Report Times
latestOtherजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंधर्म-कर्मराजनीतिराजस्थानस्पेशल

कर्नाटक के बाद अब राजस्थान के स्कूलों में हिजाब पर बवाल, क्या बैन करेगी बीजेपी सरकार?

REPORT TIMES 

Advertisement

कर्नाटक के बाद अब राजस्थान में हिजाब को लेकर विवाद शुरू हो गया है. राजस्थान में शैक्षणिक संस्थानों में हिजाब पहनने को लेकर बैन लगाने की तैयारी हो रही है. कयास लगाए जा रहे हैं की सूबे की भजनलाल सरकार हिजाब पर प्रतिबंध लगा सकती है, जिसके बाद अब इस मामले को लेकर प्रदेश की सियासत गरमा गई है. प्रदेश के शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने इस मामले में शिक्षा विभाग को आदेश दिया है कि दूसरे राज्यों में हिजाब बैन के स्टेटस की रिपोर्ट तैयार की जाए, साथ ही राजस्थान में इसका क्या प्रभाव पड़ेगा इसकी भी रिपोर्ट तैयार की जाए. सूत्रों के मुताबिक शिक्षा विभाग उच्च स्तर पर हिजाब बैन मामले में रिपोर्ट तैयार करेगा और उसे शिक्षा मंत्री मदन दिलावर को भेजेगा.

Advertisement

Advertisement

मंत्री किरोड़ी लाल ने की हिजाब बैन की सिफारिश

Advertisement

उधर कैबिनेट मंत्री किरोड़ी लाल मीणा ने भी हिजाब और बुर्का पर प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की है. उनका कहना है कि ऐसे कई मुस्लिम देश हैं जहां हिजाब पर प्रतिबंध है, ऐसे में भारत में हिजाब पहनना क्यों जरूरी है. यहां भी दूसरे देशों की तरह बुर्का और हिजाब पर प्रतिबंध होना चाहिए. कैबिनेट मंत्री का ये भी कहना है कि सभी स्कूलों में समान ड्रेस कोड होना चाहिए.

Advertisement

विधायक बालमुकुंद आचार्य ने उठाया मुद्दा

Advertisement

दरअसल जयपुर की हवा महल सीट से विधायक बालमुकुंद आचार्य ने राजस्थान में हिजाब पहनने को लेकर सवाल उठाया था. जानकारी के मुताबिक गणतंत्र दिवस के मौके पर बालमुकुंद आचार्य एक स्कूल पहुंचे थे इस दौरान उन्होंने सवाल किया था कि क्या स्कूल में दो तरह के ड्रेस कोड हैं. विधायक ने स्कूल में एक ड्रेस कोड होने की वकालत की थी.

Advertisement

बालमुकुंद के खिलाफ छात्राओं का प्रदर्शन

Advertisement

विधायक बालमुकुंद आचार्य की इस बात को लेकर जयपुर में जमकर बवाल हुआ. सोमवार को मुस्लिम छात्राओं ने अपने परिजनों और मुस्लिम समुदाय के लोगों के साथ मिलकर बालमुकुंद आचार्य के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया. इस दौरान छात्राओं ने सुभाष चौक थाने का घेराव किया और विधायक बालमुकुंद से माफी मांगने की मांग की. छात्राओं का कहना था कि स्कूल के कार्यक्रम में आए विधायक ने हिजाब को लेकर जो बातें की और धार्मिक नारे लगवाए वो गलत है और वो लोग इसे बर्दाश्त नहीं करेंगी. छात्राओं ने की मांग है कि विधायक बालमुकुंद आचार्य माफी मांगें.

Advertisement

बालमुकुंद ने कही एक ड्रेस कोड की बात

Advertisement

विरोध प्रदर्शन के बाद विधायक बालमुकुंद ने कहा कि जब वो स्कूल में गए थे तो वहां कुछ बच्चे स्कूल की ड्रेस पहने थे जबकि कुछ हिजाब पहने थे. उन्होंने कहा कि स्कूल में एक जैसा ड्रेस कोड होना चाहिए और सभी लोगों को इसे मानना चाहिए. उन्होंने ये भी कहा कि अगर उनके बच्चे स्कूल में लहंगा चुन्नी पहनकर आएंगे तो क्या ये सही होगा.

Advertisement

कर्वनाटक में भी हिजाब पर पर मचा था बवाल

Advertisement

आपको बता दें कि इससे पहले कर्नाटक में भी शिक्षण संस्थानों में हिजाब बैन की मांग की गई थी. राज्य की पूर्व बीजेपी सरकार ने स्कूलों और कॉलेजों में हिजाब पर बैन लगा दिया था. सरकार के इस फैसले पर न सिर्फ कर्नाटक बल्कि पूरे देश में काफी बवाल मचा था. हालांकि बाद में जब राज्य में मुख्यमंत्री सिद्धारमैया सत्ता में आए तब उन्होंने इस बैन को हटा दिया था. उनका कहना था कि कपड़े पहनना किसी भी इंसान का व्यक्तिगत मामला है वो अपना पसंद के मुताबिक कपड़े पहन सकता है. इस पर बीजेपी ने उन पर लोगों को धार्मिक आधार पर बांटने का आरोप लगाया था.

Advertisement
Advertisement

Related posts

माता वैष्णो देवी मंदिर के मुख्य पुजारी का निधन, लोकसभा अध्यक्ष ने जताया शोक

Report Times

सूर्य पर हुआ भयानक विस्फोट, सोलर ऑर्बिटर प्रोब ने खींची ऐतिहासिक तस्वीर

Report Times

आंगनबाड़ी के लिए खिलौने किए भेंट : ओमप्रकाश हजारीलाल सैनी मेमोरियल सेवा संस्थान की ओर से पहल

Report Times

Leave a Comment