Report Times
latestOtherकरियरकोटाक्राइमटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजस्थानस्पेशल

कोटा पहुंचने के 6 महीने में ही 12 छात्रों ने चुनी मौत, अब दो महीने तक कोचिंग सेंटरों के टेस्ट लेने पर रोक

REPORT TIMES 

Advertisement

राजस्थान के कोटा की चर्चा जब भी होती है, तो वहां के कोचिंग सेंटर और उनमें पढ़ने वाले छात्रों की होती है. देश भर से जेईई और नीट की तैयारी के लिए छात्र यहां कोचिंग सेंटरों में पढ़ने के लिए आते हैं. यहीं कारण है कि इसे कोटा ‘फैक्ट्री’ या कोटा जक्शन के नाम से भी जाना जाता है. मौजूदा समय में कोटा छात्रों की आत्महत्या के मामले में चर्चा में हैं. इस साल अब तक कुछ 23 छात्र आत्महत्या कर चुके हैं. इनमें से ज्यादा तर स्टूडेंट्स कोटा पहुंचने के 6 महीने के अंदर की सुसाइड कर लिया. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सुसाइट करने वाले छात्रों में आधे से अधिक की उम्र 18 वर्ष से कम थी. वहीं 12 ऐसे छात्रों ने आत्महत्या की, जिन्हें कोटा पहुंचे 6 महीने का भी समय नहीं हुआ था. इस साल अब तक कोटा में 23 स्टूडेंट्स आत्महत्या कर चुके हैं, जो 2015 के बाद से सबसे अधिक है. कोटा जिला प्रशासन के आंकड़ों के अनुसार 225,000 छात्र हैं, जो मुख्य रूप से भारत के मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में प्रवेश के लिए राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा (एनईईटी) या इंजीनियरिंग कॉलेजों के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) की तैयारी कर रहे हैं.

Advertisement

Advertisement

दो महीने तक नहीं होगा कोई टेस्ट

Advertisement

लगातार बढ़ रही छात्रों की आत्महत्या की रोकथाम के लिए राज्य सरकार ने कोचिंग संस्थानों को दो महीने के लिए कोई भी टेस्ट और परीक्षा नहीं कराने का आदेशन दिया है. साथ ही 15 दिनों में एक रिपोर्ट सौंपने के लिए प्रमुख सचिव (उच्च और तकनीकी शिक्षा) की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया है. हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार इस वर्ष जनवरी में यूपी के शाजहांपुर निवाली 17 वर्षीय छात्र ने कोटा में 15 जनवरी को सुसाइड किया था. कोटा के कोचिंग संस्थानों में पढ़ने के लिए छात्रों की आयु कितनी होनी चाहिए, इस पर कोई नियम नहीं होने के कारण सुसाइट करने वाले 23 छात्रों में 13 नाबालिग भी शामिल हैं. सबसे छोटा बुलन्दशहर के खुर्जा का 15 वर्षीय लड़का था, जो पहली बार शहर आने के एक महीने बाद आत्महत्या कर ली. उसके बाद यूपी के प्रयागराज के 22 वर्षीय छात्र ने भी सुसाइट कर लिया था.

Advertisement
Advertisement

Related posts

महंगाई राहत कैंप से मिल रही जनता को राहत : विधायक जेपी चंदेलिया ने लोगों को बांटे गारंटी कार्ड

Report Times

बारां-अटरू सीट पर कांग्रेस-BJP में फिर सीधी टक्कर, क्या है इतिहास

Report Times

राजस्थान: अजमेर पहुंचे CM भजनलाल बोले- इंदिरा रसोई योजना में हुआ करोड़ों रुपए का घोटाला, जांच शुरू

Report Times

Leave a Comment