Report Times
Otherझुंझुनूंटॉप न्यूज़ताजा खबरेंदेशप्रदेशव्यापारिक खबर

महंगाई के विरोध में संगठनों ने कलेक्ट्रेट पर और टोल वसूली के विरोध में चिड़ावा में धरना दिया

रसोई गैस में 50 रुपए बढ़ाए जाने व पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों के विरोध में जनवादी संगठनों की ओर से सोमवार को कलेक्ट्रेट पर धरना देकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला दहन किया। इसके बाद राष्ट्रपति के नाम कलेक्टर लक्ष्मण सिंह कुड़ी को ज्ञापन सौंपा। सर्वहारा एकता मंच के संयोजक एडवोकेट बजरंग लाल ने बताया कि धरने के दौरान उपस्थित लोगों ने रसोई गैस की बढ़ी कीमत वापस लेने, महंगाई पर रोक लगाने, पेट्रोल-डीजल के बढ़े दाम वापस लेने, किसान मजदूर एकता जिंदाबाद आदि नारे लगाए।

धरने को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि भाजपा जब विरोध में थी तो उस समय रसोई गैस, पेट्रोल-डीजल व महंगाई का विरोध करती थी, लेकिन सत्ता में आने के बाद इनकी कीमतों में लगातार बढ़ोतरी कर रही है। जिससे आम आदमी को घर चलाना मुश्किल हो गया है। सार्वजनिक संस्थाओं को पूंजीपतियों को बेचा जा रहा है।

Advertisement

धरना स्थल को क्रांतिकारी किसान यूनियन के संयोजक पोकर सिंह झाझड़िया, मजदूर किसान एकता मंच के फूलचंद बुडानिया, भीम आर्मी के संयोजक प्रदीप चंदेल, आम आदमी पार्टी के शुभकरण महला, महताब सिंह चौधरी, रामेश्वर बास नानग, कैप्टन मोहनलाल, यूनुस अली भाटी, नेमीचंद पूनिया ने संबोधित किया। इस दौरान एडवोकेट रणजीत सिंह, एडवोकेट हरिराम, एडवोकेट नरेश ढाका, हरिराम मुंशी, एडवोकेट जाफर अली, रामनिवास बेनीवाल, राजेंद्र प्रसाद, रायसिंह, धर्मपाल सिंह डारा, महिपाल सिंह, रामप्रताप रेपस्वाल, रणधीर सिंह झाझड़िया, त्रिलोक सिंह, बचनसिंह मीणा आदि मौजूद थे।

Advertisement

चिड़ावा : लालचौक स्टैंड पर दूसरे दिन भी धरना जारी रहा
चिड़ावा | सिंघाना रोड के लालचौक स्टैंड क्षेत्र के ग्रामीणों ने पचेरी-चिड़ावा मार्ग पर टोल वसूली के खिलाफ दूसरे दिन भी धरना दिया। संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले शुरू हुए आंदोलन में शामिल लोगों ने सरकार और पीडब्ल्यूडी के खिलाफ नारेबाजी की। सोमवार को दिए गए धरने की अध्यक्षता कैप्टन श्रीचंद चाहर ने की। धरने को किसान सभा के तहसील अध्यक्ष बजरंगलाल बराला, विजेंद्र शास्त्री, राजेन्द्र चाहर, महावीर यादव, उम्मेदसिंह चाहर, अजय चाहर, सीताराम कुमावत सहित अन्य लोगों ने संबोधित किया।

Advertisement

वक्ताओं ने पचेरी-चिड़ावा मार्ग पर अवधि समाप्ति के बाद भी टोल वसूली के लिए विभागीय अधिकारियों पर मिलीभगत के आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि नियमानुसार 50 किलोमीटर की सड़क पर एक ही टोल बूथ होना चाहिए। जबकि पचेरी से चिड़ावा तक 44 किलोमीटर दो बूथ है।

Advertisement

किसान नेताओं ने ठेका कंपनी पर पीडब्ल्यूडी से मिली भगत करके उक्त मार्ग को दो टुकड़ों में बांट देने की बात कही। इसके अलावा अन्य नियमों की अवहेलना करने के भी आरोप लगाए। धरने पर इंद्र शर्मा खेड़ला, गौरीशंकर, पुरुषोत्तम यादव, मोहनलाल जोगी, कर्मवीर, कपिल तेतरवाल, सतपाल चाहर, महेश चाहर, डॉ. प्रदीप यादव, जयसिंह हलवाई सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Advertisement
Advertisement

Related posts

कुमारी सैलजा ने कहा कि भाजपा कुशासन में बेरोजगारी के नित नए रिकॉर्ड टूट रहे हरियाणा में

Report Times

दिल्ली: किसानों के दिल्ली कूच से थम गया नोएडा, रेंग रही गाड़ियां; क्रेन, बुलडोजर और कमांडो तैनात

Report Times

“पहले चरण में कम मतदान हुआ क्योंकि…”: हेमा मालिनी ने लोगों से मताधिकार का प्रयोग करने का आग्रह किया

Report Times

Leave a Comment