Report Times
latestOtherकरियरकार्रवाईक्राइमचूरूटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजस्थानस्पेशल

‘2 साल चली कानूनी लड़ाई, लाखों खर्च’, DNA सैंपल से पता चला चोरी हुई गाय का असली मालिक कौन?

REPORT TIMES 

Advertisement

सरदारशहर:राजस्थान के सरदारशहर में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. एक शख्स की किसी ने गाय चुरा ली. हैरत की बात तो ये कि पीड़ित को उसकी गाय के बारे में पता भी लग गया. जब उसने आरोपी से गाय लौटाने की बात की तो वह मुकर गया. आरोपी ने दावा किया कि गाय उसकी है. मामला पुलिस तक पहुंचा. इसके बाद गाय का डीएनए टेस्ट हुआ. इस आधार पर पीड़ित को उसकी गाय मिल गई. हालांकि, इस क्रम में उसे तमाम कानूनी चुनौतियों और परेशानियों का सामना करना पड़ा. पूरा मामला सरदारशहर का है. रामनगर बास के रहने वाले 70 वर्षीय बुजुर्ग दूलाराम डारा की 11 फरवरी 2021 की गाय चोरी हो गई थी. दूलाराम ने इस संबंध में एक शिकायत भी पुलिस थाने में दर्ज कराई थी. हालांकि, यह मामला तब सुर्खियों में आ गया था, जब बुजुर्ग गाय चोरी को लेकर बीएसएनएल के एक टावर पर चढ़ गया था. संयोग देखिए उसी दिन उपचुनाव के प्रचार को लेकर सीएम गहलोत भी इलाके में आए थे. इसके बाद बीकानेर के आईजी ने गाय चोरी की जांच बदलकर तारानगर डीएसपी ओमप्रकाश को सौंप दी थी.

Advertisement

Advertisement

डीएनए जांच से मामले का हुआ खुलासा

Advertisement

डीएसपी ओमप्रकाश गोदारा के मुताबिक, चोरी हुई गाय और पीड़ित के घर पर बंधी गाय की मां का डीएनए जांच हुआ. यह डीएनए सैंपल जांच के लिए हैदराबाद भेजा गया था.रिपोर्ट में यह पता चला कि गाय दुलाराम की ही है. इसके बाद पुलिस ने गंगाराम कुम्हार के घर से गाय को ले जाकर दुलाराम को सौंप दिया.

Advertisement

मारपीट कर गाय को वापस ले गए

Advertisement

दुलाराम डारा के मुताबिक, गाय चोरी होने के 10 महीने बाद एक व्यक्ति ने फोन कर बताया कि उसकी गाय एक बाजार में देखी गई है. सूचना पर बाजार जाकर दुलाराम अपनी गाय खोल लाया. इसी बीच, अचानक ही काफी संख्या में लोग उसके घर आ धमके और मारपीट कर गाय को वापस छुड़ा ले गए. हालांकि, दुलाराम ने अब कहा है कि गाय मुझे मिल चुकी है. लेकिन, आरोपी गंगाराम सहित अन्य के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए.

Advertisement

आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई हो

Advertisement

वहीं, पीड़ित बुजुर्ग की पत्नी माली देवी के मुताबिक, उसके पति ने ठान लिया था कि वह अपनी गाय लेकर रहेंगे. इस दौरान उनके 10 बीघा जमीन भी बिक गए. बता दें कि गाय का जन्म दुलाराम के घर 26 जनवरी को हुआ था. इसलिए दुलाराम में गाय का नाम भारत माता रख दिया था. गाय की जब चोरी हुई थी तो वह गर्भवती थी.

Advertisement
Advertisement

Related posts

सुलताना कस्बे में पेयजल की भारी किल्लत

Report Times

सरला पाठशाला की टीचर दीदी को मिला वूमेंस अचिवमेंट्स अवार्ड : युवा रक्त वाहिनी राजस्थान और सर्व समाज सेवा समिति ने किया सम्मानित

Report Times

मां ने 2 बच्चों को कुएं में फेंका, फिर खुद पर केमिकल डालकर लगाई आग; तीनों की मौत

Report Times

Leave a Comment