Report Times
latestOtherकार्रवाईजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंधर्म-कर्मराजनीतिराजस्थानस्पेशल

20 करोड़ के रिश्वत मामले में RSS के क्षेत्रीय प्रचारक को राहत, HC ने खारिज की FIR

REPORT TIMES

Advertisement

जयपुर: राजस्थान हाईकोर्ट ने RSS के क्षेत्रीय प्रचारक निम्बाराम को एक बड़ी राहत दी है. मिली जानकारी के मुताबित हाईकोर्ट ने 20 करोड़ रिश्वत के मामले फैसला सुनाते हुए निंबाराम के खिलाफ दर्ज मामला रद्द करने के आदेश दिए हैं. मालूम हो कि निंबाराम के खिलाफ BVG कंपनी के बकाया 276 करोड़ के भुगतान के बदले 20 करोड़ रिश्वत मांगने के मामले में केस दर्ज किया गया था. अब कोर्ट ने कहा है कि निंबाराम के खिलाफ दर्ज एफआईआर रद्द करने का कहते हुए ट्राइल कोर्ट में लंबित चल रही कार्यवाही रद्द करने के आदेश दिए हैं. हाईकोर्ट ने सोमवार को ओमप्रकाश सप्रे और संदीप चौधरी की याचिका को खारिज करते हुए फैसला सुनाया है. बता दें कि जस्टिस फरंजद अली की एकलपीठ ने वीसी के जरिए यह फैसला सुनाया जहां निंबाराम और अन्य की याचिकाओं को निस्तारित कर दिया गया है. निंबाराम मामले में कोर्ट का फैसला आने के बाद बीजेपी नेता राजेंद्र राठौड़ ने कहा है कि इस मामले में पुलिस तंत्र के बेजा इस्तेमाल का पर्दाफाश हो गया है और सत्य को न्याय मिलने में देर हो सकती है लेकिन सत्य कभी हार नहीं सकता है.

Advertisement

Advertisement

निंबाराम को हाईकोर्ट से मिली राहत

Advertisement

दरअसल हाई कोर्ट ने इस मामले में 27 फरवरी को फैसला बहस के बाद फैसला सुरक्षित कर लिया था. मालूम हो कि 10 जून 2022 को एक वायरल वीडियो के आधार पर एसीबी ने निंबाराम के खिलाफ मामला दर्ज किया था जहां मेयर सौम्या गुर्जर के पति राजाराम गुर्जर और बीवीजी कंपनी के ओमप्रकाश सप्रे सहित संदीप चौधरी और आरएसएस के क्षेत्रीय प्रचारक निंबाराम को आरोपी बनाया गया था. पिछली बार सुनवाई के दौरान एसीबी की ओर से तथ्यात्मक रिपोर्ट और पैन ड्राइव में रिकॉर्डिंग पेश की गई थी. वहीं निंबाराम की ओर से जवाब दिया गया कि उनके खिलाफ जांच एजेंसी के पास कोई साक्ष्य नहीं है और राजनीतिक द्वेषता के कारण उन्हें फंसाया जा रहा है. निंबाराम की तरफ से कहा गया कि ऑडियो-वीडियो और ट्रांसक्रिप्ट में कांट-छांट की गई है जिसके बाद उनके खिलाफ दर्ज एफआईआर को रद्द किया जाए.

Advertisement

सत्य की हमेशा जीत होती है : राठौड़

Advertisement

निंबाराम पर फैसला आने के बाद बीजेपी नेता राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि निंबाराम को हाईकोर्ट ने क्लोजर रिपोर्ट देकर उनके खिलाफ जो भी आरोप थे वह खारिज कर दिए हैं और आज हाईकोर्ट का आदेश बताता है कि अपना पूरा जीवन समर्पित करने वाले व्यक्ति के विरुद्ध, पुलिस तंत्र का बेजा इस्तेमाल किया गया.राठौड़ ने कहा कि मैं सत्ता में बैठे लोगों को आगाह करना चाहता हूं कि जीवन समर्पित करने वाले ऐसे लोगों के खिलाफ साजिश का ताना-बाना नहीं बुना जाए नहीं तो सारी चीजें महंगी पड़ेंगी. इसके अलावा बीजेपी के प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने कहा कि कांग्रेस ने ऐसे व्यक्ति के चरित्र पर दाग लगाने की कोशिश को कोर्ट ने दूध का दूध और पानी का पानी कर दिया.

Advertisement
Advertisement

Related posts

आशा पारेख के अभिनय को सिनेमा का सर्वोच्च सम्मान, मिलेगा दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड

Report Times

भीमसिंह नगरपालिका के विधिक सलाहकार नियुक्त

Report Times

चिड़ावा : कॉरोना योद्धाओं का किया सम्मान

Report Times

Leave a Comment