Report Times
latestOtherक्राइमजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजस्थानस्पेशलहैल्थ

जयपुर में 4 नकली शराब की फैक्ट्री का भंडाफोड़, ब्रांडेड बताकर सरकारी ठेकों पर होती थी बिक्री

REPORT TIMES 

Advertisement

राजधानी जयपुर  में नकली शराब की बिक्री का मामला सामने आया है जहां शनिवार को पुलिस कमिश्नरेट की स्पेशल टीम (सीएसटी) ने इस मामले में एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है. मिली जानकारी के मुताबिक जयपुर पुलिस ने शिवदासपुरा और सांगानेर इलाके में चार अवैध शराब की फैक्ट्री पकड़ी है जहां भारी मात्रा में नकली शराब बनने और बिकने का धंधा चल रहा था. कार्रवाई करते हुए पुलिस ने चारों फैक्ट्रियों को सीज कर दिया है और इस दौरान 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. वहीं इस मामले में चार बीट कांस्टेबलों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें भी सस्पेंड कर दिया गया है.अब पुलिस आला अधिकारी संबंधित थानाधिकारियों पर भी कार्रवाई कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि फैक्ट्री में केमिकल और मिथाइल एल्कोहल स्पिरिट से जहरीली शराब बनाई जा रही थी और ब्रांडेड शराब की बोतलों में भरकर सरकारी ठेकों पर बेची जा रही थी. वहीं पुलिस की रेड के दौरान फैक्ट्री के मालिक मौके से फरार हो गए. बता दें कि पुलिस ने 20-21 जनवरी की दरमियानी रात को रेड की कार्रवाई शुरू की थी जिसके बाद 22 की सुबह कार्रवाई खत्म कर आरोपियों को गिरफ्तार किया.

Advertisement

Advertisement

10 दिन रैकी के बाद मारी रेड

Advertisement

इस पूरे ऑपरेशन की जानकारी देते हुए एडिशनल कमिश्नर अजय पाल लांबा ने बताया कि ऑपरेशन सीएसटी इंचार्ज खलील अहमद के नेतृत्व में किया गया जहां सीएसटी के कॉन्स्टेबल अजय कुमार को यह जानकारी मिली थी की शिवदासपुरा और सांगानेर सदर थाना इलाके में अवैध रूप से शराब की फैक्ट्री चल रही है. इसके बाद 10 दिन तक सीएसटी की टीम ने फैक्ट्री पर निगरानी रखी और फैक्ट्री में आने जाने वाले वाहनों की रैकी की. टीम को पता चला कि फैक्ट्री में स्पिरिट में कमिकल और पानी मिलाकर शराब बनाई जा रही थी. इस दौरान पुलिस ने शराब के दर्जनों कार्टन को भी जब्त किया है. वहीं पता चला है कि चारों फैक्ट्री अशोक चौधरी और रवि बालोत मीणा चला रहे थे जहां इन दोनों ने जमीन किराए पर लेकर अवैध फैक्ट्री डाली हुई थी.

Advertisement

ब्रांडेड बोतलों में भरकर बेचते थे शराब

Advertisement

जयपुर कमिश्नरेट की टीम ने आगे बताया कि फैक्ट्री में बड़ी मात्रा में अलग-अलग ब्रांड की देशी और अंग्रेजी शराब की बोतलें मिली जिन बोतलों में फर्जी सीएसडी (आर्मी कैंटीन) की सील भी मिली. वहीं आरोपी इन शराब की बोलतों को आर्मी कैंटीन का बताकर बेच रहे थे. लांबा ने बताया कि चार फैक्ट्री पर रेड के दौरान दोनों की थानों के चारों बीट कॉन्स्टेबल ने फैक्ट्री की जानकारी नहीं होना बताया जिसके बाद ड्यूटी के प्रति चारों कॉन्स्टेबल की लापरवाही को देखते हुए उन्हें निलंबित कर दिया गया है. वहीं एडिशनल डीसीपी क्राइम सुलेश चौधरी ने कहा कि आरोपी अवैध शराब को सरकार की ओर से अधिकृत शराब की दुकानों पर भी बेचा करते थे और बड़ी आसानी से यह आम लोगों तक पहुंच जाती थी. अब सीएसटी की एक टीम उन दुकानों पर कार्रवाई करेगी जहां यह अवैध शराब बेची जाती थी.

Advertisement
Advertisement

Related posts

खाटू में बाबा श्याम का लक्खी मेले में देशभर से श्रद्धालु धोक लगाने के लिए आएंगे।

Report Times

बिजली के तार से टकरा,चारे की ट्रॉली में चिंगारियों से लगी आग

Report Times

सैनिक का हुआ निधन, रांची में थे तैनात, बेटे ने दी मुखाग्नि

Report Times

Leave a Comment