचकर इसमें शामिल होंगे.

Advertisement
Advertisement

Related posts

गुढ़ागौड़जी बाजार में बाइक सवारों ने व्यापारी पर फायरिंग, व्यापारी को थमा गए डिमांड पर्ची, लोगों में दहशत

Report Times

हमारा बेटा हमें ढूंढ के ला दो, दो माह से चेहरा नहीं देखा; एसपी ने दिया जल्द ढूंढने का दिया आश्वासन

Report Times

जलदाय कार्यालय में विरोध प्रदर्शन : मुख्य पाइप लाइन में लीकेज, लेकिन जलदाय विभाग कर रहा अनदेखी

Report Times

Leave a Comment