Report Times
latestOtherकरियरजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजनीतिराजस्थानस्पेशल

राजस्थान BJP के कार्यक्रमों में अब लगेंगे सिर्फ ये नारे, गुटबाजी के चलते पार्टी का बड़ा फैसला

REPORT TIMES

Advertisement

जयपुर: राजस्थान विधानसभा चुनावों से पहले राज्य की बीजेपी में गुटबाजी खत्म करने के लिए पार्टी आलाकमान ने रास्ता निकाल लिया है. दरअसल, सामने चुनावों को देखते हुए प्रदेश बीजेपी के कई बड़े नेताओं की महात्वाकांक्षाएं सीएम पद की दावेदारी को लेकर जाग गई हैं. ऐसे नेताओं के समर्थक भी मौका देखकर अपने अपने नेता के पक्ष में नारेबाजी और गुटबाजी करने में लग जाते हैं. आलम ये है कि जहां भी बीजेपी की कोई छोटी बड़ी सभा होती है. तो उस इलाके के नेता के समर्थक अपने नेता का नाम लेकर उनके पक्ष में नारे लगाते हैं. इस नारेबाजी का मैसेज बाकी नेताओं और उनके समर्थकों में गलत जाता है. यही हाल जिले से लेकर मंडल और प्रदेश तक की बैठकों में देखने में मिलता है. लेकिन अब इस नारेबाजी और गुटबाजी को रोकने के लिए बीजेपी आलाकमान ने उपाय निकाला है. पार्टी ने तय किया है कि अब छोटी बड़ी, जिला या प्रदेश स्तर की बैठक में किसी नेता या मंत्री का व्यक्तिगत नारा नहीं लगेगा.

Advertisement

Advertisement

राजस्थान में खत्म करनी है पार्टी के अंदर की गुटबाजी

Advertisement

बीजेपी सूत्रों के मुताबिक पार्टी के सभी राजनीतिक सभाओं में सिर्फ भारत माता की जय, बीजेपी और पीएम मोदी के ही नारे लगेंगें. किसी भी नेता या मंत्री के नाम से नारे नहीं लगेंगें. पार्टी को लगता है कि ऐसा करके राजस्थान बीजेपी में गुटबाजी को खत्म कर सामूहिकता और एकजुटता के संदेश के साथ चुनाव में जाने से पार्टी को फायदा होगा.

Advertisement

पार्टी में शामिल होंगे कई चेहरे

Advertisement

साथ ही पार्टी ने तय किया है कि राजस्थान बीजेपी में नेताओं और अधिकारियों को शामिल कराने के सिलसिले में तेजी लाई जाएगी. सोमवार को ही कांग्रेस के सीनियर नेता और पूर्व सीएम जगन्नाथ पहाड़िया के पुत्र ओमप्रकाश पहाड़िया और पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल के भतीजे विजेंद्र सिंह समेत सचिव और डीजी स्तर के कई अधिकारी बीजेपी में शामिल हुए. पार्टी ने तय किया है कि चुनावों के पहले बीजेपी का कुनबा और बढाया जाएगा. जिसके लिए हर 10 दिन के अंतराल पर पार्टी मे 5-6 चेहरों को शामिल कराया जाएगा. इसमें दूसरे दलों के वरिष्ठ नेता, विधायक और वरिष्ठ अधिकारी होंगे. बीजेपी ये सभी ज्वाईनिंग दिल्ली के बजाए जयपुर में कराएगी. ताकि जनता और शामिल होने वाले नेताओं के समर्थकों में अच्छा संदेश जाए. करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र कालवी के बेटे भवानी कालवी भी बीजेपी के संपर्क में हैं और जल्द ही बीजेपी में शामिल हों सकते हैं.

Advertisement

बीजेपी इन नारों का लेती है सहारा

Advertisement

इसके साथ ही राजस्थान की कांग्रेस सरकार को घेरने के लिए बीजेपी नारों का सहारा ले रही है. अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ रोजगार, कानून व्यवस्था, भ्रष्टाचार, पेपरलीक के मुद्दे पर जनता तक अपनी बात पहुंचाने के लिए बीजेपी ने नारे भी तैयार किए है जिसका थीम है नहीं सहेगा राजस्थान. ऐसे ही कुछ स्लोगन है.. अपराध बेलगाम, नहीं सहेगा राजस्थान! भ्रष्टाचार का फैला जाल, नहीं सहेगा राजस्थान! पेपरलीक से युवा परेशान, नहीं सहेगा राजस्थान! बीजेपी ने इन तमाम मुद्दों पर अशोक गहलोत सरकार को घेरने के लिए जुलाई के आखिर में जयपुर समेत पूरे प्रदेश में महाजनाक्रोश रैली निकालने का फैसला भी किया है.

Advertisement
Advertisement

Related posts

गणेश मन्दिर से चोरों ने चुराया चांदी का छत्र

Report Times

ओलंपिक मिशन 2028 के तहत सीकर में 21 फरवरी को होगा जिला स्तरीय शिविर

Report Times

चिड़ावा : भक्त शिरोमणि श्यामा बाई के स्मृति स्थल पर विराजे हैं महादेव

Report Times

Leave a Comment