Report Times
latestOtherजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजनीतिराजस्थानस्पेशल

बिना विधायकों के अकेले अनशन पर बैठेंगे सचिन पायलट, क्या रंधावा लगा पाएंगे ब्रेक?

REPORT TIMES

Advertisement

जयपुर: राजस्थान में सियासी तौर पर 11 अप्रैल का दिन अहम होने जा रहा है जहां राज्य के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट अपनी ही सरकार के खिलाफ अपने समर्थक और कार्यकर्ताओं के साथ राजधानी में अनशन पर बैठ रहे हैं. पायलट की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक वह जयपुर के शहीद स्मारक पर दिनभर अनशन करेंगे. दरअसल रविवार को पायलट ने वसुंधरा राजे सरकार में हुए घोटालों कोई कार्रवाई नहीं होने का मुद्दा उठाकर सीएम अशोक गहलोत के खिलाफ मोर्चा खोला था. वहीं बताया जा रहा है कि पायलट के अनशन के दौरान उनके समर्थक मंत्रियों और विधायकों की मौजूदगी नहीं रहेगी और वह आम समर्थकों के साथ दिखाई देंगे. वहीं अनशन से एक दिन पहले पायलट ने ट्वीट कर राजस्थान के स्वाभिमान का जिक्र किया है. इधर पायलट के अनशन का ऐलान करने के बाद प्रदेश प्रभारी सुखजिंदर रंधावा मंगलवार को जयपुर पहुंच रहे हैं जहां वह सीएम अशोक गहलोत और कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा से मुलाकात करेंगे और इसके बाद वह पायलट से मुलाकात कर कांग्रेस की कलह को शांत करने की कोशिश करेंगे.

Advertisement

Advertisement

अनशन से दूर रहेंगे मंत्री-विधायक

Advertisement

बता दें कि सचिन पायलट मंगलवार को अपने समर्थक मंत्री और विधायकों के बिना ही अनशन पर बैठने जा रहे हैं. बताया जा रहा है कि पायलट ने अकेले अनशन पर बैठने के पीछे एक रणनीति के तहत फैसला लिया है जहां अगर पायलट समर्थक विधायकों के साथ अनशन पर बैठते तो उनके समर्थकों की गिनती हो सकती थी मालूम हो कि राजस्थान में गहलोत और पायलट की लड़ाई में समर्थक विधायकों की गिनती को लेकर काफी चर्चा रही है ऐसे में अगर पायलट करप्शन का मुद्दा उठाकर इसको शक्ति प्रदर्शन में बदल देते हैं तो पासा उल्टा भी पड़ सकता है. इसके अलावा अनशन के दौरान किसी तरह का भाषण भी नहीं होगा.

Advertisement

सीधे अनशन पर बैठना गलत : रंधावा

Advertisement

वहीं रंधावा ने एक मीडिया इंटरव्यू में कहा है कि सचिन पायलट जब डिप्टी सीएम रहे तो करप्शन का मुद्दा क्यों नहीं उठाया और उन्होंने मुझसे कभी करप्शन के बारे में बात नहीं की. उन्होंने बताया कि पायलट ने मुझसे कई मामलों पर बात की लेकिन करप्शन का कभी जिक्र तक नहीं किया. रंधावा ने कहा कि अनशन पर जाने से पहले वह मुझसे बात कर सकते थे और इसके बाद मैं सीएम से बात करता और इसके बाद समाधान नहीं निकलने पर वह फैसला ले सकते थे. वहीं रंधावा ने पायलट को करप्शन पर असेंबली में बोलने की हिदायत भी दे डाली.

Advertisement

खेड़ा ने याद दिलाई 2020 की बगावत

Advertisement

वहीं पायलट के बीजेपी सरकार में करप्शन के मामलों को उठाने के बाद कांग्रेस ​मीडिया सेल के प्रमुख पवन खेड़ा ने सोमवार को कहा कि राजस्थान बीजेपी के बड़े नेता गजेंद्र सिंह शेखावत के खिलाफ संजीवनी घोटाले में जांच चल रही है और हर पहलू की जांच की जा रही है. उन्होंने कहा कि राजस्थान में जिस तरह से कोविड काल में हमारे विधायकों को खरीदकर एक चुनी हुई सरकार को गिराने की साजिश रची गई थी उसकी भी जांच की जा रही है. खेड़ा ने कहा कि सरकार गिराने की साजिश में बीजेपी के कौनसे नेता शामिल थे और उनके तार कहां तक जुड़े हुए हैं इसका भी पचा करवा रहे हैं.

Advertisement
Advertisement

Related posts

Hanuman Jayanti 2024 पर जरूर करें इन मंत्रों का पाठ

Report Times

चिड़ावा में बारिश से गिरी दीवार, कई घरों में बिजली उपकरण जले

Report Times

जारी हुई राजस्थान पुलिस कांस्टेबल भर्ती की कटऑफ, 119 तक पहुंची

Report Times

Leave a Comment