Report Times
latestOtherकार्रवाईक्राइमगिरफ्तारटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजनीतिहरियाणा

विधायकों को धमकी दे फिरौती मांगने वाले 6 लोगों को एसटीएफ ने किया गिरफ्तार

REPORT TIMERS

Advertisement

हरियाणा, 31 जुलाई। हरियाणा के 4 विधायकों को धमकी देकर फिरौती मांगने वाले 6 लोगों को रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया। हरियाणा पुलिस की स्पेशल टॉस्क फोर्स (एसटीएफ) ने इन लोगों को मुंबई और बिहार से पकड़ा। यह लोग आर्थिक फ्रॉड करने वाले एक प्रोफेशनल गैंग से जुड़े हैं। एसटीएफ के अधिकारियों ने गैंग से पैसे डालने के लिए अकाउंट नंबर पूछा और वहां से मिले क्लू कड़ी दर कड़ी जोड़ते हुए इन बदमाशों को गिरफ्तार किया।

Advertisement

शुरुआती जांच के अनुसार, इस गैंग के 10 मेंबर पाकिस्तान में बैठे हैं। विधायकों और दूसरे लोगों को धमकी भरी कॉल्स करने का जिम्मा पाकिस्तान में बैठे लोगों का ही है। बदमाशों की गिरफ्तारी के बाद एसटीएफ ने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों का संबंध न तो किसी गैंगस्टर से है और न आतंकी संगठन से। इनका कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस या गोल्डी बराड़ से भी कोई संबंध नहीं है। हरियाणा में 26 जून से 28 जून के बीच 4 विधायकों को दुबई और पाकिस्तान के मोबाइल नंबर से जान से मारने की धमकी देते हुए फिरौती के लिए कॉल आई। जिन विधायकों को धमकी भरी कॉल्स आई उनमें सोनीपत के MLA सुरेंद्र पंवार, सफीदों के सुभाष देशवाल, सोहना के विधायक संजय सिंह और साढ़ौरा की विधायक रेणु बाला शामिल है। विधायकों की शिकायत पर अलग-अलग एफआरआई दर्ज की गई। हरियाणा के डीजीपी पीके अग्रवाल ने इस मामले की जांच एसटीएफ को दी।

Advertisement

Advertisement

एसटीएफ की जांच में सामने आया कि जिन फोन नंबरों से कॉल आई, वह मिडल ईस्ट देशों के नंबर हैं और उन्हें पाकिस्तान में बैठकर ऑपरेट किया जा रहा है। पंजाब के कुछ पूर्व विधायकों को भी इन्हीं नंबरों से धमकियां दी गईं। सभी विधायकों से अलग-अलग भाषा में बातचीत की गई। एसटीएफ के IG सतीश बालन ने इन सभी मुकदमों की तफ्तीश के लिए एसटीएफ के SP सुमित कुमार के नेतृत्व में स्पेशल टीम बनाई। अलग-अलग टीमों का जिम्मा एसटीएफ के DSP संदीप धनखड़ और सुरेंद्र किन्हा को दिया गया। तकरीबन 15 दिन चली जांच में DGP पीके अग्रवाल खुद व्यक्तिगत तौर पर मॉनिटर करते रहे।

Advertisement

एसटीएफ अधिकारियों ने सुनियोजित प्लान के तहत आरोपियों से पैसे देने के लिए उनके अकाउंट और मोबाइल नंबर मांगें। उन अकाउंट नंबरों को ट्रैस कर रही अलग-अलग टीमों ने मुंबई और बिहार में कई जगह रेड की। इस दौरान मुंबई में रह रहे बिहार के बेतिया जिले के दमावरा गांव के दुलेश आलम और यूपी के बस्ती जिला के बिगरा गांव के बदरे आलम को गिरफ्तार किया गया। इनसे करीब 20 पास बुक-चैक बुक और इनके 18 ATM, 14 फर्जी सिम, 1 डायरी और 5 मोबाइल फोन बरामद किए। हरियाणा पुलिस की टीमों ने बिहार में भी कई जगह रेड की। इस दौरान मुजफ्फरपुर से अमित यादव उर्फ राधेश्याम को पकड़ा गया जो बिहार के ही गोपालगंज जिले के हजियापुर गांव का रहने वाला है। उसके साथ मोतीहारी जिले के तुरकोलिया गांव का सद्दीक अनवर, ​​​​​​मुजफ्फरपुर जिले के​​​​​​​ पोरखरेरा ​​​​​​​गांव का​​​​​​​ सनोज कुमार और बेतिया जिले के दमौरा गांव का कैश आलम भी पकड़ा गया।

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Related posts

श्रीमद् भागवत कथा के पांचवा दिन कृष्ण लीलाओं का वर्णन

Report Times

8 ATM कार्ड,4 मोबाइल, स्वाइप मशीन…11 करोड़ ऐंठने वाले साइबर ठगों के पास से मिला और बहुत कुछ

Report Times

मोदी के जन्मदिवस पर आयोजित प्रदर्शनी की शुरुआत आज

Report Times

Leave a Comment