Report Times
latestOtherउत्तर प्रदेशकार्रवाईक्राइमटॉप न्यूज़ताजा खबरें

सामूहिक दुष्‍कर्म के मामले में समझौते का दबाव बना रही थी पुलिस, पीड़‍ित किशोरी ने की आत्‍महत्‍या

REPORT TIMES

Advertisement

महिला अपराध पर सीएम योगी  की जीरो टालरेंस की नीति के बाद भी पुलिस सुधरने को तैयार नहीं है। सम्‍भल में एक सामूहिक दुष्‍कर्म पीड़‍ित किशोरी ने पुलिस की लापरवाही के चलते आत्‍महत्‍या कर ली। पुलिस आरोपितों को गिरफ्तार करने के बजाय किशोरी पर समझौते का दबाव बना रही थी। मृतका की मां ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

Advertisement

कुढ़फतेहगढ़ थानाक्षेत्र के एक गांव में बुधवार की सुबह 16 साल की किशोरी ने फांसी लगा ली। घटना की जानकारी होने पर परिवार वालों का गुस्सा उफान पर आ गया। पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए किशोरी की मां ने न्याय मांगा। जिस किशोरी ने खुदकुशी की उसके साथ 15 जुलाई को सामूहिक दुष्कर्म किया गया था। पुलिस ने एक माह बाद 15 अगस्त को मुकदमा दर्ज किया और अब तक आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं कर सकी थी। उल्‍टे पुलिस समझौते का दबाव बना रही थी। इससे क्षुब्ध होकर किशोरी ने यह कदम उठाया।

Advertisement

इस मामले में पुलिस ने आत्महत्या के लिए उकसाने का अभियोग सामूहिक दुष्कर्म में नामजद आरोपितों के परिवार वालों के खिलाफ पंजीकृत किया है।  अब गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है लेकिन, आरोपितों का पता नहीं है। उधर मामले की जानकारी होने के बाद डीआइजी मुरादाबाद शलथ माथुर भी घटना स्थल की ओर रवाना हुए हैं।

Advertisement

किशोरी की मां ने बताया कि बुधवार की सुबह उनकी बेटी का शव घर में ही फांसी के फंदे से लटकता हुआ मिला। उन्होंने बताया कि 12 जुलाई को उनकी बेटी को रजपुरा थानाक्षेत्र के सिसौना गांव निवासी सोवेंद्र भगा ले गया। उसके साथ उसकी मदद अटवा गांव निवासी वीरेश, जीनेश और होलू ने किया। 15 जुलाई को उनकी बेटी वापस आई तो स्वजनों को अपने साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म की जानकारी दी।

Advertisement

किशोरी गांव में ही कक्षा आठ की छात्रा भी थी। उसे लेकर मां थाना कुढ़ फतेहगढ़ पहुंची लेकिन पुलिस ने जांच के नाम पर दोनों को खूब टरकाया। यहां तक मामले का अभियोग एक माह बाद 15 अगस्त को पंजीकृत किया गया। पुलिस ने सोवेंद्र, वीरेश, जीनेश, होलू के खिलाफ अपराध संख्या 67, धारा 363, 457, 376 (1), 506 व 3/4 पाक्सो एक्ट के तहत अभियोग दर्ज कर विवेचना एसआइ अनिल कुमार को दे दी।

Advertisement

एक तो एक माह बाद अभियोग पंजीकृत हुआ और उसके बाद गिरफ्तारी न होने से किशोरी तथा उसका परिवार पूरी तरह दहशत में आ गए। न्याय न मिलने की स्थिति किशोरी की मां ने इंस्पेक्टर कुढ़फतेहगढ़ तथा सीओ चन्दौसी के यहां भी आवेदन दिया लेकिन, कहीं सुनवाई नहीं हुई। इससे किशोरी मानसिक रूप से परेशान हो गई थी। मंगलवार की रात वह सोने गई और सुबह उसका शव फंदे से लटकता हुआ मिला। उधर, देर शाम मुरादाबाद से डीआइजी शलभ माथुर भी घटनास्थल की ओर रवाना हो गए।

Advertisement

एसपी चक्रेश मिश्र  ने बताया कि 15 जुलाई को किशोरी के साथ एक युवक ने दुष्कर्म किया था। इस मामले में अभियोग दर्ज कर लिया गया था। बाद में 164 के बयान के बाद तीन और नाम अभियोग में जोड़े गए। इस मामले में बुधवार की सुबह किशोरी के खुदकुशी किए जाने के मामला सामने आया है।

Advertisement

शव कब्जे में लिया गया है। इस प्रकरण में आइपीसी की धारा 306 के तहत दुष्कर्म के आरोपितों के परिवार वालों के खिलाफ अभियोग दर्ज किया गया है। मामले की जांच की जा रही है। जो भी दोषी मिलेगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Advertisement
Advertisement

Related posts

सेमीकान इंडिया सम्मेलन में PM मोदी ने कहा- भारत को सेमीकंडक्टर हब बनाने की दिशा में यह पहला कदम

Report Times

चिड़ावा में परशुराम जन्मोत्सव पर प्रतिभाएं होंगी सम्मानित, ब्रह्म चेतन्य संस्थान पदाधिकारियों ने बांटे निमंत्रण पत्र

Report Times

कार खरीदने के लिए खुद को किया किडनैप, पापा को फोन कर फिरौती में मांगे 2 लाख रुपए

Report Times

Leave a Comment