Report Times
latestOtherकरियरजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंधर्म-कर्मराजनीतिराजस्थानस्पेशल

बुर्के पर क्यों होती है अशोक गहलोत की बोलती बंद, राजस्थान में घूंघट पर गरमाई सियासत

REPORT TIMES 

Advertisement

जयपुर:राजस्थान की राजनीति इन दिनों गरमाई हुई है. देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस विधानसभा चुनाव की स्थिति राज्य में कुछ ठीक नजर नहीं आ रही है.  में अब कुछ ही महीने बचे हैं, लेकिन पार्टी कोई न कोई विवाद में जरूर फंस जाती है. अब नया विवाद ‘घूंघट बनाम बुर्का’ का है. राज्य की मुख्य विपक्षी भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश के सीएम अशोक गहलोत की ओर से एक महिला का घूंघट हटाए जाने का विरोध जताया है.बीजेपी नेताओं का कहना है कि कांग्रेस का बुर्के पर बोलती बंद हो जाती है. इसको लेकर बीजेपी के नेताओं ने अशोक गहलोत का एक वीडियो ट्वीट किया है, जिसमें सीएम गहलोत एक महिला का घूंघट हटाते हुए दिख रहे हैं. साथ ही वह कहते हैं कि अब घूंघट का जमाना गया. वहीं, सीएम एक मुस्लिम महिला से भी मिलते हुए दिखाई देते हैं, लेकिन उससे बुर्के को लेकर कुछ नहीं कहते हैं. वीडियो बांसवाड़ा के एक कार्यक्रम का है.

Advertisement

Advertisement

राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया

Advertisement

वहीं, इस पूरे मामले पर राजस्थान बीजेपी के दिग्गज नेता और सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया है. उन्होंने सीएम गहलोत पर निशाना साधते हुए कहा है कि फर्क साफ दिख रहा है. राठौर ने ट्वीट करते हुए लिखा कि कांग्रेस के सीएम ( अशोक गहलोत) को जबरन महिलाओं का घूंघट उठाना है. लेकिन, जैसे ही बुर्के पर बात आती है, मुख्यमंत्री चुप्पी साध लेते हैं.

Advertisement

लक्ष्मीकांत भारद्वाज ने अशोक गहलोत पर साधा निशाना

Advertisement

सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा कि यहां तक कि आलाकमान (कांग्रेस) भी हिजाब को अपना समर्थन देती है. इसी तरह कांग्रेस ने देश को बर्बाद करने का काम किया. ये रवैया दोगलापन का नहीं तो और क्या है? वहीं, इस पूरे मामले पर राजस्थान बीजेपी के नेता लक्ष्मीकांत भारद्वाज ने तंज कसते हुए ट्वीट किया कि सीएम अशोक गहलोत सही बोल रहे हैं. घूंघट का सचमुच जमाना गया, पर सिर्फ और सिर्फ घूंघट का. दरअसल, ये तंज बुर्के पर कुछ नहीं बोलने को लेकर था.इस पूरे मामले पर कांग्रेस के किसी नेता की ओर से कोई टिप्पणी नहीं हुई है.वहीं, सचिन पायलट के विरोधी तेवर सीएम अशोक गहलोत के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं. पायलट का आरोप है कि पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के कार्यकाल में जो भी भ्रष्टाचार हुए, उसकी हमारी सरकार में जांच होनी चाहिए थी. लेकिन, सीएम अशोक गहलोत उदासीन बने रहे.

Advertisement
Advertisement

Related posts

शहरी रोजगार योजना में लगे श्रमिकों ने पालिकाध्यक्ष को सौंपा ज्ञापन

Report Times

‘संसद में सुरक्षा चूक गंभीर, सदन में गृहमंत्री दें जवाब’, AAP सांसद राघव चड्ढा ने की मांग

Report Times

राकेश मीणा होंगे बगड़ थानाधिकारी

Report Times

Leave a Comment