Report Times
latestOtherकार्रवाईक्राइमगिरफ्तारजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजस्थानस्पेशल

एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स पुलिस मुख्यालय की टीम ने की बड़ी कार्रवाई , 10 साल से फरार 25 हजार का इनामी स्लीपर सेल गिरफ्तार

REPORT TIMES 

Advertisement

एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स पुलिस मुख्यालय की टीम ने शुक्रवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए आतंकवादी गतिविधियों में लिप्त रहे 25 हजार रुपये के इनामी आतंकी मोहम्मद मेराजुद्दीन पुत्र मोहम्मद नियाजउद्दीन (31) निवासी वार्ड नंबर 18 बजरिया रेलवे स्टेशन थाना गंगापुर सिटी को पकड़ा है. जयपुर एटीएस की टीम को 10 सालों से इसकी तलाश थी.अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स एवं अपराध दिनेश एमएन ने बताया कि साल 2014 में स्लीपर सेल द्वारा भारत के विभिन्न स्थानों पर आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देने की योजना थी. इस मामले में प्रदेश के सीकर, जोधपुर एवं जयपुर जिले से कुल 13 आतंकियों को गिरफ्तार किया गया था, जिनमें से 12 को कोर्ट द्वारा आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है. इस मामले में थाना एसओजी जयपुर में प्रकरण संख्या 3/2014 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम व विधि विरुद्ध क्रियाकलाप (निवारण) अधिनियम की विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ था. पकड़ा गया आतंकी मोहम्मद मेराजुद्दीन घटना के वक्त से फरार चल रहा था. एटीएस-एसओजी एडीजी द्वारा 24 जनवरी 2018 को ₹25000 का इनाम घोषित किया गया था.

Advertisement

Advertisement

एटीसी को सौंपा गया आतंकी

Advertisement

एमएन ने बताया कि आपराधिक गिरोह एवं गैंगस्टर की धरपकड़ अभियान के सफलता के लिए आईजी क्राइम प्रफुल्ल कुमार के पर्यवेक्षण एवं एजीटीएफ के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विद्या प्रकाश के सुपरविजन तथा एसआई नरेंद्र सिंह के नेतृत्व में एएसआई शैलेंद्र शर्मा, हेड कांस्टेबल शाहिद अली, कांस्टेबल रविंद्र सिंह, महेंद्र सिंह व बृजेश कुमार की टीम को आसूचना संकलन के लिए भरतपुर रेंज की ओर रवाना किया गया है. गुरुवार को एजीटीएफ को सूचना मिली कि एटीएस से इनामी आतंकी मोहम्मद मेराजुद्दीन गंगापुर सिटी आया हुआ है. सूचना पर टीम द्वारा आतंकी के निवास और आसपास के क्षेत्र में सघन निगरानी की. सूचना पुख्ता होने के बाद सीओ सिटी बाबूलाल बिश्नोई मय जाब्ता की मदद से बमुश्किल इसे पकड़ा गया. शुक्रवार को इसे अग्रिम कार्रवाई के लिए एटीएस टीम को सुपुर्द कर दिया गया है.

Advertisement

2014 में फेल हो गया था प्लान

Advertisement

एडीजी ने बताया कि आतंकी मोहम्मद मेराजुद्दीन दिल्ली में ओखला स्थित मरकस, गुजरात एवं राजस्थान के विभिन्न जिलों में फरारी काट रहा था. प्रारंभिक पूछताछ में इसने बताया कि यह और इसके साथी इंडियन मुजाहिद्दिन एवं अन्य इस्लामी संगठनों से संपर्क में थे. साल 2014 में इनके द्वारा विभिन्न स्थानों पर आतंकी घटनाओं को अंजाम देने की योजना थी, पर इससे पहले ही इनके साथी सुरक्षा एजेंसियो की गिरफ्त में आ गए थे. आतंकी मोहम्मद मेराजुद्दीन को राजस्थान एटीएस को सुपुर्द किया जा चुका है. अग्रिम कार्रवाई उनके द्वारा की जा रही है. अभियुक्त से पूछताछ की जा रही है जिसमें और भी खुलासे हो सकते हैं.

Advertisement
Advertisement

Related posts

टिकट बंटवारे को लेकर गहलोत पर गरम हुए राहुल गांधी, दोनों को सोनिया ने कराया शांत

Report Times

चिड़ावा : 21 हजार की सहायता राशि का चेक दिया

Report Times

चीन-पाकिस्तान की खैर नहीं… ISRO अगले 5 साल में लॉन्च करेगा 50 जासूसी सैटेलाइट

Report Times

Leave a Comment