Report Times
latestOtherकार्रवाईक्राइमझुंझुनूंटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजस्थानसोशल-वायरलस्पेशल

राजस्थान में झुंझुनूं SP देवेंद्र कुमार बिश्नोई ने अपराधी पर रखा 50 पैसे का इनाम, आदेश सोशल मीडिया पर हो रहा वायरल

REPORT TIMES 

Advertisement

राजस्थान पुलिस का एक आदेश सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है. इस आदेश में राजस्थान पुलिस ने एक अपराधी पर 50 पैसे का इनाम घोषित किया है. इनाम की यह राशि अपराधी को पकड़वाने वाले व्यक्ति को मिलेगा. सोशल मीडिया में आदेश की कॉपी वायरल होने के बाद लोग तरह तरह के कमेंट कर रहे हैं. लोग इस आदेश पर सवाल उठा रहे हैं. पुलिस से पूछ रहे हैं कि आखिर 50 पैसे इनाम के लिए कौन व्यक्ति पुलिस की मुखबिरी कर सकता है. हालांकि अब पुलिस ने इस मामले में सफाई दी है. कहा है कि इनाम की राशि लिखने में मानवीय भूल हुई है और इसे सुधारा जा रहा है. मामला राजस्थान के झूंझनू जिले का है. सोशल मीडिया में वायरल आदेश पत्र यहां के एसपी देवेंद्र कुमार के हस्ताक्षर से जारी किए गए हैं. बड़ा सवाल यह है कि जिस मुंशी ने यह आदेश पत्र टाइप किया तो इसे पेशकार ने क्यों नहीं पढ़ा? यदि पेशकार की भी नजर नहीं पड़ी तो खुद एसपी देवेंद्र कुमार ने आंख बंद कर हस्ताक्षर कैसे कर दिए? ऐसे ही कई सवाल और भी हैं, लेकिन झूंझनू पुलिस ने इन सभी सवालों से बचते हुए एक लाइन की सफाई दी है कि मानवीय भूल से यह यह गलती हुई है और इसे सुधारा जा रहा है.

Advertisement

Advertisement

शस्त्र अधिनियम में वांछित है अपराधी

Advertisement

जानकारी के मुताबिक झुंझुनूं जिले में सिंघाना थाना क्षेत्र के रहने वाला एक अपराधी योगेश उर्फ योगी लंबे समय से फरार चल रहा है. इसके खिलाफ शस्त्र अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज है. बार बार समन जारी होने के बाद भी कोर्ट में वह हाजिर नहीं हो पा रहा है. ऐसे में कोर्ट ने उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करते हुए उसकी गिरफ्तारी के आदेश दिए हैं.इधर, बार बार की दबिश के बाद भी इस अपराधी का कोई सुराग नहीं मिलने पर पुलिस ने अब उसके खिलाफ इनाम घोषित किया है. दो दिन पहले यानी 12 फरवरी को एसपी देवेंद्र कुमार के हस्ताक्षर से जारी इस आदेश में कहा गया है कि जो भी व्यक्ति इस वांछित अपराधी के बारे में सूचना देगा या उसकी गिरफ्तारी में सहयोग करेगा, उसे झूंझनू पुलिस की ओर से 50 पैसे का इनाम दिया जाएगा. सोशल मीडिया में लोगों ने पुलिस के इस आदेश पर चुटकी ली है.इसमें कहा है कि एक चाय भी 10 रुपये में मिलती है. एक रोटी भी आठ से 10 रुपये की है. ऐसे में कोई व्यक्ति महज 50 पैसे के लिए पुलिस की मुखबिरी क्यों करेगा. इतने पैसे में कोई व्यक्ति किसी अपराधी से दुश्मनी कैसे मोल ले सकता है.

Advertisement

पुलिस ने बताया मानवीय भूल

Advertisement

हालांकि खूब किरकिरी कराने के बाद झूंझनू पुलिस ने इसे मानवीय भूल बताते हुए सुधार कराने की बात कही है. पुलिस ने बताया कि जल्द ही संशोधित आदेश निकाला जाएगा. बता दें कि राजस्थान ही नहीं, देश भर में फरार अपराधियों पर पुलिस इनाम घोषित करती है.इनाम राशि घोषित करने के पीछे कानून व्यवस्था बनाए रखने में आम आदमी की भूमिका सुनिश्चित करना होता है. माना जाता है कि इनाम के लालच में लोग अपराधियों के बारे में सूचना देंगे. आम तौर पर यह राशि मुखबिरों को मिलती है, जो सामान्य नागरिक के रूप में जीवन जीते हुए समाज की छोटी मोटी सूचनाएं पुलिस को देते रहते हैं.

Advertisement
Advertisement

Related posts

गया की रैली में RJD पर जमकर बरसे पीएम मोदी, जंगलराज और भ्रष्टाचार के साथ हिंदुत्व का भी मुद्दा उठाया..

Report Times

रेपिस्ट के बाल कटवाकर पब्लिक के बीच परेड करवाऊं, अपराधियों पर बरसे अशोक गहलोत

Report Times

कंडेक्टर-रिटायर्ड फौजी के विवाद का मामला:पार्षदों ने की मामले में निष्पक्ष जांच की मांग, कहा- साम्प्रदायिक सौहार्द्र बनाए रखने का हो प्रयास

Report Times

Leave a Comment