Report Times
latestOtherजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंधर्म-कर्मराजनीतिराजस्थानशुभारंभस्पेशल

राजस्थान: ॐ की आकृति वाले दुनिया के पहले शिव मंदिर का उद्घाटन आज, सीएम भजनलाल भी होंगे शामिल

REPORT TIMES 

Advertisement

दुनिया के इकलौते ॐ आकार वाले शिव मंदिर का आज उद्घाटन होने जा रहा है. राजस्थान के पाली जिले में इस मंदिर को 500 बिगा परिसर में बनाया गया है, जिसे पूरा होने में करीब 28 वर्ष का समय लगा है. मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में राजस्थान के सीएम भजन लाल शर्मा भी शामिल होने वाले हैं. इस दौरान वे एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे. इस समारोह में देश भर से साधु-संत, अनुयायी व श्रद्धालु कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे.

Advertisement

Advertisement

135 फीट ऊंचा है शिखर

Advertisement

ॐ आकार मंदिर को मूर्त रूप देने के लिए 250 एकड़ में चार मंजिला इमारत में 108 कमरों का इस तरह निर्माण करवाया गया है ताकि ॐ आकार साकार हो. इस मंदिर का शिखर 135 फीट ऊंचा है. सबसे ऊपर वाले भाग में शिवलिंग है. शिवलिंग पर ब्रह्मांड की आकृति को जीवंत किया गया है. इस योग मंदिर के परिसर में और भी भवन हैं, जो सनातनी प्रतीकों के रूप में हैं. इनमें प्रमुख हैं यज्ञवेदी जैसा दो मंजिला गुरुकुल, स्वास्तिक के आकार में हॉस्टल और तारानुमा अस्पताल भवन है. लोगों को सनातन संस्कृति व योग से जोड़ने के लिए श्री अलखपुरी सिद्धपीठ परंपरा के पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर स्वामी महेश्वरानंद महाराज ने इस मूर्त रूप दिया है.

Advertisement

12 ज्योतिर्लिंग के होंगे दर्शन

Advertisement

ॐ आकार मंदिर में भगवान शिव की 1008 अलग अलग प्रतिमाओं को नाम सहित स्थापित किया गया. शिव मंदिर में भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग स्वरूप के दर्शन होंगे. साथ ही नंदी की विशाल प्रतिमा बनाई गई है. यहां सूर्य मंदिर भी है, जो अष्टखंड में बना है. शिव मंदिर चार खंडों में बंटा है. एक हिस्सा जमीन के अंदर बना है. जबकि तीन हिस्से जमीन के ऊपर हैं. बीचों-बीच स्वामी माधवानंद की समाधि है. समाधि के चारों तरफ सप्त ऋषियों की मूर्तियां हैं. ॐ के आकार का यह दुनिया का एकमात्र भव्य मंदिर है, जहां पहाड़ और तालाब भी कृत्रिम बनाए गए हैं.

Advertisement
Advertisement

Related posts

राजस्थान में होगी अब 2369 पदों पर भर्ती, 633 पद बढ़ाए

Report Times

नगर पालिका में पर्यवेक्षक ने किया निरीक्षण

Report Times

साहित्यकार डॉ. ओमप्रकाश पचरंगिया की दोहित्री को मिला सर्वोच्च एकेडमिक स्तर के लिए अवॉर्ड

Report Times

Leave a Comment