Report Times
latestOtherकार्रवाईक्राइमगिरफ्तारटॉप न्यूज़तमिलनाडुताजा खबरेंधर्म-कर्मस्पेशल

NIA का खुलासा- धमाकों से मंदिर को उड़ाना चाहता था आत्मघाती हमलावर, ऐसे टला बड़ा हादसा

REPORT TIMES

Advertisement

कोयंबटूर में एक मंदिर के सामने एक कार में हुए विस्फोट में मारे गए 29 वर्षीय इंजीनियर ग्रैजुएट संभवत: एक आत्मघाती हमलावर था। जांच एजेंसी ने इसका खुलासा किया है। उनका कहना है कि बम संभालने में अनुभवहीनता के कारण कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ। आपको बता दें कि इस मामले की जांच एनआईए कर रही है।

Advertisement

Advertisement

एक प्रत्यक्षदर्शी ने पुलिस को बताया कि दीवाली की पूर्व संध्या पर सुबह 4 बजे कोट्टैमेडु में संगमेश्वर मंदिर के सामने कार रुकी। मुबीन आग की लपटों में घिरी गाड़ी से कुछ फुट दूर जमीन पर गिरने से पहले बाहर निकला। उसका शरीर जल चुका था। जांचकर्ताओं ने कहा कि अगर कार में दो एलपीजी सिलेंडरों में से एक के कारण विस्फोट हुआ होता तो मंदिर की ओर जाने वाली सड़क के किनारे घरें भी प्रभावित हो सकती थीं।

Advertisement

Advertisement

एनआईए के सूत्रों के मुताबिक, आईएस की कट्टरपंथी विचारधारा ने मुबीन को कट्टरपंथी बना दिया था, लेकिन उसे आतंकवादी का ठीक ढंग से प्रशिक्षण नहीं मिला था। उसने विस्फोटकों को संभालने के बारे में जानकारी इंटरनेट से इकट्ठा किया था।

Advertisement

इस मामले में अब तक छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सभी आईएस से सहानुभूति रखते हैं। इन सभी पूछताछ के आधार पर जांच एजेंसी ने कहा कि मुबीन ने सोचा कि उसका आत्मघाती बम विस्फोट 50 से 100 मीटर के दायरे में मंदिर और उसके आसपास के भवनों को नुकसान पहुंचाएगा। हालांकि ऐसा नहीं हुआ।

Advertisement

Advertisement

शनिवार की देर शाम मुबीन और उसके दो कथित सहयोगियों (मोहम्मद अज़रूद्दीन और के अफसर खान) ने दो एलपीजी सिलेंडरों के साथ कार में पोटेशियम नाइट्रेट, एल्यूमीनियम पाउडर, सल्फर, चारकोल, कील और बॉल बेयरिंग से भरे स्टील के तीन ड्रम रखे। एक अधिकारी ने कहा कि सीसीटीवी कैमरों ने इस कृत्य को कैद कर लिया।

Advertisement

अन्य कैमरों के फुटेज में विस्फोट से पहले मुबीन और उसके कथित सहयोगियों की गतिविधियों को कथित तौर पर दिखाया गया है। अधिकारी ने बताया कि तीनों ने बिग बाजार स्ट्रीट पर स्थित कोनियाम्मन मंदिर और पुलियाकुलम मुंडी विनयगर मंदिर की रेकी की थी।

Advertisement

Advertisement

मुबीन और गिरफ्तार किए गए दोनों ने गांधी पार्क में एक एलपीजी बुकिंग केंद्र का भी दौरा किया। उन्होंने वहां से दो सिलेंडरों की खरीद की। बुकिंग केंद्र ने उनकी खरीद के खिलाफ चालान जारी किया। इसके बाद तीनों ने लॉरीपेट के पुराने बाजार क्षेत्र का दौरा किया, जहां उन्होंने तीन स्टील ड्रम खरीदे। एनआईए के पूर्व अधिकारी शिवकुमार ने उन सूचनाओं के टुकड़ों को एक साथ जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिससे जांचकर्ताओं को आतंकी साजिश का पता चला।

Advertisement

एक सूत्र ने कहा, “एनआईए के पूर्व अधिकारी ने 2019 में मुबीन से कट्टरपंथी तत्वों के साथ उसके संदिग्ध संबंधों के बारे में पूछताछ की थी। उन्होंने मुबीन के घर की तलाशी शुरू की, जिससे विस्फोटक बनाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली 75 किलोग्राम मिश्रित सामग्री जब्त की गई।

Advertisement
Advertisement

Related posts

सन्त कबीर नगर : द्वाबा विकास इंटर कालेज में उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ की गोष्ठी सम्पन्न

Report Times

पोस्टर प्रतियोगिता में हिस्सा लिया

Report Times

डेमू ट्रेन नहीं जाएगी जयपुर जंक्शन : लोहारू – चिड़ावा होकर से जाने वाली डेमू 14 फरवरी तक ढहर का बालाजी तक ही जाएगी

Report Times

Leave a Comment