Report Times
latestOtherकरियरकार्रवाईक्राइमजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजनीतिराजस्थानविरोध प्रदर्शनस्पेशल

पेपर लीक की नहीं होगी CBI जांच…सरकार का ऐलान, जयपुर में डेरा डाल बैठे किरोड़ी लाल

REPORT TIMES 

Advertisement

राजस्थान में सरकारी भर्ती परीक्षा में हुई धांधली के खिलाफ सीबीआई जांच की मांग पर विधानसभा घेराव के लिए बीजेपी सांसद  किशोरी लाल मीणा अपने हजारों समर्थकों के साथ दौसा से जयपुर पहुंच चुके हैं. मीणा को उनके हजारों समर्थकों के साथ जयपुर पुलिस ने घाट की गुणी इलाके पर रोक दिया है जहां भारी पुलिस का जाब्ता तैनात किया गया है. मिली जानकारी के मुताबिक मीणा वहीं पर बड़ी संख्या में अपने समर्थकों के साथ जयपुर-आगरा हाईवे पर डेरा डाल कर बैठ गए हैं. इसके अलावा पुलिस ने जयपुर-आगरा हाईवे पर ट्रैफिक को दोनों साइड से डायवर्ट किया है. फिलहाल पुलिस के आला अधिकारी बीजेपी सांसद से समझाइश कर रहे हैं लेकिन किरोड़ी अपने समर्थकों के साथ विधानसभा की ओर जाने के लिए अड़े हुए हैं. इसी बीच विधानसभा में गहलोत सरकार ने किरोड़ी की बेरोजगार आक्रोश यात्रा के बीच बड़ा ऐलान कर दिया. सरकार के मंत्री शांति धारीवाल ने सदन में कहा कि सरकार पेपर लीक मामले की सीबीआई से जांच नहीं करवा रही है.

Advertisement

Advertisement

CBI जांच नहीं तो धरना रहेगा जारी : मीणा

Advertisement

इस दौरान किरोड़ी ने कहा कि आज सदन में सरकार ने पेपर लीक प्रकरण की CBI जांच देने से माना कर दिया जबकि पेपर लीक मामले में ही सरकार ने अपने जरोली और दूसरे बड़े अधिकारियों को हटाया था. मीणा ने कहा कि ऐसे में जब तक पेपर लीक प्रकरण की सीबीआई जांच नहीं दी जाती है हम यहीं धरने पर बैठे रहेंगे. मीणा ने आगे कहा कि 16 से ज्यादा भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक हुए जिसके कारण पेपर रद्द हुए हैं जिससे प्रदेश के हजारों युवाओं का भविष्य खतरे में आ गया है. मीणा ने कहा कि पेपर लीक प्रकरण की सिर्फ CBI से जांच होनी चाहिए क्योंकि नकल प्रकरण में मंत्री, विधायक, अधिकारी और कांग्रेस के पदाधिकारी भी शामिल है. वहीं सांसद ने आगे कहा कि राजस्थान में बाहर के राज्यों के लोगों को नौकरी दी जा रही है, इससे राजस्थान के युवाओं की नौकरी के अवसर कम हो रहे हैं ऐसे में सरकार को ठोस कानून बनाते हुए इसे पूरी तरह बंद करना चाहिए.

Advertisement

सरकार नहीं करवाएगी CBI जांच : धारीवाल

Advertisement

वहीं राजस्थान विधानसभा में मंगलवार को विधानसभा में हुई बहस का जवाब देते हुए मंत्री शांति धारीवाल ने पेपर लीक मामले को सीबीआई को सौंपने से इंकार करते हुए कहा कि अगर यह केस सीबीआई को सौंपा गया तो सालों तक इन्वेस्टिगेशन चलती रहेगी.उन्होंने कहा कि सीबीआई पूरे दस्तावेज जब्त कर ले जाएगी और परीक्षाएं 15 साल तक नहीं हो पाएंगी. मंत्री के मुताबिक अगर यह केस सीबीआई को सौंपा गया तो छात्रों का भविष्य खराब हो जाएगा. मंत्री ने कहा कि सरकार दोषियों को सख्त सजा दिलवाएगी यही हमारा कमिटमेंट है, इसलिए आपको सीबीआई जांच की मांग की जिद छोड़नी चाहिए ऐसे में मैं इस मांग को खारिज करता हूं.

Advertisement

 

Advertisement
Advertisement

Related posts

सड़क पर दिए बयान ने जहां ज्योतिरादित्य सिंधिया को एक अलग पहचान दी

Report Times

उमस से राहत :  बारिश से शहर के निचले इलाकों में भरा पानी

Report Times

विवेकानन्द मित्र परिषद 500 दीपक जलाकर करेगी हिन्दू नववर्ष का स्वागत

Report Times

Leave a Comment