Report Times
latestOtherकरियरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंधर्म-कर्मविरोध प्रदर्शनस्पेशलहरियाणा

VHP नेताओं और साधु-संतों ने नल्हड़ मंदिर में किया जलाभिषेक, आलोक कुमार बोले- जल्द बड़ी यात्रा निकालेंगे

REPORT TIMES 

Advertisement

नूंह में जलाभिषेक यात्रा को लेकर घमासान मचा है. प्रशासन ने एक तरफ यात्रा निकालने से रोका तो दूसरी तरफ हिंदू संगठन शोभायात्रा निकालने पर अड़े रहे. हालांकि बाद में यात्रा को प्रतीकात्मक रखने की बात कही. इस बीच विश्व हिंदू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार को नूंह जाने की इजाजत दी गई. उनके साथ कछ अन्य लोग भी नूंह गए. उन्होंने नल्हड़ मंदिर में जाकर जलाभिषेक किया. पुलिस सुरक्षा के बीच उन्हें दर्शन के लिए ले जाया गया है. पढ़ें नूंह यात्रा को लेकर लेटेस्ट अपडेट्स…

Advertisement

नूंह में नल्हड़ मंदिर में नेताओ और साधु-संतों ने जलाभिषेक किया. इस दौरान हर-हर महादेव और जय श्री राम के नारे लगे. वीएचपी नेता आलोक कुमार ने कहा कि अभी जी20 की वजह से हम छोटे रूप में आए हैं. हम हमारे शिव का अभिषेक करने के लिए आए हैं. आज जितनी सुरक्षा है, अगर इसकी आधी भी 31 जुलाई को होती तो घटना को रोका जा सकता था. उस दिन हिंदुओ को टारगेट किया गया.

Advertisement

Advertisement

नूंह में सोमवार सुबह प्रशासन ने नल्हड़ मंदिर में जलाभिषेक के लिए 10-15 साधु संतों को इजाजत दी. इसके अलावा हिन्दू संगठनों के भी 11 लोगों को नल्हड़ मंदिर में जलाभिषेक की अनुमति दी गई. बाहर से 25-26 लोग शामिल होंगे. कुछ स्थानीय भी शामिल होंगे. 50 से ज्यादा संख्या नहीं होगी, अखिल भारतीय संत समिति के अध्यक्ष जीतेन्द्रानंद सरस्वती भी नूंह पहुंचे हैं. उन्हें पुलिस सुरक्षा के बीच नूंह ले जाया जा रहा है. दिल्ली गाज़ियाबाद के कुछ साधु संतों को भी नूंह के नल्हड़ मंदिर जाने की अनुमति दी गई. जूना अखाड़ा के महंत नारायण दास भी नूंह पहुचे. पुलिस सुरक्षा के बीच संतों को मंदिर तक ले जाया जा रहा है.

Advertisement
  1. अखिल भारतीय संत समिति के अध्यक्ष जीतेन्द्रानंद सरस्वती भी नूंह पहुंचे हैं. उन्हें भी भारी पुलिस सुरक्षा के बीच नूंह जाने की इजाजत दी गई है. हरियाणा पुलिस और अर्धसैनिक बलों की तैनाती है. वॉटर केनन, फायर और एम्बुलेंस भी तैनात किए गए हैं. डंपर और ट्रकों से रोड ब्लॉक किया गया है.
  2. अखिल भारतीय संत समिति के अध्यक्ष जीतेन्द्रानंद सरस्वती भी नूंह पहुंचे हैं. उन्हें भी भारी पुलिस सुरक्षा के बीच नूंह जाने की इजाजत दी गई है.
  3. बृजमण्डल यात्रा को लेकर हरियाणा राजस्थान बार्डर पर पुलिस की सख्ती है. इलाके में इंटरनेट पर पाबंदी के साथ धारा 144 लागू है. बैरिकेडिंग कर बॉर्डर पर पुलिस का भारी जत्था तैनात है.
  4. बॉर्डर पर लोगो की आवाजाही रोकी गई है. पुलिस ने कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पूरा इंतजाम कर रखा है. इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर अन्य वाहनों को रोका जा रहा है. अगले आदेश तक पुलिस की नाकाबंदी और सख्ती जारी रहेगी.
  5. जलाभिषेक यात्रा के लिए आसपास कई जिलों से लोग शामिल होने वाले थे. दूसरे राज्यों के लोगों भी यात्रा में शामिल होना था. इस बीच अयोध्या से आए जगद्गुरु परमहंस आचार्य महाराज को प्रशासन ने सोहना टोल प्लाजा पर रोक दिया. उन्होंने कहा कि प्रशासन ना तो उन्हें आगे जाने दे रही है और ना ही वापस जाने दे रही है. उन्होंने कहा कि वह ‘मृत्यु तक भूख हड़ताल पर बैठ रहे हैं.’
  6. गुरुग्राम से मेवात की तरफ बढ़ने वाले हर वाहन की तीन जगह चेकिंग की जा रही है और रेवासन नाके के बाद एंट्री पूरी तरह से बंद कर दी गई है. सिर्फ यहां के स्थानीय, मीडिया और सरकारी वाहनों को ही पूरी चेकिंग के बाद रेवासन नाके से आगे मेवात की ओर बढ़ने दिया जा रहा है.
  7. रेवासन से नूंह की दूरी दस किलोमीटर के आसपास है लेकिन दस किलोमीटर पहले ही अभेद सुरक्षा लेयर खड़ी की गई है. किसी तरह भी यदि इस पॉइंट से कोई मेवात क्षेत्र में प्रवेश करने की कोशिश करता है तो उसे रोका जा रहा है.

Advertisement

Related posts

आज से करें राजस्थान स्टेट सर्विस परीक्षा के लिए अप्लाई, जानें आवेदन का तरीका

Report Times

Lok Sabha Election 2024 : मोदी का ‘400 पार’ पहले और दूसरे चरण में हो गया धराशायी, कांग्रेस ने किया कटाक्ष

Report Times

कोचिंग संचालक के 9 साल के बेटे का स्कूल जाते समय दिन दहाड़े अपहरण, जानें क्यों

Report Times

Leave a Comment