Report Times
latestOtherकार्रवाईजोधपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंधर्म-कर्मराजस्थानस्पेशल

हिजाब पहनकर पहुंचीं स्कूल तो टिचर ने भेजा वापस घर, गुस्साए पैरेंट्स ने प्रिंसिपल को घेरा

REPORT TIMES 

Advertisement

जोधपुर के सरकारी स्कूल से एक विचित्र मामला सामने आया जहां स्कूल यूनिफॉर्म का पालन न करने पर 10वीं और 12वीं की मुस्लिम छात्रा को वापस घर भेज दिया गया. मामला पीपाड़ के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय का है जहां स्कूलों में यूनिफॉर्म को अनिवार्य करने के बावजूद कुछ मुस्लिम छात्राओं ने इसका पालन नहीं, जिसके कारण उन्हें घर वापस भेज दिया गया. स्कूल प्रशासन का कहना है कि छात्राएं स्कूल यूनिफॉर्म पहनने के बजाए हिजाब पहन कर स्कूल पहुंची जिसके बाद यह एक्शन लिया गया. स्कूल प्रशासन ने कहा कि सरकार द्वारा सीधा-सीधा आदेश दिए गए हैं कि बच्चों को स्कूल में यूनिफॉर्म में आना जरूरी है. ऐसे में छात्राओं द्वारा इसका पालन न करने पर उन्हें घर वापस भेजा गया. वहीं, बच्चों के अभिभावकों का आरोप है कि स्कूल अध्यापकों द्वारा बच्चों को उनकी यूनिफॉर्म को लेकर विवादित टिप्पणी की गई. पेरेंट्स ने आरोप लगाए कि अध्यापकों ने बच्चों को चंबल का डाकू कहा है जो की बिल्कुल न्याय संगत नहीं है.

Advertisement

Advertisement

‘सिर्फ एक मास्क है’ – अभिभावक

Advertisement

अभिभावकों का कहना है कि छात्राओं ने सिर्फ सिर पर स्कार्फ बांधा हुआ था जो की हिजाब में शामिल नहीं होता है. यह सिर्फ एक मास्क के रूप में है. क्या कोई भी व्यक्ति अपने स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए मास्क नहीं पहन सकता? जिस तरह से मास्क होता है इस तरह से यह बच्चों के सिर पर इसका बांधा गया था. इसे हिजाब कहना गलत है.

Advertisement

क्या है पूरा घटनाक्रम

Advertisement

शनिवार सुबह कुछ छात्राएं सिर पर बुर्के के ऊपर बांधने वाला स्कार्फ, अपनी यूनिफॉर्म के ऊपर बांधकर स्कूल पहुंची थी. इसपर स्कूल प्रशासन ने उन छात्रों को स्कूल की यूनिफॉर्म पहनकर स्कूल आने को कहा और उन्हें घर भेज दिया. इसके बाद स्कूल छात्राओं के अभिभावक स्कूल पहुंचे और स्कूल प्रधानाध्यापक का विरोध किया. उन्होंने बच्चों को घर भेजने और उन्हें चंबल का डाकू कहने पर विरोध किया. इस पूरी घटनाक्रम का वीडियो एक अभिभावक द्वारा बना दिया गया जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. वीडियो में पुलिस के अधिकारी भी साफ-साफ दिखाई दे रहे हैं.

Advertisement

अभिभावक स्कूल प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं. वीडियो में अभिभावक कहते हुए नजर आ रहे हैं कि हमारे बच्चे जो पहन के आए थे वह हिजाब नहीं है, वह सिर्फ एक स्कार्फ है. उसे हिजाब कहना गलत है. वीडियो में अभिभावकों द्वारा बच्चों को चंबल का डाकू कहने का विरोध किया जा रहा है. अभिभावकों ने प्रधानाध्यापक से पूछा कि आपके शिक्षा मंत्रालय से इस तरह का कोई आदेश दिया है क्या?

Advertisement
Advertisement

Related posts

अमृतसर से उड़ी इंडिगो की फ्लाइट पाकिस्तान में भटकी, 30 मिनट रही लापता

Report Times

जन आक्रोश यात्रा में कांग्रेस की कमियां उजागर कर रहे भाजपा नेता

Report Times

2008 में निर्दलीय लड़े, 2023 में पहली बार विधायक, अब राजस्थान की संभालेंगे कमान कौन है भजन लाल ?

Report Times

Leave a Comment