Report Times
latestOtherकरियरजयपुरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजनीतिराजस्थानस्पेशल

राजस्थान में चुनावी सरगर्मियां तेज, राजेंद्र राठौड़ बनाए जा सकते हैं नेता प्रतिपक्ष, पूनिया को मिलेगी ये जिम्मेदारी!

REPORT TIMES 

Advertisement

जयपुर: राजस्थान में विधानसभा चुनावों का बिगुल बजने के साथ ही राजनीतिक दलों ने अपने संगठन की कड़ियों को कसना शुरू कर दिया है जहां बीजेपी में प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति के बाद अब अन्य खाली पड़े पदों का रास्ता साफ हो सकता है. दरअसल रविवार को बीजेपी मुख्यालय में पार्टी की कई अहम बैठकें होनी है जिसके बाद विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष के नाम पर मुहर लग सकती है. चर्चा है कि वर्तमान में उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ को नया नेता प्रतिपक्ष बनाया जा सकता है. वहीं हाल में बीजेपी अध्यक्ष पद से हटाए गए सतीश पूनिया को उपनेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी दी जा सकती है. हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की भूमिका को लेकर अभी तक बना हुआ असमंजस सियासी गलियारों में चर्चाओं का विषय बना हुआ है. इधर शुक्रवार को बीजेपी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष, राजस्थान प्रभारी अरुण सिंह, प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी और संगठन महामंत्री चंद्रशेखर की सेवा भारती भवन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पदाधिकारियों के साथ एक अहम बैठक हुई राजस्थान के संगठन में होने वाले बदलाव और संघ के सेवा संगम कार्यक्रम को लेकर मंथन किया गया.

Advertisement

Advertisement

चूरू से 7वीं बार विधायक हैं राठौड़

Advertisement

बताया जा रहा है कि चूरू से सातवीं बार विधायक और वर्तमान उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ को नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी दी जा सकती है. हालांकि बजट सत्र खत्म होने के बाद अब इस पद की तकनीकी तौर पर कोई अहम भूमिका नहीं है. इसके अलावा पार्टी पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया को उपनेता प्रतिपक्ष के तौर पर नियुक्त कर सकती है. राठौड़ प्रदेश बीजेपी के दिग्गज नेता हैं और चूरू से सातवीं बार विधायक हैं. वहीं उपनेता के तौर पर राठौड़ विधानसभा में पूरी तैयारी के साथ आते हैं और सरकार को घेरने में उनकी अच्छी पकड़ है. इसके अलावा राठौड़ को नेता प्रतिपक्ष बनाया जाना उनके प्रमोशन के तौर पर भी देखा जा रहा है.

Advertisement

राजे की जिम्मेदारी पर सस्पेंस बरकरार

Advertisement

वहीं चुनाव नजदीक आने के साथ ही वसुंधरा राजे की भूमिका को लेकर चर्चाओं का दौर तेज हो गया है जहां अध्यक्ष, नेता प्रतिपक्ष जैसे पद भरने के बाद बताया जा रहा है कि चुनावी लिहाज से राजे को अब कोई जिम्मेदारी दी जा सकती है. चर्चा है कि राजे को चुनाव संचालन समिति का अध्यक्ष बनाया जा सकता है. मालूम हो कि वसुंधरा राजे बीजेपी की दिग्गज नेता है और चुनावों में उनकी भूमिका पार्टी की परफॉर्मेंस की दिशा में अहम कड़ी बन सकती है.

Advertisement
Advertisement

Related posts

शुभमन गिल ने जमाई फिफ्टी फिर भी खुश नहीं वीरेंद्र सहवाग, थप्पड़ पड़ने तक की कह दी बात

Report Times

सौम्या गुर्जर को जयपुर ग्रेटर मेयर से बर्खास्त करने वाला आदेश रद्द, चुनाव पर संशय

Report Times

चिड़ावा अस्पताल प्रभारी डॉ.कटेवा राज्यस्तर पर सम्मानित: संस्थागत प्रसव में बढ़ोत्तरी, एनसीडी व चिरंजीवी योजना में उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मान

Report Times

Leave a Comment