Report Times
latestOtherकरियरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंराजनीतिराजस्थानस्पेशल

‘नफरत फैलाने का इनाम’, रमेश बिधूड़ी को टोंक प्रभारी बनाने पर भड़के दानिश अली

REPORT TIMES 

Advertisement

बीजेपी ने रमेश बिधूड़ी को राजस्थान में बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है. रमेश बिधूड़ी को सचिन पायलट के जिले टोंक में पार्टी के उम्मीदवारों को आगामी विधानसभा चुनाव में जिताने का भार सौंपा है. इसके साथ ही उन्हें न गुर्जर समुदाय के वोटरों को स्विंग करने की अहम जिम्मेदारी दी है, लेकिन बिधूड़ी बहुजन समाज पार्टी (BSP) के सांसद दानिश अली के खिलाफ आपत्तिजनक बयान देने के लिए जाने जाते रहे हैं. उन्हें नया दायित्व मिलने पर दानिश अली ने बीजेपी को आड़े हाथ लिया है. दानिश अली ने तंज कसते हुए कहा कि बीजेपी के लोग अभी तक जो काम सड़क पर कर रहे थे. वह काम उन्होंने अब देश के प्रजातंत्र के मंदिर में किया. आपने उनको नफरत फैलाने का इनाम दिया. इससे बीजेपी का चाल, चरित्र और चेहरा सभी के सामने आ गया है. दानिश अली ने बीजेपी को चुनौती देते हुए कहा कि अगर उनको ऐसा लगता है कि वह इस तरह से नफरत फैलाएंगे और बहुसंख्यक समाज के वोट को अपने पक्ष में कर लेंगे, तो यह उनकी बहुत बड़ी गलतफहमी है. उन्होंने साफ कहा कि देश का आम नागरिक कभी भी इस तरह की भाषा को मान्यता नहीं दिया है और न ही ऐसी भाषा को तरजीह देता है. निश्चित रूप से भविष्य़ में इसकी कीमत बीजेपी को चुकानी होगी और यदि ऐसा नहीं हुआ तो यह मान लेना होगा कि दुनिया सड़ गई है. दानिश ने बीजेपी को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि पार्टी को इतनी तो मर्यादा का पालन करना चाहिए था. पार्टी ने बिधूड़ी से उनके बयान के लिए जवाब मांगा था. उन्होंने इसका क्या जवाब दिया था. उसका जवाब आम लोगों के सामने लाइए और बताइए कि बिधूड़ी ने क्या कहा था या फिर इस बात को स्वीकार कर लीजिए कि वे नफरत फैलाने वालों के साथ हैं.

Advertisement

Advertisement

कांग्रेस ने भी कसा तंज

Advertisement

उन्होंने कहा कि यह सोच देश के लोगों की नहीं हो सकती है, क्योंकि इससे देश के लोगों को कोई फायदा नहीं हो सकता है. इस तरह का काम करने में बीजेपी ही अपना फायदा देखती है. उन्होंने कहा कि इस घटना के बाद से गुर्जर समाज के लोग काफी शर्मिंदा हैं. हाल में इस समाज के लोगों ने उनसे मुलाकात कर अपने गुस्से का इजहार किया था. वहीं, रमेश बिधूड़ी को बीजेपी द्वारा नई जिम्मेदारी सौंपे जाने पर कांग्रेस नेता सह मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने भी तंज कसते हुए कहा कि राजस्थान में बीजेपी के अंदर गुटबाजी है. टोंक में बिधूड़ी को कोई जानता नही है. यह वसुंधरा राजे को किनारे लगाने के लिए किया गया है.

Advertisement
Advertisement

Related posts

अशोक गहलोत-सचिन पायलट की जंग पर लगेगा पूर्णविराम! सुलह के रास्ते पर आलाकमान, प्रभारी ने दिए संकेत

Report Times

सेमरियावां : शिक्षा विभाग में अंतर्जनपदीय स्थानांतरण की अनुमति पर खुशी

Report Times

जयपुर:- कैबिनेट का बड़ा फैसला:अब इंजीनियरिंग सेवा में भी मिलेगी EWS को आयु सीमा में छूट

Report Times

Leave a Comment