Report Times
latestOtherउत्तर प्रदेशटॉप न्यूज़ताजा खबरेंहादसा

लखनऊ लेवाना होटल अग्निकांड में सिविल अस्पताल में भर्ती कराए घायलों ने अपना दर्द बयां किया। घायलों ने बताया कि कैसा था मंजर।

REPORT TIMES

Advertisement

राजधानी लखनऊ के लेवाना होटल अग्निकांड में रेस्क्यू कर सिविल अस्पताल ला गए लोगों ने बताया कि सामने मौत थी। आग लगने के बाद कमरे का दरवाजा नहीं खुल रहा था। कमरे में धुआं भर चुका था। यदि शीशा तोड़कर बालकनी के रास्ते दमकल कर्मी समय पर न पहुंचते तो जान बचनी मुश्किल थी। वहीं, दिन में 11:50 तक 15 दमकल वाहन मौके पर आग पर काबू पाने और रेस्क्यू ऑपरेशन में लगे हुए थे।

Advertisement

दिल्ली से आई एक महिला ने बताया कि सुबह साढ़े सात बजे के करीब कमरे में धुआं भरना शुरू हो गया। इंटरकॉम से रिसेप्शन पर मिलाया तो फोन नहीं उठा। जब दरवाजा खोल कर बाहर जाने की कोशिश की तो वह खुला ही नहीं। धुएं की वजह से सांस लेना मुश्किल हुआ जा रहा था। इस कारण सर भारी हो गया और घुटन होने लगी। इसी बीच दमकल कर्मी खिड़की के रास्ते भीतर आ गए और जान बच गई।

Advertisement

Advertisement

रास्ता बंद किया गया, पुलिस तैनात 
मदन मोहन मालवीय मार्ग पर होटल के रास्ते को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है और 15 दमकल गाड़ियां मौके पर पहुंच गई हैं। आग बुझाने का प्रयास जारी है। दमकलकर्मी इस वक़्त तीसरी मंजिल पर आग बुझा रहे हैं।

Advertisement

शार्ट सर्किट की वजह से आग लगने की सम्भवना
डीएम सूर्यपाल गंगवार ने बताया कि संभावना है कि शार्ट सर्किट की वजह से आग लगी हो। पहले तल पर बैंक्वेट है। जहां ज़्यादा मरीज़ थे। 35-40 लोग यहां रहे होंगे। सिविल अस्पताल ले जाया गया है।

Advertisement
Advertisement

Related posts

ईरान में बेकाबू हुए हालात, 80 शहरों में फैला प्रदर्शन; सुरक्षाबलों के साथ झड़प में अब तक 26 मौतें

Report Times

शिव परिवार की प्राण प्रतिष्ठा

Report Times

EVM को लेकर प्रदेशभर में हंगामा मचा

Report Times

Leave a Comment