Report Times
latestOtherआरोपकार्रवाईजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजनीतिराजस्थानस्पेशल

126 करोड़ की निकर टी-शर्ट… अशोक गहलोत सरकार की राजीव गांधी ग्रामीण-शहरी ओलंपिक में बड़ा घपला, भजनलाल सरकार कराएगी जांच

REPORT TIMES 

Advertisement

राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की एक और महत्वकांक्षी योजना में घपले का आरोप लगाया गया है. जिसपर कैबिनेट मंत्री ने जांच कराने की बात कही है. मामला राजीव गांधी ग्रामीण, शहरी ओलंपिक से जुड़ा है. इस खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन गहलोत सरकार के समय प्रदेश के अलग-अलग जिलों में किया गया था. अब यह बात सामने आई है कि इस प्रतियोगिता में करोड़ों रुपए का घपला हुआ है. मंगलवार को विधानसभा में बसपा विधायक मनोज न्यांगली ने ग्रामीण ओलिंपिक के आयोजन और इनमें खर्चे को लेकर सवाल उठाया है. उन्होंने सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा कि इस टूर्नामेंट के लिए 126 करोड़ रुपए के टी-शर्ट और निकर खरीदे गए.

Advertisement

Advertisement

बसपा विधायक ने सवाल का खेल मंत्री ने दिया जवाब

Advertisement

बसपा विधायक के उठाए गए सवाल का जवाब देते हुए खेल मंत्री राज्यवर्द्धन राठौड़ ने कहा कि हम ग्रामीण-शहरी ओलिंपिक की जांच के लिए तैयार हैं. कांग्रेस राज में हुए ग्रामीण ओलंपिक खेलों के खर्च की जांच होगी. वित्त विभाग की कमेटी इसकी जांच करेगी. राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि यह चिंता और चिंतन का मुद्दा है कि विभाग का जितना बजट है उसका चार गुणा पैसा खर्च हुआ. कोई स्टेडियम नहीं बना, कोई असेट नहीं बनाया, 126 करोड़ केवल टीशर्ट खरीदने में खर्च हुआ. किन कंपनियों से ये खरीद हुई, टेंडर प्रक्रिया सही थी या नहीं इन सबकी जांच करवाई जाएगी.

Advertisement

राजीव गांधी ओलंपिक में कब कितना खर्च हुआ

Advertisement

इससे पहले बसपा विधायक मनोज के मूल प्रश्न के लिखित जवाब में खेल मंत्री ने बताया कि प्रदेश में राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेल- 2022 में 40 करोड़ 92 लाख 56 हजार 890 रुपए की राशि व्यय हुई. इसी प्रकार राजीव गांधी ग्रामीण एवं शहरी ओलंपिक खेल- 2023 में 155 करोड़ 46 लाख 72 हजार 500 रुपए की राशि खर्च की गई. उन्होंने इन दोनों प्रतियोगिता के आयोजन में हुए व्यय का विवरण सदन के पटल पर रखा.

Advertisement

खेल मंत्री बोले- ओलंपिक खेल में हुए खर्च की होगी जांच

Advertisement

राठौड़ ने बताया कि ग्रामीण ओलंपिक खेलों के आधार पर राज्य, राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के लिए प्रतिभाओं के चयन या सरकारी सेवा में आउट ऑफ टर्न नियुक्ति दिये जाने का प्रावधान नहीं है. कर्नल राठौड़ ने बताया कि ग्रामीण ओलंपिक खेलों में हुए व्यय की अभी तक कोई जांच नहीं हुई है. उन्होंने बताया कि विधायक की मांग को देखते हुए ग्रामीण ओलंपिक खेलों में हुए व्यय की जांच करवाई जाएगी.

Advertisement

आउट आफ टर्न सरकारी सेवा की चयन प्रक्रियाधीन

Advertisement

उन्होंने बताया कि राजस्थान क्रीडा सहायता अनुदान नियम के तहत 7 हजार 145 आवेदन प्राप्त हुए, जिनकी समीक्षा व प्रमाणीकरण पश्चात पात्र खिलाडियों को देय राशि का निर्धारण होगा. उन्होंने बताया कि आउट आफ टर्न सरकारी सेवा में नियुक्ति हेतु 142 खिलाड़ियों के आवेदन चयन प्रक्रियाधीन है. खेल मंत्री ने यह भी कहा कि मुख्य खेल अधिकारी के चयन को लेकर भी किसी तरह की अनियमितता हुई होगी तो उसकी भी जांच कराई जाएगी.

Advertisement
Advertisement

Related posts

सुहाग की लंबी उम्र की कामना को लेकर की वटवृक्ष की पूजा, वृत भी रखा

Report Times

श्रीकृष्ण ने गीता ज्ञान देकर अर्जुन को मोह माया से कराया मुक्त कथा व्यास तिवाड़ी ने की श्रीश्याम कथा के तीसरे दिन गीता उपदेश प्रसंग की व्याख्या

Report Times

छत्तीसगढ़: परिवर्तन से कमल खिलाने का BJP प्लान, जल्द होगा टिकट कंफर्म

Report Times

Leave a Comment