Report Times
latestOtherकार्रवाईटॉप न्यूज़ताजा खबरेंदिल्लीधर्म-कर्मविरोध प्रदर्शनस्पेशल

हनुमान मंदिर की ग्रिल तोड़ने का हिंदू संगठनों ने किया विरोध, लगाए जय श्रीराम के नारे; पुलिस तैनात

REPORT TIMES 

Advertisement

 राजधानी  दिल्ली के मंडावली अल्ला कॉलोनी चौक पर बने हनुमान मंदिर के आसपास लगी लोहे की जाली तोड़ने का विरोध शुरू हो गया है. PWD गुरुवार सुबह मंदिर के आसपास लगी लोहे की जाली तोड़ने पहुंची तो हिंदू संगठन ने उसका विरोध शुरू कर दिया. विरोध को देखते हुए मौके पर भारी सुरक्षा बल तैनात कर दिया गया है. दरअसल मंडावली इलाके में अल्ला कॉलोनी में एक हनुमान मंदिर बना है. प्रशासन को पीडब्लूडी ने खबर दी थी कि ये फुटपाथ पर अतिक्रमण कर बनाया गया है.इसके बाद प्रशासन आज सुबह मंदिर के चारो ओर बनी लोहे की जाली तोड़ने पहुंचा तो हिंदू संगठन ने विरोध शुरू कर दिया है. बड़ी संख्या में लोग इकट्ठे होकर नारेबाजी करने लगे, जय श्री राम के नारे लगाने लगे, कीर्तन करने लगे. प्रशासन का कहना है कि वो मंदिर तोड़ने नहीं बल्कि मंदिर के चारो ओर लगी अवैध लोहे की जाली तोड़ने आए हैं.

Advertisement

Advertisement

PWD मंत्री आतिशी ने LG को बताया जिम्मेदार

Advertisement

मंदिर मामले में PWD मंत्री आतिशी ने कहा कि जो मंडावली में मंदिर तोड़ा जा रहा है. उसके अलावा 10 और मंदिरों को तोड़ने का आदेश दिल्ली एलजी ने दिया है, जब ये फाइल मनीष सिसोदिया के पास आई थी तो उन्होंने फाइल पर लिखा था कि कोई धार्मिक स्थल को ना तोडा जाए, लेकिन उपराज्यपाल ने उसको सरपास कर फैसला लिया.

Advertisement

आतिशी ने कहा कि आम आदमी पार्टी इसका पूरा विरोध कर रही है और मैं उपराज्यपाल से भी आग्रह करूंगी. वहीं पूर्वी दिल्ली DCP अमृता गुगुलोथ ने कहा कि हमें PWD से सूचना मिली थी कि मंदिर के चारों तरफ लगी ग्रिल फूटपाथ का अतिक्रमण कर लगाई गई है. इसे हटाने के लिए हमसे सहायता मांगी गई, हमने सहायता दी है. ग्रिल को हटा दिया गया है. कानून व्यवस्था सामान्य है और ट्रैफिक भी सुचारू रूप से चल रहा है.

Advertisement

स्थानीय रहवासियों ने कहा- सालों से यहीं बना है मंदिर

Advertisement

मंदिर में मौजूद स्थानीय रहवासियों और श्रद्धालुओं का कहना है कि ये मंदिर कई सालों से यही बना हुआ है, आजतक कभी किसी ने नहीं कहा कि यहां कुछ अवैध निर्माण हुआ है. रहवासी प्रशासन की कार्रवाई को गलत बताते हुए अवैध निर्माण कार्य को तोड़ने का विरोध कर रहे हैं और जमकर नारेबाजी कर रहे हैं.वहीं प्रशासन का कहना है कि मंदिर अवैध नहीं है बल्कि मंदिर के बाहर लगी हुई लोहे की ग्रिल अवैध तरीके से लगाई गई है. ईस्ट दिल्ली कलेक्टर का कहना है कि यहां सिर्फ रेलिंग हटाए जाने का काम किया जा रहा है, हम यहां कोई मंदिर तोड़ने नहीं आए हैं. हमे सिर्फ ग्रिल हटानी है और फुटपाथ साफ करना है.

Advertisement
Advertisement

Related posts

नए साल की शुरुआत में ISRO ने लांच किया XPoSAT उपग्रह , ब्लैक होल और न्यूट्रॉन तारों पर करेगा स्टडी

Report Times

सिद्धू मूसेवाला का हमारे दिलों पर लिखा है नाम-दिलजीत दोसांझ

Report Times

खेतड़ी : कलेक्टर ने लिया व्ययवस्थाओं का जायजा

Report Times

Leave a Comment