Report Times
Otherझुंझुनूंटॉप न्यूज़ताजा खबरेंदेश

ग्रामीणों ने किया सैनिक नीरज का सम्मान, बाइक रैली के साथ लेकर पहुंचे गांव

reporttimes

शौर्य चक्र लेकर नीरज अहलावत बुधवार शाम को अपने गांव पहुंचे। ग्रामीणों ने शौर्य चक्र विजेता नीरज अहलावत का बड़े ही शाही अंदाज में स्वागत किया। ग्रामीणों ने अपने बेटे का सम्मान किया। बुहाना से मनोहरपुरा गांव तक जगह जगह नीरज का सम्मान किया गया। युवाओं में देशभक्ति का जज्बा नजर आया। नीरज अहलावत को 10 मई को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शौर्य चक्र से नवाजा था।

Advertisement

बुहाना पहुंचने पर भाजपा युवा मोर्चे के पूर्व अध्यक्ष सतीश गजराज, पूर्व सांसद संतोष अहलावत के पति सुरेंद्र अहलावत आदि के नेतृत्व में शौर्य चक्र विजेता नीरज अहलावत का स्वागत किया गया। इसके अलावा पूरे रास्ते में ग्रामीणों अपने बेटे को मिले बहादुरी के सम्मान खुशी जाहिर की और स्वागत किया।

Advertisement

झुंझुनूं के बेटे नीरज अहलावत ने जम्मू-कश्मीर में अपनी शौर्यता से आतंकियों के मंसूबे नाकाम किया था। नीरज को इस बहादुरी के लिए सेना के बड़े सम्मान से नवाजा गया है। भारतीय सेना के जाट रेजीमेंट 34 बटालियन के सिपाही नीरज अहलावत को जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से मुठभेड़ में साहस और वीरता के कारण शौर्य चक्र से नवाजा गया था। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दस मई को राष्ट्रपति भवन में हुए कार्यक्रम में बुहाना के मनोहपुरा निवासी सिपाही नीरज अहलावत को शौर्य चक्र से सम्मानित किया।

Advertisement

आतंकवादी को मार गिराया था नीरज ने
20 जून 2020 को जम्मू कश्मीर के कुलगाम जिले में आतंकवादियों के छिपे होने की सूचना के आधार पर एक घेराबंदी तलाशी अभियान चलाया गया। जिसमें सिपाही नीरज अहलावत अपनी एसोल्ट टीम के साथ इस अभियान में मुस्तैदी से तैनात रहे। आतंकवादियों ने अचानक आम नागरिकों को मानव कवच कर भीषण गोलीबारी करते हुए भागने का प्रयास किया। विषम परिस्थितियों में उत्कृष्ट मानसिक संतुलन युद्ध कौशल का परिचय देते हुए सिपाही नीरज ने सटीक निशाने से एक खतरनाक आतंकवादी को मार गिराया।

Advertisement

दूसरे आतंकवादी द्वारा बेहद नजदीक से की जा रही गोलियों की बौछारों के बीच भी निडर होकर मोर्चे पर डटे रहे। आतंकियों की आधुनिक राइफल को निष्क्रिय करते हुए उसे घायल करने में कामयाब रहे। चुनौती पूर्ण हालातों में अपने प्राणों की परवाह ना करते हुए अदम्य साहस और कौशल का अनुकरणीय साहस का प्रदर्शन किया। एक शौर्यपूर्ण अभियान को अंजाम देने पर सम्मानित किया गया। बता दें कि नीरज अहलावत के पिता बृजभान अहलावत माता, विनोद देवी है। नीरज 2013 में झुंझुनूं हुई आर्मी रैली में भर्ती हुए थे। फिलहाल दिल्ली में तैनात है।

Advertisement
Advertisement

Related posts

नीति आयोग के राज्य ऊर्जा और जलवायु सूचकांक में गुजरात ने किया टॉप

Report Times

समय रहते आग पर पाया काबू: सुबह लगी थी किराना शॉप में आग, संभवतः शॉर्ट सर्किट से लगी आग

Report Times

टोंक सीट पर सचिन पायलट की अग्नि परीक्षा, बीजेपी की घेराबंदी का कितना होगा असर?

Report Times

Leave a Comment