Report Times
latestOtherजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजनीतिराजस्थानस्पेशल

राजस्थान: इन तीन नए जिलों पर संकट, भजन लाल सरकार ने दिया यह जवाब

REPORT TIMES

Advertisement

अशोक गहलोत सरकार ने राजस्थान को नए जिलों का तोहफा दिया था। मगर नई सरकार आने के बाद इन जिलों को लेकर तस्वीर साफ नहीं हो पाई है। खासकर उन तीन जिलाें को लेकर अब भी असमंजस की स्थिति बनी हुई, जिनकी घोषणा चुनाव से ऐनवक्त पहले की गई थी। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने टोंक जिले के मालपुरा और चूरू जिले के सुजानगढ़ को अलग जिला बनाने का ऐलान किया था। इनके अलावा डीडवाना जिले में आने वाले कुचामन को भी अलग जिला बनाने की भी घोषणा हुई थी। इसे लेकर कांग्रेस विधायक हरीशचंद्र मीना ने बुधवार को विधानसभा में प्रश्न लगाया। उन्होंने पूछा था कि पूर्ववर्ती सरकार द्वारा 6 अक्टूबर 2023 को प्रदेश में तीन नए जिले मालपुरा, कुचामन और सुजानगढ़ बनाने की घोषणा की गई थी? यदि हां, तो क्‍या उक्त जिलों की अब तक अधिसूचना जारी नहीं की गई है? विवरण सदन की मेज पर रखें। साथ ही यह भी बताएं कि क्या सरकार उक्त जिलों की अधिसूचना जारी कर उक्‍त का सीमांकन करवाने का विचार रखती है यदि हां, तो कब तक व नहीं, तो क्यों ? विवरण सदन की मेज पर रखें।

Advertisement

Advertisement

सरकार ने जवाब दिया है कि इस संबंध में उच्च स्तरीय समिति की अनुशंषा प्राप्त नहीं होने से राजस्व विभाग द्वारा घोषित जिलों के संबंध में अधिसूचना जारी नहीं की गई है। उक्त घोषित जिलों के गठन एवं सीमांकन के संबंध में उच्च स्तर पर विचार-विमर्श करने के बाद ही निर्णय लिया जाना सम्भव होगा। प्रशासनिक सुधार विभाग के पत्र दिनांक 17.12.2023 में प्रदत्त निर्देशों के अनुसरण में राजस्व विभाग के 18 दिसंबर, 2023 को निकले आदेश से उच्च स्तरीय समिति (जिला गठन) को समाप्त किया जा चुका है। ऐसे में ये तीन जिले अस्तित्व में नहीं आ पाए हैं।

Advertisement

ईआरसीपी में बजरी खनन की खुली छूट, 3 हजार करोड़ रुपए के घोटाले के आरोप

Advertisement

ईआरसीपी की खुदाई में गाद निकालने के नाम पर एक फर्म को बजरी खनन की छूट का मामला गूंजा। स्थगन के जरिए सादुलपुर विधायक मनोज कुमार ने मामला उठाया। उन्होंने कहा कि ईआरसीपी में एक विशेष फर्म को 20 साल के लिए मामूली दामों पर गाद निकालने के नाम पर बजरी खनन की छूट दे दी गई है। फर्म ने इसे कमाई का साधन बना लिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि फर्म ने करीब 3270 अरब रुपए का घोटाला किया है। क्या सरकार इसे उजागर करके लीज को निरस्त करेगी।

Advertisement

नहीं संभले तो विपक्ष में आकर बैठ जाएंगे

Advertisement

रामगढ़ विधायक जुबेर खान ने महिला अपराध का मुद्दा उठाते हुए कहा कि जो सरकार रामराज की स्थापना की बात कर रही है, वह राज्य में सामने आ रही है। सरकार प्रदेश में महिला अपराधों को नहीं रोक पा रही है। हमारे समय में क्या हुआ यह छोड़ दीजिए, अब आप संभाले नहीं तो आप भी विपक्ष में आकर बैठ जाएंगे। बयाना विधायक डॉ.रितु बानावत ने सर्द रात में किसानों की सिंचाई का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि किसानों को दिन में बिजली नहीं मिल पा रही है, मैंने स्वयं जाकर देखा है। रात में भी जो बिजली दी जा रही है उसमें भी काफी ट्रिपिंग हो रही है।

Advertisement

मंत्री के जवाब से संतुष्ट नजर नहीं आए विधायक रोत

Advertisement

विधायक राजकुमार रोत ने अनुसूचित क्षेत्र में वन अधिकार अधिनियम के तहत जारी पट्टों का मामला प्रश्नकाल में उठाया। मंत्री बाबूलाल खराड़ी ने कहा हम पट्टे नहीं अधिकार पत्र देते हैं। खराड़ी के जवाब के दौरान अटकने और दूसरे मंत्रियों के सहायता करने पर कांग्रेस विधायकों ने हंगामा कर दिया। सदन में इसी दौरान डोटासरा और सत्तापक्ष में नोकझोंक भी हुई।देवनांनी ने सख्ती दिखाई। इसके बाद खराड़ी ने कहा कि केवाईसी कोई योजना नहीं सिर्फ दस्तावेज सत्यापित करने की प्रक्रिया है। वन भूमि है, इसलिए हम कृषि कनेक्शन नहीं दे पा रहे है। इस पर विधायक राजकुमार रोत ने कहा कि 25 हजार लोगों के पट्टे रद्द हुए और 5 हजार को पट्टे मिल गए। क्या पट्टेदारों को कृषि कनेक्शन मिलेगा या नहीं ? इसके बाद खराड़ी के उत्तर से रोत संतुष्ट नजर नहीं आए। स्पीकर ने निर्देश दिए कि आप मंत्री से मिलकर चर्चा करें।

Advertisement
Advertisement

Related posts

राजस्थान बजट -2022

Report Times

सेमरियावां : शिक्षा विभाग में अंतर्जनपदीय स्थानांतरण की अनुमति पर खुशी

Report Times

पीएम मोदी करेंगे बाइडेन से मुलाकात, युद्ध पर होगी चर्चा

Report Times

Leave a Comment