Report Times
latestOtherकरियरकार्रवाईजम्मू कश्मीरटॉप न्यूज़ताजा खबरेंदेशस्पेशल

जब तक चीन नहीं हटेगा तब तक एयरफोर्स LAC पर रखेगी नजर… वायुसेना प्रमुख की दो टूक

REPORT TIMES 

Advertisement

भारतीय वायु सेना एलएसी पर चीन की हरकतों पर लगातार नजर रख रही है. एलएसी पर पिछले करीब तीन साल से भारत और चीन के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है. चीन को माकूल जवाब देने के लिए भारत की ओर से अतिरिक्त सैन्य टुकड़ियों की तैनाती भी हो रखी है. इस बीच मंगलवार को एयर चीफ मार्शल वी आर चौधरी का एक बड़ा बयान सामने आया है. एयर चीफ मार्शल वी आर चौधरी ने कहा है कि भारतीय वायुसेना एलएसी पर लगातार नजर रख रही है. जब तक चीन पीछे नहीं हटेगा हम भी वहां तैनात रहेंगे. वायुसेना एलएसी के पास हालात पर लगातार नजर रख रही है. इसके साथ-साथ उन्होंने आने वाले सालों में भारतीय वायुसेना को और मजबूत करने की बात भी कही है. उन्होंने कहा कि वायुसेना अगले सात-आठ साल में ढाई से तीन लाख करोड़ रुपए की मिलिट्री प्लेटफॉर्म, उपकरण और हार्डवेयर को शामिल करने पर विचार कर रही है. उन्होंने कहा कि वायुसेना अतिरिक्त 97 हल्के लड़ाकू विमान तेजस मार्क 1ए खरीदने की योजना को आगे बढ़ा रही है.

Advertisement

Advertisement

भारत को अगले साल मिलेगी एस-400 की दो यूनिट

Advertisement

वायुसेना प्रमुख चौधरी ने कहा कि एयरफोर्स को एस-400 मिसाइल प्रणाली की तीन यूनिट प्राप्त हुई है और बाकी दो यूनिट अगले साल तक मिलने की उम्मीद है. अनिश्चित भू-राजनीतिक स्थिति मजबूत सेना की आवश्यकता को फिर से रेखांकित कर रही है और वायुसेना क्षेत्र में भारत की सैन्य ताकत दिखाने का आधार बनी रहेगी. वायुसेना प्रमुख ने कहा कि हमने अग्निपथ योजना की सफलता सुनिश्चित करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है. वहीं, युद्ध और अभियानों के दौरान अपने संसाधनों का प्रभावी ढंग से उपयोग करने के लिए थलसेना, वायुसेना और नौसेना की क्षमताओं का एकीकरण करने संबंधी परियोजना के संबंध में कहा कि यह काम प्रगति पर है.

Advertisement

सीमा पर बॉर्डर इंटेलिजेंस पोस्ट होगी स्थापित

Advertisement

दूसरी ओर केंद्र सरकार ने पहली बार भारत-चीन सीमा पर बॉर्डर इंटेलिजेंस पोस्ट (BIP) स्थापित करने की मंजूरी दे दी है. सरकार ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास बीजिंग की ओर से सैन्य और हथियारों की तैनाती से जुड़ी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए यह कदम उठाया है. प्रत्येक बीआईपी पर खुफिया ब्यूरो के 4 या 5 अधिकारी तैनात रहेंगे और आईटीबीपी के जवान उनकी सुरक्षा करेंगे. सूत्र ने बताया कि जिन कर्मियों को बीआईपी पर तैनात किया जाएगा, वे सीमा पार की गतिविधियों पर नजर रखेंगे.

Advertisement

45 चौकियां भी बढ़ेंगी

Advertisement

इसके साथ-साथ लद्दाख से अरुणाचल प्रदेश तक वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) की चौकियों पर निगरानी और सूचना एकत्र करने के लिए खुफिया अधिकारियों की एक अतिरिक्त टीम तैनात की जाएगी. LAC पर आईटीबीपी की लगभग 180 सीमा चौकियां हैं. अब 45 और बनाने के लिए हाल ही में मंजूरी दी गई है.

Advertisement
Advertisement

Related posts

बेहोशी का इंजेक्शन देकर बदलवाना चाहते बयान, पुलवामा शहीद की पत्नी ने पुलिस पर लगाए आरोप

Report Times

जोधपुर: कुत्ते के लिए मांगी खराब रोटी, ड्राइवर बोला- ये तो बच्चों का मिड डे मील है, हो गया बवाल…

Report Times

अब खेलेंगे खिलाड़ी:स्पोर्ट्स अकादमियों के लिए 8 मई से होंगे ट्रायल, 7 मई तक आवेदन

Report Times

Leave a Comment