Report Times
Otherताजा खबरेंदेशविदेशहादसा

हजारों लोगों की मौत की वजह बन सकता है सूमी के केमिकल प्‍लांट पर हुआ रूस का हमला, जानें- कितनी घातक होती है अमोनिया गैस और इससे बचाव के उपाय

 रूस और यूक्रेन की लड़ाई को चार सप्‍ताह हो रहे हैं। अब तक इस युद्ध में यूक्रेन को जान और माल की भारी कीमत भी चुकानी पड़ी है। रूस ने उसके कई रणनीतिक ठिकानों पर जबरदस्‍त बमबारी की है। न्‍यूक्लियर प्‍लांट से लेकर अस्‍पताल, एयरपोर्ट, हथियारों के डिपो और केमिकल प्‍लांट भी इस जंग में तबाह हुए हैं। हाल ही में रूस की एयर स्‍ट्राइक के बाद सूमी के एक केमिकल प्‍लांट से अमोनिया गैस रिसाव की खबरों से चिंता बढ़ गई है। समाचार एजेंसियों के मुताबिक इस रिसाव का असर दो से तीन किमी दूर तक देखा जा रहा है। आपको बता दें कि अमोनिया गैस बेहद खतरनाक होती है। इसका रिसाव इंसान की जान तक ले सकत

Advertisement

अमोनिया गैस के रिसाव से आंखों में जलन की समस्‍या होती है। इसके साथ ही यदि ये सांस के साथ शरीर के अंदर चली जाती है तो इंसान के फैफड़ों को खराब कर देती है। इसके अलावा इसका असर शरीर के दूसरे अंगों पर भी पड़ता है। इसके अलावा इस गैस की हवा में मौजूदगी और सांस के साथ अंदर जाने पर खांसी, छाती में तेज दर्द, छाती में जकड़ापन, सांस लेने में दिक्‍कत हो सकती है। ऐसे में यदि रोगी को तुरंत इलाज न दिया जाए तो उसकी सांस न ले पाने की वजह से बेहद दर्दनाक मौत हो सकती है।

Advertisement
Advertisement

Related posts

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान का पलटवार, कांग्रेस ने नए संसद भव को बताया मोदी मैरियट

Report Times

‘ऑपरेशन लोटस’ का आरोप लगा रही AAP में हलचल, केजरीवाल ने कल सभी विधायकों को बुलाया

Report Times

गहलोत के राजभवन जाने की सूचना, इस्तीफे की लगाई जा रही अटकलें

Report Times

Leave a Comment