Report Times
latestOtherकार्रवाईजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजनीतिराजस्थानस्पेशल

अब रोडवेज बसों में सुनने को नहीं मिलेंगे गाने, मोबाइल पर भी बैन, आया ऐसा बड़ा आदेश

REPORT TIMES 

Advertisement

जयपुर: 50 साल से अधिक उम्र के चालकों के लिए साल में दो बार नेत्र व शारीरिक जांच अनिवार्य की गई है। रोडवेज विभाग ने पिछले दिनों हुई गंभीर व जनहानि दुर्घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए सुरक्षा मानकों को लेकर सख्त निर्देश जारी किए है। जिसके तहत अब रोडवेज चालक-परिचालकों की नियमित रूप से बस चलने से पहले नशे की जांच होगी। यदि नशे में पाए गए तो उनको वाहन के साथ ड्यूटी पर नहीं भेजा जाएगा। साथ ही सीट बेल्ट लगाना भी अनिवार्य किया गया है। रोडवेज विभाग के कार्यकारी निदेशक यांत्रिक ने सुरक्षा मानकों को लेकर यह आदेश जारी किए हैं। ताकि सड़क दुर्घटनाओं पर प्रभावी नियंत्रण किया जा सके।

Advertisement

बस रवानगी से पहले होगा ब्रेथ ऐनेलाइजर टेस्ट

Advertisement

अब रोडवेज बस चालकों व परिचालकों को बस रवानगी से पहले ब्रेथ ऐनेलाइजर टेस्ट करवाना होगा। यदि जांच में कार्मिक नशे में मिले तो उनको वाहन के साथ नहीं भेजा जाएगा। साथ ही ड्यूटी पर इस तरह के कृत्य करने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई का सामना भी करना पड़ेगा। इसके अलावा 50 साल से अधिक उम्र के चालकों के लिए साल में दो बार नेत्र व शारीरिक जांच अनिवार्य की गई है।

Advertisement

Advertisement

चालक को मिले विश्राम, ताकि ऊर्जा के साथ कर सके काम

Advertisement

रोडवेज मुख्यालय ने चालकों को तनाव मुक्त रखने के लिए समय-समय पर उचित विश्राम दिया जाना भी जरूरी माना है। जिससे चालक रेस्ट के बाद पूरी ऊर्जा के साथ काम कर सके। साथ ही मुख्य प्रबंधक व प्रबंधक संचालन स्वयं चालकों से व्यक्तिगत रूप से मिलकर उनकी समस्याओं का समाधान करेंगे। यातायात नियमों की जानकारी भी चालकों को दी जाएगी।

Advertisement

फैक्ट फाइल
46 कुल बसें हैं सिरोही रोडवेज डिपो में
31 बसें निगम की
15 बसें अनुबंधित
18 हजार किलोमीटर प्रतिदिन सफर तय करती हैं रोडवेज बसें
47 रूट संचालित है सिरोही रोडवेज डिपो में.

Advertisement

सीट बेल्ट लगाना अनिवार्य, फिटनेस भी जरूरी

Advertisement

रोडवेज के अधिकांश चालक वाहन संचालन के दौरान सीट बेल्ट नहीं लगाते है। अब प्रत्येक चालक के लिए सीट बेल्ट लगाना अनिवार्य किया गया है। उडऩदस्ते की जांच के दौरान सीट बेल्ट नहीं मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। वहीं बिना फिटनेस के किसी भी बस का संचालन नहीं करने के भी निर्देश दिए गए है।

Advertisement

वाहन में मोबाइल, टेप-रेडियो भी नहीं चलेगा

Advertisement

राजस्थान में बस संचालन के दौरान किसी भी वाहन के केबिन में चालक -परिचालक मोबाइल पर बात नहीं करेंगे और टेप रिकॉर्डर व रेडियो पर गाने नहीं चलाएंगे। अक्सर देखने में आता है कि कई बसों में चालक तेज आवाज में टेप रिकॉर्डर आदि पर गाने व गीत बजाते है। विशेष रूप से रात्रि में चलने वाली बसों में टेप रेकॉर्डर पर तेज आवाज में गाने बजना आम है। इससे हादसों का खतरा रहता है, साथ ही यात्रियों को भारी परेशानी होती है। अब मुख्यालय ने बसों में चालक पर किसी तरह से टेप रिकॉर्डर पर गाने बजाने पर रोक लगाई है।

Advertisement
Advertisement

Related posts

मर्डर या सुसाइड! बाहर थे पति-ससुर…कांग्रेस MLA की बहू की मौत पर उठते सवाल

Report Times

Imran Khan’s security : हत्‍या की आशंका पर PM शहबाज शरीफ ने बढ़ाई इमरान खान की सुरक्षा, राज्‍य सरकारों को भी दिए निर्देश

Report Times

दिल्ली में मंगलवार को एक बार फिर इतने पैसे प्रति लीटर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जाने नई कीमत

Report Times

Leave a Comment